-->
लड़कियां प्यार तो करती हैं, पर जब शादी की बात आती है, तो मना क्यों कर देती हैं?

लड़कियां प्यार तो करती हैं, पर जब शादी की बात आती है, तो मना क्यों कर देती हैं?

 लड़का हो या लड़की वो जब मिलते है तो एक गलतफहमी पक्का हो जाती है कि मुझे प्यार हो गया है, जबकि प्यार होता नही है एक तगड़ा वाला आकर्षण होता है जिसमे एक अकर्षित होता है एक नही चाहे लड़का हो या लड़की फिर नाम देते है एक तरफा मोहब्बत हो गई है और जैसे तैसे प्रूफ करते है मैं आपके लिए जान दे सकता हु । लड़कियों बहुत एमोशनल हो जाती है क्यों कि अगर लडका कहता है की हाथ काट लूंगा तो मानशिक रूप से तनाव में आ जाती है। फिर वो स्वीकार करती है जब कि प्यार भले न हो जबकि उसकी जिंदगी बचानी जरूरी हो जाता है। सच कहें तो लड़का हो या लड़की दोनो को एक दोस्त की जरूरत होती है अपने बातों को शेयर करे और खुस रहे। इसीलिए मेरा मानना है कि जब प्यार सच में होता है वहा शादी होना तय है । पर अगर आपके रिश्ता समझौते के आधार पर टिका है तो शादी से या तो लड़का मुकर जाएगी नही तो लड़की।

अब असली मुद्दे की बात पे आते है।

हर माँ बाप की ख्वाइश होता है जिंदगी में की मैं अपने बेटे बेटी की शादी धूमधाम से करूँगा क्यों कि अपने बेटे या बेटी से यही उमीद होती है कि माँ बाप का दिल नही तोड़ेगा।

यही बात लड़के अगर भूल कर अपनी मनमानी करते है तो जो लोग अपने माँ बाप की बातों को कद्र कर रहे होंगे तो वो अपने माता पिता को कभी निराश नही करेंगे।और यही मुख्य कारण है कि लोग शादी से मुकर जाते है लोग।

हम भी एक लड़के है मेरा एक साधारण सिद्धान्त है।

माता पिता दिए गए आदेश का पालन करना ।

और सेवा करना ।

मेरा ज़िन्दगी का एक ही उद्देश्य उन्हें सुख पहुँचाऊँ दुख नही।

क्यों कि अगर परिवार के खिलाफ आप जाकर कोई काम करते है।

तो उसमें आपकी ज़िन्दगी बीत जाएगी पर सुकून नही मिल पायेगा।

0 Response to "लड़कियां प्यार तो करती हैं, पर जब शादी की बात आती है, तो मना क्यों कर देती हैं?"

Post a Comment

Slider Post