-->
कम उम्र में सफेद हो रहे हैं बाल, तो इन 3 चीजों को मिलाकर लगा लें

कम उम्र में सफेद हो रहे हैं बाल, तो इन 3 चीजों को मिलाकर लगा लें


कम उम्र में ही सफेद बालों की प्रॉब्लम से दूर करने के उपाय

भोपाल। बढ़ती उम्र के साथ बाल सफेद होना आम बात है, लेकिन आजकल कई लोग कम उम्र में ही सफेद बालों की प्रॉब्लम का सामना कर रहे हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक हमारे बालों का काला रंग मेलानिन नामक पिगमेंट के कारण होता है। ये पिगमेंट बालों की जड़ों की सेल्स में पाए जाते हैं। जब मेलानिन बनना बंद हो जाता है या कम बनने लगता है, तो बाल सफेद होने लगते हैं। न्यूट्रीशन एक्सपर्ट पवित्रा श्रीवास्तव के अनुसार बालों में मेलानिन कम बनने या बिल्कुल न बनने की कई वजह हो सकती हैं। इसमें सबसे बड़ी वजह होती है बढ़ती उम्र। उम्र बढ़ने के साथ मेलानिन का प्रोडक्शन कम होने लगता है और इस तरह बाल सफेद होने लगते हैं लेकिन बढ़ती उम्र अकेली वजह नहीं है। इसके और भी कई कारण हैं।

असमय बाल सफेद होने के प्रमुख कारण

- बालों में तेल न लगाना, खराब गुणवत्ता और अधिक केमिकल युक्त साबुन या शैम्पू का इस्तेमाल करना |

- काफी लोगो में असमय बाल सफेद होने की समस्या अनुवांशिक होती है | अगर किसी के परिवार में पीढ़ी दर पीढ़ी बाल उड़ने या सफ़ेद होने की बीमारी है तो यह भी एक मुख्य कारण होता है बाल सफ़ेद होने का और इसका इलाज भी मुश्किल होता है |

- अधिक समय तक जुकाम रहना, या थायरायड ग्रंथि से स्त्राव से असमय बाल सफेद होने लगते है |

- पौष्टिक आहार न लेना , अधिक मात्रा में फास्ट फूड खाना भी असमय बाल सफेद होने के कारणों में से एक हैं |

- अलग-अलग ब्रांड के सौन्दर्य प्रसाधनो जैसे शैम्पू , जेल का इस्तेमाल करने से भी असमय बाल सफेद होने की वजह बन सकती है |


- असमय बाल सफेद होने के शारीरिक कारणों में आता है – कुपोषण, अनीमिया, शरीर में आयरन, विटामिन 12 की कमी होना, असंतुलित हार्मोन, हमेशा बीमार रहना, नियमित रूप से दवाओं का इस्तेमाल करना, अधिक चिंता करना, मानसिक तनाव, नींद की कमी, उच्च रक्त चाप, निराशा, बालों में डेंड्रफ होना आदि भी असमय बाल सफेद होने का कारण बनते है |

- बालो के साथ विभिन्न प्रयोग करने से भी बाल सफ़ेद होते है, क्योंकि विभिन्न फेशन के हेयर स्टाइल बनाने के लिए बालो को काफी केमिकल ट्रीटमेंट और उच्च तापमान से गुजरना पड़ता है जो असमय बाल सफेद होने का कारण बनता है |

- क्लोरिन युक्त पानी या खारे पानी से नहाने से भी अक्सर असमय बाल सफेद होने लगते है |

- आहार करने में की जानेवाली लापरवाही, जैसे ज्यादा मिर्च मसालेदार चटपटा आहार का अति सेवन, पापड़, अचार आदि का सेवन, शरीर में पानी की कमी, स्निग्ध पदार्थ जैसे शुद्ध घी का भोजन में बिलकुल प्रयोग न करना, गर्भावस्था में संतुलित आहार के अभाव में बालों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। शरीर में विटामिन्स के अभाव में बालों को हानि पहुँचती है।


- आहार के अलावा ज्यादा परिश्रम, डायटिंग, बालों की उचित देखभाल न करना, कुछ औषधियाँ जैसे पेन किलर दवाइयों का लंबे समय तक प्रयोग, कुछ बीमारियाँ जैसे सफेद कुष्ट, मानसिक तनाव, श्वेतप्रदर रोग, क्रोध, शोक, चिंता, जलवायु परिवर्तन, प्रदूषण, कुछ रसायनों के संपर्क में बालों का आना, किसी चीज से एलर्जी होना भी ऐसे कारण हैं जिससे असमय बाल सफेद होने लगते हैं।

- मेलेनिन की कमी भी असमय बाल सफेद होने मुख्य कारण है। मेलेनिन का उत्पादन उचित पोषण और प्रोटीन की खुराक पर निर्भर करता है। इन पोषक तत्वों की कमी मेलेनिन के स्तर को कम करती है |

- इतने सारे कारणों को देखकर आप घबराइए नहीं इनमे से केवल एक या दो कारणों से ही आपके बाल असमय सफेद हो रहे है तथा बाल सफेद होने के कारण सब लोगो में अलग-अलग हो सकते है आपको सिर्फ अपने बाल सफेद करने वाले कारण को ढूंडकर उसको दूर करना है |


- बालों को सफेद होने से बचाने के लिए नियमित दिनचर्या, बालों की उचित सफाई, संतुलित आहार, व्यायाम, अच्छी नींद की आवश्यकता होती है।

- असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए अधिक समय जुकाम न रहने दें व तुरन्त उपचार करायें।

- प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल करें जैसे- मेंहदी, चायपत्ती का पानी, और चुकंदर का रस |

- बालों को अधिक गर्म पानी से न धोएं।

- एक-दो बाल सफेद होने पर उन बालों को तोड़े नहीं। ऐसा करने से बाल अधिक सफेद होने लगते हैं।

- थोड़े बाल सफेद होने पर डाई न करवाएं। इससे काले बालों पर भी प्रभाव पड़ता है। बाल और ज्यादा तेजी से सफेद होने लगते हैं।

- असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए बालों को धोने के लिए साबुन या शैम्पू की अपेक्षा प्राकृतिक सामग्री रीठा, शिकाकाई, बेसन, आंवला (Amla), दही आदि का इस्तेमाल करें।

- अत्यधिक मोठी चीजें, तेल, मसालेदार भोजन, शराब व नशीली वस्तुओं का सेवन न करें।

- बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल न करें। बालों पर स्प्रे भी न करें।

- अधिक चिंता, मानसिक तनाव, देर रात तक जागने से बचें। यह भी जरुर पढ़ें – गंजेपन के कारण, बचाव और आयुर्वेदिक उपचार

- तेज खुशबूदार साबुन और तेल बालों में न लगाएं। इनसे भी बाल सफेद होने लगते हैं।

- बालों की देखभाल व साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें। नियमित रूप से सिर की मालिश करें व भाप दें। इससे आप असमय बाल सफेद होने की समस्या से बचें रहेंगे |

- बालों को तेज धूप में ढककर चलें क्योंकि सूर्य से निकली अल्ट्रा वायलेट किरणें बालों को सफेद बना सकती हैं।

असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए खानपान सम्बंधी सुझाव

- अपने भोजन में दही को आवश्यक रूप से शामिल करें। दही बालों को काला बनाये रखने में बहुत उपयोगी है।

- असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए और बालों को काला बनाए रखने के लिए शरीर में प्रोटीन, विटामिन ‘ए’, ‘बी-काम्पलेकस’, ‘सी’, ‘डी’, ‘ई”, कैलि्शयम, आयोडीन, फास्फोरस, ऑयरन, कॉपर आदि तत्वों की पूरी मात्रा की आवश्यकता होती है।

- शरीर को उक्त सभी तत्व मिलते रहें, इसके लिए अपने आहार में दूध, मक्खन, पनीर , पालक, चौलाई, नींबू , आंवला, खजूर, अंगूर, सेब, संतरा, मौसमी, हरी सब्जी, ताजे फल, अंकुरित खाद्यान्न, चोकर वाला आटा, बिना पालिश किया हुआ चावल आदि शामिल करें।

0 Response to "कम उम्र में सफेद हो रहे हैं बाल, तो इन 3 चीजों को मिलाकर लगा लें"

Post a Comment

Slider Post