-->
गुदा की हड्डी में चोट का मतलब हिंदी में  (Coccydynia (Tailbone Pain) Meaning in Hindi)

गुदा की हड्डी में चोट का मतलब हिंदी में (Coccydynia (Tailbone Pain) Meaning in Hindi)


गुदा की हड्डी में चोट क्या हैं ?

गुदा की हड्डी में चोट होने से टेलबोन के हिस्से में दर्द व बेचैनी होने लगती है और इस स्तिथि को काक्सीडीनिया कहा जाता है। गुदा की हड्डी में फ्रैक्चर होने से जोड़ में अलग होने का जोखिम बना रहता है और हड्डी नील पड़ सकता है। गुदा की हड्डी में लगे चोट को ठीक होने में थोड़ा समय लगता है। हालांकि चिकिस्तक इलाज के दौरान व्यक्ति आराम के साथ सावधानी बरतने की सलाह देते है। गुदा की हड्डी के चोट को टेलबोन भी कहा जाता है। टेलबोन रीढ़ की हड्डी के निचे स्तिथ होता है। गुदा की हड्डी में चोट पुरुषो के तुलना में महिलाओं को अधिक होता है। गुदा की हड्डी में चोट कुछ लोगो में दुर्घटना या गिरने के कारण हो सकती है। कई मामलो में गुदा की चोट का कारण का पता नहीं होता है। यदि गुदा की हड्डी में चोट की समस्या होती है, तो चिकिस्तक से निदान व उपचार करवाना चाहिए। चलिए आज के लेख में गुदा की हड्डी के बारे में विस्तार से बताते हैं। 

  • गुदा की हड्डी में चोट के कारण ? (What are the Causes of Coccydynia (Tailbone Pain) in Hindi)
  • गुदा की हड्डी में चोट के लक्षण ? (What are the Symptoms of Coccydynia (Tailbone Pain) in Hindi)
  • गुदा की हड्डी में चोट के निदान ? (Diagnoses of Coccydynia (Tailbone Pain) in Hindi)
  • गुदा की हड्डी में चोट का इलाज ? (What are the Treatments for Coccydynia (Tailbone Pain) in Hindi)

गुदा की हड्डी में चोट के कारण ? (What are the Causes of Coccydynia (Tailbone Pain) in Hindi)

अधिकांश टेलबोन चोट घाव के कारण होती है। घाव व चोट होने से गूदा की हड्डी में दर्द का कारण बनता है। कुछ अन्य कारण हो सकते है। 

  • किसी ठोस सतह पर बैठी अवस्था में गिरने पर टेलबोन में चोट लगने का कारण बनता है। टेलबोन के छेत्र क्षतिग्रस्त होने से दर्द की समस्या होती है। 
  • कई ऐसे मामले है जिनमे टेलबोन चोट का कारण का कोई पता नहीं होता है। 
  • कोक्सीक्स के जन्म होने से फ्रैक्चर व क्षतिग्रस्त हो सकता है। 
  • कोक्सीक्स में टकराव या दबाव पड़ने से गुदा की हड्डी में चोट लग सकता है। 
  • कुछ लोगो में अधिक साईकल चलाने से गुदा की हड्डी में दर्द का कारण बन सकता है। 
  • गुदा की हड्डी में संक्रमण होने के कारण दर्द की समस्या हो सकती है। 
  • रीढ़ की हड्डी में चोट या अन्य भाग में दर्द बढ़ने पर गुदा की हड्डी में दर्द का कारण हो सकता है। 
  • नसों में दबाव या हड्डी बढ़ने पर गुदा की हड्डी में दर्द उत्पन्न कर सकता है

गुदा की हड्डी में चोट के लक्षण ? (What are the Symptoms of Coccydynia (Tailbone Pain) in Hindi)

गुदा की हड्डी में चोट के लक्षण में टेलबोन पर दबाव पड़ने से दर्द होता है। खासतौर पर बैठने के दौरान अधिक दर्द का अनुभव होता है। इसके अलावा अन्य लक्षण नजर आ सकते है। 

  • सूजन आना। 
  • सुन्न होना। 
  • दर्द गंभीर होना। 
  • टांगो में कमजोरी होना। 
  • मल त्याग करने में कठिनाई होना। 
  • छूने पर दर्द होना। 
  • संभोग के दौरान महिलाओं को दर्द का अनुभव होना।

गुदा की हड्डी में चोट के निदान ? (Diagnoses of Coccydynia (Tailbone Pain) in Hindi)

  • गूदे में चोट लगना एक मेडिकली समस्या है जिसका निदान करने के लिए चिकिस्तक शारीरिक परीक्षण करता है। इसके अलावा चोट की पहचान करने के लिए एक्स-रे निकाला जाता है। 
  • गूदे में चोट लगने के बाद चिकिस्तक अन्य अंगो की भी जांच कर सकते है। जैसे रेक्टल, तंत्रिका संबंधित, रीढ़ की हड्डी आदि। 
  • टेलबोन की चोट व लक्षण नजर आने पर चिकिस्तक से निदान कर उपचार करवाना चाहिए। इसके अलावा टेलबोन चोट का कारण पता नहीं है तो प्रभावित भाग में एनेस्थेटिक इंजेक्शन लगा दिया जाता है। हड्डी के अंदुरनी घाव का पता लगाने के लिए एक्स रे निकाला जाता है। कुछ मामलो में हड्डी के चोट का पता एक्स रे से नहीं चलता है। गूदे की हड्डी में चोट अधिक गंभीर नहीं होते है लेकिन चिकिस्तक से संपर्क करना चाहिए।

गुदा की हड्डी में चोट का इलाज ? (What are the Treatments for Coccydynia (Tailbone Pain) in Hindi)

  • गुदा की हड्डी में चोट अक्सर दर्दनाक होता है। यदि दर्द अधिक गंभीर हो रहा है तो इसे मेडिकली उपचार की जरूरत पड़ती है। 
  • गुदा की हड्डी में चोट का इलाज मुख्य रूप से दर्द निवारक दवा की खुराक देकर किया जाता है। यह दवाएं शक्तिशाली होती है जो दर्द को कम करती है। 
  • यदि गुदा की हड्डी में चोट लगातार दर्द की समस्या होती है तो ऐसे में चिकिस्तक एनेस्थेटिक टीकाकरण कर सकते है। 
  • कुछ दुर्लभ मामले में चिकिस्तक सर्जरी की सिफारिश कर सकते है। सर्जरी के माध्यम से गुदास्थि को हटाया जाता है। 

हालांकि गुदा की हड्डी में चोट को ठीक करने के लिए शारीरिक चिकित्सा के माध्यम से ठीक किया जा सकता है। गुदा की हड्डी को मजबूत करने के लिए चिकिस्तक कुछ व्यायाम करने की सलाह दे सकते है। इसके अलावा सेकाई का उपयोग कर सकते है। थेरेपी द्वारा बैठने व उठने के तरीके के बारे में बताते हैं। 

0 Response to "गुदा की हड्डी में चोट का मतलब हिंदी में (Coccydynia (Tailbone Pain) Meaning in Hindi)"

Post a Comment

JOIN WHATSAPP GROUP

JOIN WHATSAPP GROUP
THE VOICE OF MP WHATSAPP GROUP

JOB ALERTS

JOB ALERTS
JOIN TELEGRAM GROUP

Slider Post

AMAZON OFFERS