-->
Coronavirus: जरूरत मंदों की सहायता के लिए आगे आई ‘टीम मदद’, सोशल मीडिया के जरिए दूर कर रही लोगों की मुश्किलें

Coronavirus: जरूरत मंदों की सहायता के लिए आगे आई ‘टीम मदद’, सोशल मीडिया के जरिए दूर कर रही लोगों की मुश्किलें


‘टीम मदद’ में सात महिलाओं समेत कुल 15 सदस्य हैं. यह सभी गोरखपुर के रहने वाले हैं और इनकी उम्र 20 से 35 वर्ष के बीच है. इनमें छात्र, सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार और विभिन्न क्षेत्रों के पेशेवर लोग शामिल हैं

Coronavirus: जरूरत मंदों की सहायता के लिए आगे आई 'टीम मदद', सोशल मीडिया के जरिए दूर कर रही लोगों की मुश्किलें
Coronavirus (फाइल फोटो- PTI)

गोरखपुर में कोविड-19 (Covid-19) महामारी के दौरान दवा, ऑक्सीजन और बेड को लेकर मची मारामारी के बीच कुछ युवाओं ने जरूरतमंदों की मदद करने का बीड़ा उठाया है. इन युवाओं द्वारा गठित ‘टीम मदद’ ने विभिन्न अस्पतालों में खाली आईसीयू बेड और वेंटिलेटर की सूचना देने से लेकर दवाओं की सुपुर्दगी तक की सेवाएं देना शुरू किया है. साथ ही मरीजों को लाने और ले जाने की व्यवस्था के अलावा जरूरतमंद रोगियों को प्लाज्मा तथा जरूरी सलाह मशविरे के इंतजाम की पहल भी की है.

‘टीम मदद’ में सात महिलाओं समेत कुल 15 सदस्य हैं. यह सभी गोरखपुर के रहने वाले हैं और इनकी उम्र 20 से 35 वर्ष के बीच है. इनमें छात्र, सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार और विभिन्न क्षेत्रों के पेशेवर लोग शामिल हैं.

टीम के सदस्य सत्यचरण राय ने मंगलवार को बताया, ‘हम लोग कोविड-19 महामारी की पहली लहर के दौरान सोशल मीडिया के जरिए एक दूसरे के संपर्क में आए थे. उसके बाद हमने ऑनलाइन बैठक की और प्रवासी श्रमिकों को भोजन के इंतजाम का फैसला किया. हममें से प्रत्येक सदस्य ने अपने-अपने इलाके में स्थानीय लोगों की मदद से प्रवासी श्रमिकों को भोजन उपलब्ध कराया.”

जरूरतमंदों ने फोन पर मांगी मदद

उन्होंने कहा, ‘महामारी की दूसरी लहर के दौरान, खासकर, पिछले महीने जब अनेक रोगियों को दवा नहीं मिल रही थी तब हमने औषधियों के थोक विक्रेताओं से संपर्क कर मरीजों तक दवा पहुंचाने में मदद शुरू की और उन्हें दवाओं की उपलब्धता वाले प्रतिष्ठानों के बारे में भी बताया. हमने सोशल मीडिया पर अपने नंबर साझा किए जिस पर जरूरतमंद लोगों ने फोन करके मदद मांगना शुरू किया.’

‘टीम मदद’ ने दिलाया बेड

महामारी के इस मुश्किल दौर में ‘टीम मदद’ से मिली सहायता से बेहद संतुष्ट विष्णुपुरा गांव के रहने वाले शमशाद अंसारी ने बताया कि उनकी पत्नी नफीसा खातून को गुर्दे की गंभीर बीमारी है और मई के पहले हफ्ते के दौरान वह कोविड-19 से संक्रमित भी हो गई.

उन्होंने बताया “ जब नफीसा के लिए कोई आईसीयू बेड नहीं मिला तो उन्होंने ‘टीम मदद’ को फोन करके इस बारे में बताया. टीम ने उनकी पत्नी को न सिर्फ आईसीयू बेड दिलवाया बल्कि दवा हासिल करने में भी मदद की. अब उनकी पत्नी खतरे से बाहर हैं. इसके लिए वह टीम मदद के हमेशा शुक्रगुजार रहेंगे.”

0 Response to "Coronavirus: जरूरत मंदों की सहायता के लिए आगे आई ‘टीम मदद’, सोशल मीडिया के जरिए दूर कर रही लोगों की मुश्किलें"

Post a Comment

Slider Post