-->
Pakistan Vaccine: पाकिस्तान ने बनाई खुद की वैक्सीन, मगर क्या ‘ड्रैगन’ की हेल्प से बनी Vaccine होगी प्रभावी?

Pakistan Vaccine: पाकिस्तान ने बनाई खुद की वैक्सीन, मगर क्या ‘ड्रैगन’ की हेल्प से बनी Vaccine होगी प्रभावी?


पाकिस्तान (Pakistan) ने कैनसिनो बायो (Cansino Bio) की मदद से अपनी पहली वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) तैयार कर ली है

Pakistan Vaccine: पाकिस्तान ने बनाई खुद की वैक्सीन, मगर क्या 'ड्रैगन' की हेल्प से बनी Vaccine होगी प्रभावी?
पाकिस्तान की PakVac वैक्सीन (Twitter)

पाकिस्तान (Pakistan) ने कोरोनावायरस से निपटने के लिए अपनी पहली वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) तैयार कर ली है. पड़ोसी मुल्क ने सोमवार को ऐलान किया कि इसने स्वदेशी ‘PakVac’ वैक्सीन को तैयार किया है. इसके लिए चीन (China) के कैनसिनो बायो (Cansino Bio) से मदद ली गई. वहीं, ये वैक्सीन कठोर गुणवत्ता नियंत्रण जांच में पास हुई है. दुनियाभर के मुल्कों ने कोरोनावायरस की शुरुआत होने पर इस महामारी से निपटने के लिए वैक्सीन बनाने पर जोर दिया. लेकिन वैक्सीन के लिए पाकिस्तान लंबे समय तक चीन पर निर्भर रहा.

हालांकि, यहां गौर करने वाली बात ये है कि इस वैक्सीन को चीन की मदद से तैयार किया गया है. लेकिन चीन की वैक्सीन को लेकर दुनियाभर में सवाल उठ रहे हैं. इसके पीछे की वजह ये है कि चीन की साइनोफार्म वैक्सीन लगने के बाद भी दुनिया के कई मुल्कों में संक्रमण के मामलों में इजाफा देखने को मिला है. दुनिया में आबादी के लिहाज से सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन सेशेल्स में हुआ. इसके लिए चीन की वैक्सीन का प्रयोग किया, लेकिन फिर भी संक्रमण के मामले बढ़े हैं. दूसरी ओर, यूनाइटेड अरब अमीरात (UAE) में भी चीनी वैक्सीन लगने के बाद भी संक्रमण के मामले बढ़े हैं, जिसके बाद तीसरी वैक्सीन लगाने की तैयारी की जा रही है.

अब तक सिर्फ 50 लाख लोगों का हुआ वैक्सीनेशन

दूसरी ओर, माना जा रहा है कि पाकिस्तान की इस वैक्सीन से मुल्क की वैक्सीन को लेकर अन्य मुल्कों पर निर्भरता कम हो जाएगी. पाकिस्तान में फरवरी में वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत हुई थी. वैक्सीनेशन के लिए चीन ने वैक्सीन डोज इस्लामाबाद को दान दी थी. सबसे पहले फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगाई गई, फिर दूसरे चरण में वरिष्ठ नागरिकों को वैक्सीन का डोज दिया गया. पाकिस्तान में वर्तमान में 30 साल और उससे ऊपर के उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जा रही है. अभी तक देशभर में 50 लाख की आबादी को वैक्सीनेट किया गया है. देश की आबादी 21 करोड़ है, ऐसे में अभी वैक्सीनेशन के लिए लंबा रास्ता तय करना है.

हर महीने 30 लाख वैक्सीन डोज होगी तैयार

स्वास्थ्य मामलों पर प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के सलाहकार डॉ फैसल सुल्तान ने ट्विटर पर लिखा, ‘NIH (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ) पाक टीम और उसके नेतृत्व को कैनसिनो बायो इंक चीन की मदद से कैनसिनो वैक्सीन को सफलतापूर्वक तैयार करने के लिए बधाई देता हूं.’ उन्होंने कहा, ‘वैक्सीन ने मंजूरी के लिए कठोर आंतरिक गुणवत्ता जांच को पास किया है. वैक्सीन सप्लाई लाइन के ये एक महत्वपूर्ण कदम है.’ स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि टेक्नोलॉजी ट्रांसफर की वजह NIH हर महीने 30 लाख वैक्सीन तैयार कर पाएगी

0 Response to "Pakistan Vaccine: पाकिस्तान ने बनाई खुद की वैक्सीन, मगर क्या ‘ड्रैगन’ की हेल्प से बनी Vaccine होगी प्रभावी?"

Post a Comment

JOIN WHATSAPP GROUP

JOIN WHATSAPP GROUP
THE VOICE OF MP WHATSAPP GROUP

JOB ALERTS

JOB ALERTS
JOIN TELEGRAM GROUP

Slider Post