-->
नी रिप्लेसमेंट का मतलब हिंदी में (Knee Replacement Meaning in Hindi)

नी रिप्लेसमेंट का मतलब हिंदी में (Knee Replacement Meaning in Hindi)


नी रिप्लेसमेंट सर्जरी क्या है?

नी रिप्लेसमेंट को टोटल नी रिप्लेसमेंट (टीकेआर) या नी आर्थोप्लास्टी के रूप में भी जाना जाता है, एक ऐसी सर्जिकल प्रक्रिया है जिसमें सर्जन घुटने के जोड़ को बनाने वाली हड्डियों की क्षतिग्रस्त सतहों को कृत्रिम सामग्री या इम्प्लांट से बदल देते हैं। टोटल नी रिप्लेसमेंट एक अपनाम है, यह देखते हुए कि जोड़ बनाने वाली हड्डी के भागो को वास्तव में हटाया और बदला नहीं जाता है, बल्कि इसके बजाय केवल क्षतिग्रस्त भाग को काट दिया जाता है और हड्डियों के सिरों को कैप करने के लिए कृत्रिम घटकों या प्रत्यारोपण को जोड़ा जाता है। हालांकि उपयोग करने के लिए बेहतर शब्द ‘घुटने के पुनरुत्थान ऑपरेशन’ है।

यह प्रक्रिया पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस के मरीजों में जोड़ों के दर्द और विकलांगता को दूर करने के लिए की जाती है। यह गठिया, आघात या चोट के मामलों में घुटने के कार्य में भी सुधार कर सकता है।नी रिप्लेसमेंट सर्जरी का अन्य रूप आंशिक नी रिप्लेसमेंट है। आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त घुटने में आंशिक घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी कठोरता से की जाती है। यह कम आक्रामक है फिर भी कुल घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी जितना अच्छा होता है। यहां घुटने को खोला जाता है और क्षतिग्रस्त हिस्से के ऊपर कृत्रिम अंग (कृत्रिम भाग) लगाया जाता है। छोटे मरीजों में आंशिक घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी को पहले प्राथमिकता दी जाती है।

चलिए  इस लेख में आपको नी रिप्लेसमेंट सर्जरी के बारे में विस्तार से बताने वाले है। 

  • नी रिप्लेसमेंट क्यों किया जाता है? (What is the Purpose of Knee Replacement in Hindi)
  • घुटने के प्रतिस्थापन से किसे बचना चाहिए? (Who should avoid Knee Replacement in Hindi)
  • नी रिप्लेसमेंट से पहले की तैयारी ? (Preparation before Knee Replacement in Hindi)
  • नी रिप्लेसमेंट कैसे किया जाता है? (What is the Procedure of Knee Replacement in Hindi)
  • घुटने के प्रतिस्थापन में किस प्रकार के प्रत्यारोपण का उपयोग किया जाता है? (What are the Types of Implants used in Knee Replacement in Hindi)
  • नी रिप्लेसमेंट के बाद देखभाल ? (Care After Knee Replacement in Hindi)
  • घुटने के रिप्लेसमेंट के बाद रिकवरी की तैयारी के लिए घर पर कौन से बदलाव कर सकते हैं? (What are the Changes that one can do at home to prepare for recovery after Knee Replacement in Hindi)
  • नी रिप्लेसमेंट के जोखिम क्या हैं? (What are the Risks of Knee Replacement in Hindi)
  • भारत में नी रिप्लेसमेंट की कीमत क्या है? (What is the Cost of Knee Replacement in India in Hindi)
  • नी रिप्लेसमेंट के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल ?  (FAQs about Knee Replacement in Hindi)

नी रिप्लेसमेंट क्यों किया जाता है? (What is the Purpose of Knee Replacement in Hindi)

गठिया में जो दर्द और अक्षमता का कारण बनता है तो टोटल नी रिप्लेसमेंट सर्जरी का सबसे आम कारण है। इसके अलावा, निम्नलिखित मामलो में टोटल नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की आवश्यकता हो सकती हैं। 

  • जैसे – ऑस्टियोआर्थराइटिस (जोड़ों में दर्दनाक सूजन पैदा करने वाली स्थिति)
  • अन्य स्थितियां, जैसे रुमेटीइड गठिया। 
  • घुटने की चोट जो गठिया को जन्म देती है। 
  • फ्रैक्चर, लिगामेंट आंसू, कार्टिलेज में आंसू जिसके परिणामस्वरूप घुटने को गंभीर नुकसान होता है। 
  • गंभीर और रह -रह कर होने वाला घुटने का दर्द। 
  • घुटनों में सूजन जिसे दवा से कम नहीं किया जा सकता है। 
  • संयुक्त कठोरता। 
  • गति की कम सीमा
  • लंगड़ाना। 
  • जॉइंट विकृति होना। 
  • जोड़ में कोमलता होना। 

घुटने के प्रतिस्थापन से किसे बचना चाहिए? (Who should avoid Knee Replacement in Hindi)

आपके चिकिस्तक एक उचित जांच के बाद यह तय करेंगे की आप इस सर्जरी के लिए फिट हैं या नहीं। 

जिन मरीजों को घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी नहीं करवाने का सुझाव दिया जाता है, यह वे हैं –

  • मरीजों को अपने घुटने को बढ़ाने में कठिनाई होती है।  उदाहरण के तौर पर जब हम बैठने की स्थिति से खड़े होते हैं तो घुटने का विस्तार होता है। 
  • सेप्सिस (संक्रमण) वाले मरीज हो। 
  • 50 वर्ष से कम उम्र के मरीज (हालांकि ऐसे मरीज जो अभी भी नी रिप्लेसमेंट से गुजर सकते हैं यदि वे गंभीर दर्द में हैं और अन्य सभी उपचार विकल्पों को आजमाया व समाप्त कर दिया गया है)
  • बहुत मोटे लोग। 
  • शारीरिक रूप से मांग वाले पेशे में दैनिक उच्च प्रभाव वाली गतिविधि शामिल है, जहां सर्जरी के परिणाम लंबे समय तक चलने वाले नहीं हो सकते हैं। 

नी रिप्लेसमेंट से पहले की तैयारी ? (Preparation before Knee Replacement in Hindi)

नी रिप्लेसमेंट सर्जरी से पहले, आपके आर्थोपेडिस्ट आपके जोड़ों की समस्याओं के निदान के लिए कुछ परीक्षण कर सकते है। 

  • जैसे, शारीरिक जांच – मरीज की जांच लेटी हुई स्थिति में की जाती है। इसके बाद चिकिस्तक जोड़ों की सूजन, किसी जोड़ की विकृति और मांसपेशियों की खराबी के लक्षणों की तलाश करते हैं। चिकिस्तक तब जोड़ की गर्मी, सूजन, तरल पदार्थ और कोमलता की जांच करने के लिए जोड़ को महसूस करते हैं। इसके अलावा, चिकिस्तक जोड़ की किसी भी कठोरता की जांच के लिए घुटने को आगे-पीछे घुमाकर जोड़ की गति की सीमा की जांच करते हैं। 
  • ब्लड टेस्ट – सूजन के स्तर या एंटीबॉडी की उपस्थिति की जांच के लिए विशेष रक्त परीक्षण किए जा सकते हैं। उदाहरण के लिए, रक्त में रुमेटी कारक (आरएफ) की उपस्थिति ऑटोइम्यून बीमारी, विशेष रूप से रुमेटीइड गठिया की उपस्थिति का संकेत दे सकती है। सीबीसी, ब्लड ग्लूकोज, किडनी फंक्शन टेस्ट, लिवर फंक्शन टेस्ट जैसे सामान्य रक्त परीक्षण पहले से किए जाते हैं।
  • जॉइंट एस्पिरशन  –  इस प्रक्रिया में सुई का उपयोग करके घुटने के जोड़ से तरल पदार्थ का एक छोटा सा नमूना एकत्र किया जाता है और आगे के जांच के लिए भेजा जाता है। यह जरूरत पड़ने पर ही चुने हुए मरीजों में किया जाता है।
  • इमेजिंग परीक्षण – सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले इमेजिंग परीक्षण एक्स-रे होते हैं क्योंकि ये संरचनात्मक परिवर्तनों, जोड़ों के क्षरण के संकेत, उपास्थि या ऊतक के फटने के नुकसान, सूजन, मौजूद द्रव की मात्रा आदि को देखने में मदद करते हैं। कभी-कभी और जानकारी प्राप्त करने के लिए एमआरआई या सीटी स्कैन की योजना बनाई जाती है। 

नी रिप्लेसमेंट कैसे किया जाता है? (What is the Procedure of Knee Replacement in Hindi)

  • नी रिप्लेसमेंट सर्जरी स्पाइनल या जनरल एनेस्थीसिया के तहत की जाती है।
  • नी रिप्लेसमेंट सर्जरी के दौरान, घुटने के सामने की त्वचा पर नीकैप (पटेला) तक पहुंचने के लिए एक कट लगाया जाता है। फिर उस क्षेत्र का बेहतर दृश्य प्राप्त करने के लिए पटेला को बाहर की ओर घुमाया जाता है जिसकी मरम्मत की जरूरत होती है।
  • फीमर यानि जांघ की हड्डी के निचले सिरे को तब मापा जाता है और फिर से सामने लाया जाता है। हड्डी और उपास्थि के क्षतिग्रस्त हिस्से को विशेष उपकरणों का उपयोग करके फीमर के निचले सिरे से काटा जाता है और फिर कृत्रिम घुटने के धातु के ऊरु घटक को फिट किया जाता है।
  • बाद में, टिबिया के ऊपरी सिरे से क्षतिग्रस्त हड्डी और उपास्थि को हटाकर टिबिया (पिंडली की हड्डी) को फिर से जीवित किया जाता है और फिर प्लास्टिक या धातु के टिबियल घटक को फिट करने के लिए फिर से आकार दिया जाता है।
  • पटेला को फिर से समायोजित किया जाता है। पटेला के क्षतिग्रस्त हिस्से को फिर से पेश किया जाता है और एक पटेलर बटन के साथ लगाया जाता है, या पटेला को फिर से आकार दिया जाता है। कृत्रिम अंग के बीच घर्षण से बचने के लिए सर्जन ऊरु और टिबिअल घटकों के बीच एक अतिरिक्त प्लास्टिक स्पेसर जोड़ता है।
  • कृत्रिम अंग आमतौर पर सर्जिकल सीमेंट द्वारा हड्डी से जुड़ा होता है और इसे सीमेंटेड कृत्रिम अंग के रूप में जाना जाता है।
  • घुटने को मोड़कर रिप्लेसमेंट की कार्यप्रणाली की जांच की जाती है और चीरे को टांके या सर्जिकल स्टेपल से बंद कर दिया जाता है।
  • सही तरीके से नी रिप्लेसमेंट सर्जरी करने पर आपके घुटने को लगभग 10 से 15 वर्षों के लिए कामकाज को प्रदान करता हैं। 

घुटने के प्रतिस्थापन में किस प्रकार के प्रत्यारोपण का उपयोग किया जाता है? (What are the Types of Implants used in Knee Replacement in Hindi)

  • नी रिप्लेसमेंट के विभिन्न प्रकार मौजूद हैं, लेकिन सर्जरी करने का मानक तरीका हड्डी सीमेंट के साथ भागों को ठीक करना है।
  • पुर्जे स्वयं कोबाल्ट क्रोमियम मिश्र धातु या टाइटेनियम से बने होते हैं। चुने हुए मरीजों में ऑक्सिनियम या गोल्ड नी रिप्लेसमेंट का इस्तेमाल किया जाता है।

नी रिप्लेसमेंट के बाद देखभाल ? (Care After Knee Replacement in Hindi)

नी रिप्लेसमेंट के बाद, मरीज को रिकवरी रूम में शिफ्ट कर दिया जाता है, जहां चिकिस्तक की देख -रेख में उसके महत्वपूर्ण अंगों की निगरानी की जाती है। इसके अलावा, उसी दिन फिजिकल थेरेपी शुरू की जा सकती है। मरीज को लगभग 3 से 5 दिनों तक हॉस्पिटल में रहना पड़ सकता है। कुछ दिनों के बाद, मरीज को घर जाने की अनुमति दे दी जाती है।

  • मरीज को शुरूवात में वॉकर, बैसाखी या छड़ी की आवश्यकता होती हैं। 
  • घर पहुंचने पर मरीज को व्यायाम व शारीरिक उपचार जारी रखना चाहिए।
  • उठने या बैठने में निम्न कठिनाई हो सकती है लेकिन मरीज को अपने घुटनों को हिलाते रहने की सलाह दी जाती है।
  • मरीज को सर्जन द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करना चाहिए और किसी भी जटिलता के मामले में अपने सर्जन से संपर्क करना चाहिए।
  • मरोज को एक फिजियोथेरेपिस्ट नियुक्त किया जाता है जो पुनर्वास का मार्गदर्शन करेंगे और घुटने के पुरे कामकाज को प्राप्त करने में मदद करेंगे। 

घुटने के रिप्लेसमेंट के बाद रिकवरी की तैयारी के लिए घर पर कौन से बदलाव कर सकते हैं? (What are the Changes that one can do at home to prepare for recovery after Knee Replacement in Hindi)

  • आवाजाही में आसानी के लिए घर पर जगह बनाएं।
  • बाथरूम में व शौचालय के बगल में एक रेलिंग लगाना। 
  • नॉन-स्लिप बाथ मैट तैयार रखें।
  • बिना फिसले मोज़े पहनें।
  • रात की रोशनी स्थापित करना। 
  • मदद के लिए पूछे, यदि करीबी दोस्त और परिवार मदद नहीं कर सकते हैं, तो कम से कम पहले कुछ हफ्तों के लिए मदद के लिए नर्स या घरेलू मदद लें।

नी रिप्लेसमेंट के जोखिम क्या हैं? (What are the Risks of Knee Replacement in Hindi)

नी रिप्लेसमेंट के बाद मरीज को निम्नलिखित जोखिमों और जटिलताओं का अनुभव हो सकता है। 

  • जैसे – चीरा वाली जगह पर संक्रमण होना। 
  • डीप वेन थ्रॉम्बोसिस जिसमें पैर की गहरी नसों में रक्त का थक्का बन जाता है। 
  • पल्मोनरी एम्बोलिज्म (रक्त के थक्के के कारण फेफड़ों में धमनियों में रुकावट)
  • प्रत्यारोपण में धातु के घटकों से एलर्जी की प्रतिक्रिया होना। 
  • घाव से रक्तस्राव होना। 
  • प्रमुख नसों को नुकसान (सामान्य पेरोनियल तंत्रिका जो निचले पैर, और पैर की उंगलियों पर आंदोलन और सनसनी को नियंत्रित करती है, सबसे अधिक घायल होती है) और पैर में धमनियां। 
  • प्रत्यारोपण की नियुक्ति या खराबी के साथ समस्या होना। 
  • सर्जरी के दौरान फ्रैक्चर होना। 
  • प्रत्यारोपण का ढीला होना। 
  • स्नायुबंधन पश्चात के वर्षों के दौरान खिंचाव होना। 
  • घुटने के जोड़ में असामान्य रक्तस्राव होना। 

भारत में नी रिप्लेसमेंट की कीमत क्या है? (What is the Cost of Knee Replacement in India in Hindi)

भारत में घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी करवाने की कीमत लगभग INR 2,00,000 से INR 4,50,000  तक हो सकती है।

नी रिप्लेसमेंट के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल ?  (FAQs about Knee Replacement in Hindi)

Q1. क्या मैं नी रिप्लेसमेंट सर्जरी से बच सकता हूं?

उत्तर – आपके चिकिस्तक आमतौर पर आपको सर्जरी की सिफारिश करने से पहले आपके लक्षणों को दूर करने के लिए विभिन्न तरीकों को आजमाने की सलाह देते हैं। इनमें से कुछ गैर-सर्जिकल तरीकों में शामिल हैं। 

  • फिजियोथेरेपी। 
  • वजन घटाना। 
  • जोड़ों की सूजन को कम करने के लिए दवाएं। 
  • उपास्थि मरम्मत की खुराक। 
  • एक्यूप्रेशर। 

हालांकि, यदि ये गैर-सर्जिकल तकनीक आपके जोड़ों के दर्द को कम नहीं करते हैं और आपके दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों में हस्तक्षेप करते हैं, जिससे आपके जीवन की गुणवत्ता में बाधा उत्पन्न होती है, तो सर्जरी आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है।

प्रश्न 2. सर्जरी कितने समय तक चलती है?

उत्तर। अधिकतर नी रिप्लेसमेंट सर्जरी में 1 से 1.5 घंटे का समय लग जाता हैं। 

Q3. नी रिप्लेसमेंट सर्जरी के बाद कितने समय तक दर्द रहेगा?

  • उत्तर – सर्जरी के बाद कई हफ्तों तक सामान्य दर्द बना रह सकता है। 
  • सूजन 2 से 3 सप्ताह से 3 से 6 महीने तक बनी रह सकती है। 
  • सर्जरी के बाद कुछ हफ़्ते तक चोट लग सकती है।

प्रश्न4 क्या मुझे सर्जरी के बाद चलने के लिए किसी सहारे की आवश्यकता होगी?

उत्तर – सर्जरी के बाद पहले कुछ महीनों के दौरान ज्यादातर लोगों को बैसाखी या वॉकर या छड़ी की मदद की जरूरत होती है। फिजियोथेरेपिस्ट आपको अपने नए घुटने का उपयोग करके चलना सिखाएंगे और आपको अपने जोड़ की गतिशीलता में सुधार करने के लिए व्यायाम देंगे। कभी-कभी आपके आर्थोपेडिक सर्जन आपको सीपीएम मशीन का उपयोग करने का सुझाव दे सकते है। सीपीएम मशीन आपको गति की अपनी सीमा को अधिकतम करने और निशान गठन को कम करने में मदद करती है। हालांकि, एक बार पूरी तरह से ठीक हो जाने के बाद, आपको अपनी दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों को करने के लिए किसी सहायता के उपयोग करने की आवश्यकता नहीं होती है।

प्रश्न5. पूरी तरह से ठीक होने में कितना समय लगेगा?

उत्तर – आमतौर पर  मरीज को 1 से 5 दिनों के अंदर हॉस्पिटल से छुट्टी मिल सकती है और वे सर्जरी के बाद 6 सप्ताह के अंदर अपनी रोजाना की गतिविधियों को फिर से शुरू कर सकते हैं। हालांकि, सर्जरी के बाद पूरी तरह से रिकवर होने में 3 से 6 महीने का समय लग सकता हैं। 

प्रश्न6. कृत्रिम घुटना कितने समय तक चलता है?

उत्तर – नी रिप्लेसमेंट सर्जरी से घुटना लगभग 10 से 15 वर्षों तक अच्छी तरह से काम करता है जिसके बाद प्रोस्थेसिस के ढीले होने पर उसे बदलने की आवश्यकता हो सकती है।

0 Response to "नी रिप्लेसमेंट का मतलब हिंदी में (Knee Replacement Meaning in Hindi)"

Post a Comment

Slider Post