Skip to main content

Instagram Success Story In Hindi | केविन सिस्ट्रोम और माइक क्रीगर की सफलता की कहानी

 Instagram Success Story in Hindi

दोस्तों आज मैं बात करने जा रहा हूँ अपने शानदार फोटोफिलटर्स के लिए पहचानी जाने वाले फोटो शेयरिंग एप्लीकेशन इंस्टाग्राम (Instagram Success Story in Hindi) के बारे में और इस एप्लीकेशन को बनाने वाले केविन सिस्ट्रोम की सफलता की कहानी के बारे में, जिसने की लोगों के फोटोज को शेयर करने का तरीका ही बदल दिया।

Instagram Success Story In Hindi

यह एप्लीकेशन आम लोगों के साथ-साथ सेलिब्रिटीज को भी काफी पसंद है और सिर्फ 7 साल के अंदर ही इंस्टाग्राम लोगों के बीच बहुत ही लोकप्रिय हो चूका है। इस एप्लीकेशन की एक खास बात यह है कि फोटो शेयर करते समय आप इसके फिल्टर्स को उसे कर सकते हैं जिससे की आपकी मनपसंद फोटोज और भी आकर्षित हो जाती है। साथ ही आप अपने फोटोज से जिओ टैग से अपनी लोकेशन भी डाल सकते हैं और इन सबके अलावा भी इस एप्लीकेशन के माध्यम से छोटी वीडियोस को भी शेयर किया जा सकता है।

 


अगर आप एक इंस्टाग्राम यूजर हैं तो आप यह बखूबी जानते होंगे की इंस्टाग्राम को कैसे यूज़ किया जाता है ,लेकिन क्या आपको पता है की इंस्टाग्राम को बर्बन नाम के एक प्रोजेक्ट के साथ स्टार्ट किया गया था और इस प्रोजेक्ट को शुरू करने वालो का नाम था केविन सिस्ट्रोम (Kevin Systrom) और माइक क्रीगर (Mike Krieger) जो की एक अच्छे दोस्त थे और बर्बन बेसिकली फोटोग्राफी से जुड़ा हुआ ही एक प्रोजेक्ट था लेकिन फोटोग्राफी के अलावा भी इसमें कई सारे फीचर्स थे और एप्लीकेशन काफी कॉम्प्लिकेटेड होने की बजह से यह सफल नहीं हो सका।

 

इस एप्लीकेशन की कमीओ को पहचानते हुए केविन और माइक ने एप्लीकेशन की फीचर्स को कम करते हुए फोटो शेयरिंग पर कंसन्ट्रेन्ट किया और कुछ निवेशकों से फंड इकट्ठा करने के बाद उन्होंने 16 जुलाई, 2010 को इंस्टाग्राम नाम का एक एप्लीकेशन तैयार किया, जिसका नाम इंस्टेंट कैमरा (Instant Camera) और टेलीग्राम (Telegram) से मिलकर बना हुआ था और इस एप में सबसे पहला फोटो 16 जुलाई, 2010 को ही पोस्ट किया गया, जो की केविन सिस्ट्रोम की गर्लफ्रेंड का पैर और उनके कुत्ते का था। इस फोटो में इंस्टाग्राम को X-PRO2 फ़िल्टर यूज़ किया गया था।

 

हम सभी जानते हैं की इंस्टाग्राम में कई तरह के फिल्टर्स मौजूत हैं। लेकिन क्या आपको पता है की इस एप्लीकेशन में फिल्टर्स का फीचर्स कैसे आया? इसके पीछे भी एक दिलचस्प कहानी हैं। दरहसल यह आईडिया सिस्ट्रोम की गर्लफ्रेंड ने दिया था। उन्होंने सिस्ट्रोम से कहा कि वह अपनी फोटो ऐसी जगह पर क्यों शेयर करना चाहेगी जहाँ पर उनकी फोटो और भी आकर्षक न लगे। इसी बात को ध्यान में रखते हुए सिस्ट्रोम ने फोटो फिल्टर्स का कांसेप्ट एप्लीकेशन में डाला था जो की इंस्टाग्राम की सफलता का सबसे प्रमुख कारण हैं।

 

2010 में ओक्टुबर की महीने की 6 तारीख को इंस्टाग्राम की आधिकारिक एप्लीकेशन IOS के लिए App Store पर लांच की गई और इंटरेस्टिंग बात यह है कि 2 साल के लंबे इंतजार के बाद इंस्टाग्राम का एंड्राइड एप्लीकेशन (Google Play) लांच किया गया और तब तक इंस्टाग्राम और तब तक इंस्टाग्राम लोगों के बीच इतना लोकप्रिय हो चूका था की लॉन्चिंग के पहले ही दिन Play Store से इसे 10 लाख बार डाउनलोड किया गया, जो की उस समय के किसी भी एप्लीकेशन के लिए बहुत बड़ी बात थी और इंस्टाग्राम की यह सफलता अब धीरे-धीरे फेसबुक (Facebook) को पीछे छोड़ने की राह दिखाई दे रही थी।

 

यह सब फेसबुक के फाउंडर मार्क ज़ुकेरबर्ग (Mark Zuckerberg) भी देख रहे थे और इसलिए 2012 में मार्क ने इंस्टाग्राम को 1 बिलियन डॉलर की बड़ी रकम देकर खरीद लिया। आगे भी इंस्टाग्राम की एप्लीकेशन को लोगों के हिसाब से इम्प्रूव किया गया और सेविसेस को और भी बेहतर बनाने के लिए इंस्टाग्राम के 3 Stand Alone Application लांच किये गए जो की था Bolt, Hyperlapse और Boomerang और फिर इंस्टाग्राम ने 2010 से अभी तक 11 साल के रोमांचक सफर में काफी सारे बदलाव किए।

 

इंस्टाग्राम एक बात जो बदलती रही है वह है इसकी लोकप्रियता। आज के समय में इस कंपनी की वैल्यूएशन लगभग 30-50 बिलियन डॉलर के बीच आ गई है और यही नंबरइस बात की सबूत है कि इंस्टाग्राम आज की समय में कितना ज़्यादा लोकप्रिय हो चूका है।

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

ग्वालियर - बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता शातिर चोर पकडे 10 लाख का माल बरामद। महाराजपुरा पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा चोरों का ग्रुप महाराजपुरा थाना प्रभारी मिर्ज़ा आसिफ बेग और उनकी टीम के द्वारा कार्यवाही की गई। महराजपुरा टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई।  10 लाख का माल भी बरामद किया गया।  महाराजपुर टीआई मिर्जा बेग ने बताया चोरों से 6 एलसीडी 8 लैपटॉप दो होम थिएटर 6 मोबाइल फोन एक स्कूटी टेबल फैन सिलेंडर बरामद हुआ है उनसे करीब 4 चोरियों का खुलासा हुआ है करीब 10 चोरियां कि गिरोह ने हामी भरी है 

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

कोरोना की स्थिति गंभीर होने पर कई राज्यों में फिर लॉकडाउन की स्थिति, सभी सीमाएं भी की जा रही हैं सील...। भोपाल। मध्यप्रदेश समेत पांच राज्य एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहे हैं। मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ते मामलों के बाद रविवार को पूरे प्रदेश में लॉकडाउन (Complete Lockdown) लगाया जा रहा है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Covid 19) की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्र ने तय किया है कि अब सप्ताह में एक दिन रविवार को पूरा प्रदेश बंद रहेगा। उधर, मध्यप्रदेश के अलावा बिहार, उत्तरप्रदेश में भी लाकडाउन के आदेश जारी कर दिए गए हैं।   मध्यप्रदेश में पिछले तीन दिनों में 11 सौ से अधिक संक्रमित मरीज मिलने और जबकि 409 एक ही दिन में संक्रमित मिलने के बाद यह फैसला लिया जा रहा है इस दौरान प्रदेश की सीमाएं भी सील की जा सकती है। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं ही चलती रहेंगी। गृह विभाग के बाद भोपाल समेत सभी जिलों के कलेक्टर अपने-अपने जिले के लिए एडवायजरी (Advisery'guideline) जारी कर रहे हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र के मुताबिक इस सप्ताह में एक दिन का लाकडाउन ही