Skip to main content

Pakistan Vaccine: पाकिस्तान ने बनाई खुद की वैक्सीन, मगर क्या ‘ड्रैगन’ की हेल्प से बनी Vaccine होगी प्रभावी?


पाकिस्तान (Pakistan) ने कैनसिनो बायो (Cansino Bio) की मदद से अपनी पहली वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) तैयार कर ली है

Pakistan Vaccine: पाकिस्तान ने बनाई खुद की वैक्सीन, मगर क्या 'ड्रैगन' की हेल्प से बनी Vaccine होगी प्रभावी?
पाकिस्तान की PakVac वैक्सीन (Twitter)

पाकिस्तान (Pakistan) ने कोरोनावायरस से निपटने के लिए अपनी पहली वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) तैयार कर ली है. पड़ोसी मुल्क ने सोमवार को ऐलान किया कि इसने स्वदेशी ‘PakVac’ वैक्सीन को तैयार किया है. इसके लिए चीन (China) के कैनसिनो बायो (Cansino Bio) से मदद ली गई. वहीं, ये वैक्सीन कठोर गुणवत्ता नियंत्रण जांच में पास हुई है. दुनियाभर के मुल्कों ने कोरोनावायरस की शुरुआत होने पर इस महामारी से निपटने के लिए वैक्सीन बनाने पर जोर दिया. लेकिन वैक्सीन के लिए पाकिस्तान लंबे समय तक चीन पर निर्भर रहा.

हालांकि, यहां गौर करने वाली बात ये है कि इस वैक्सीन को चीन की मदद से तैयार किया गया है. लेकिन चीन की वैक्सीन को लेकर दुनियाभर में सवाल उठ रहे हैं. इसके पीछे की वजह ये है कि चीन की साइनोफार्म वैक्सीन लगने के बाद भी दुनिया के कई मुल्कों में संक्रमण के मामलों में इजाफा देखने को मिला है. दुनिया में आबादी के लिहाज से सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन सेशेल्स में हुआ. इसके लिए चीन की वैक्सीन का प्रयोग किया, लेकिन फिर भी संक्रमण के मामले बढ़े हैं. दूसरी ओर, यूनाइटेड अरब अमीरात (UAE) में भी चीनी वैक्सीन लगने के बाद भी संक्रमण के मामले बढ़े हैं, जिसके बाद तीसरी वैक्सीन लगाने की तैयारी की जा रही है.

अब तक सिर्फ 50 लाख लोगों का हुआ वैक्सीनेशन

दूसरी ओर, माना जा रहा है कि पाकिस्तान की इस वैक्सीन से मुल्क की वैक्सीन को लेकर अन्य मुल्कों पर निर्भरता कम हो जाएगी. पाकिस्तान में फरवरी में वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत हुई थी. वैक्सीनेशन के लिए चीन ने वैक्सीन डोज इस्लामाबाद को दान दी थी. सबसे पहले फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगाई गई, फिर दूसरे चरण में वरिष्ठ नागरिकों को वैक्सीन का डोज दिया गया. पाकिस्तान में वर्तमान में 30 साल और उससे ऊपर के उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जा रही है. अभी तक देशभर में 50 लाख की आबादी को वैक्सीनेट किया गया है. देश की आबादी 21 करोड़ है, ऐसे में अभी वैक्सीनेशन के लिए लंबा रास्ता तय करना है.

हर महीने 30 लाख वैक्सीन डोज होगी तैयार

स्वास्थ्य मामलों पर प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के सलाहकार डॉ फैसल सुल्तान ने ट्विटर पर लिखा, ‘NIH (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ) पाक टीम और उसके नेतृत्व को कैनसिनो बायो इंक चीन की मदद से कैनसिनो वैक्सीन को सफलतापूर्वक तैयार करने के लिए बधाई देता हूं.’ उन्होंने कहा, ‘वैक्सीन ने मंजूरी के लिए कठोर आंतरिक गुणवत्ता जांच को पास किया है. वैक्सीन सप्लाई लाइन के ये एक महत्वपूर्ण कदम है.’ स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि टेक्नोलॉजी ट्रांसफर की वजह NIH हर महीने 30 लाख वैक्सीन तैयार कर पाएगी

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

ग्वालियर - बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता शातिर चोर पकडे 10 लाख का माल बरामद। महाराजपुरा पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा चोरों का ग्रुप महाराजपुरा थाना प्रभारी मिर्ज़ा आसिफ बेग और उनकी टीम के द्वारा कार्यवाही की गई। महराजपुरा टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई।  10 लाख का माल भी बरामद किया गया।  महाराजपुर टीआई मिर्जा बेग ने बताया चोरों से 6 एलसीडी 8 लैपटॉप दो होम थिएटर 6 मोबाइल फोन एक स्कूटी टेबल फैन सिलेंडर बरामद हुआ है उनसे करीब 4 चोरियों का खुलासा हुआ है करीब 10 चोरियां कि गिरोह ने हामी भरी है 

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

कोरोना की स्थिति गंभीर होने पर कई राज्यों में फिर लॉकडाउन की स्थिति, सभी सीमाएं भी की जा रही हैं सील...। भोपाल। मध्यप्रदेश समेत पांच राज्य एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहे हैं। मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ते मामलों के बाद रविवार को पूरे प्रदेश में लॉकडाउन (Complete Lockdown) लगाया जा रहा है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Covid 19) की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्र ने तय किया है कि अब सप्ताह में एक दिन रविवार को पूरा प्रदेश बंद रहेगा। उधर, मध्यप्रदेश के अलावा बिहार, उत्तरप्रदेश में भी लाकडाउन के आदेश जारी कर दिए गए हैं।   मध्यप्रदेश में पिछले तीन दिनों में 11 सौ से अधिक संक्रमित मरीज मिलने और जबकि 409 एक ही दिन में संक्रमित मिलने के बाद यह फैसला लिया जा रहा है इस दौरान प्रदेश की सीमाएं भी सील की जा सकती है। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं ही चलती रहेंगी। गृह विभाग के बाद भोपाल समेत सभी जिलों के कलेक्टर अपने-अपने जिले के लिए एडवायजरी (Advisery'guideline) जारी कर रहे हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र के मुताबिक इस सप्ताह में एक दिन का लाकडाउन ही