Skip to main content

दुनिया की बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin में आई गिरावट, लेकिन Enjin Coin समेत इन 5 करेंसी में रिकॉर्ड तोड़ तेजी


Today Cryptocurrency Price in INR: दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin में दो दिन की तेजी के बाद आज गिरावट देखने को मिल रही है. लेकिन कई ऐसी करेंसी जिनमें जोरदार तेजी बनी हुई है. आइए जानें क्रिप्टोकरेंसी मार्केट का हाल

दुनिया की बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin में आई गिरावट, लेकिन Enjin Coin समेत इन 5 करेंसी में रिकॉर्ड तोड़ तेजी

क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में भारी उतार-चढ़ाव बना हुआ है. बुधवार के बाद गुरुवार को दुनिया की जानी-मानी और सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin और Ethereum में गिरावट आई है. Bitcoin 38000 डॉलर (28.50 लाख रुपये) से गिरकर 37000 डॉलर (27.75 लाख रुपये) पर आ गई है. वहीं,  Ethereum के दाम 2800 डॉलर (2.10 लाख रुपये) के मुकाबले 2600 डॉलर (1.95 लाख रुपये) पर आ गए है. क्रिप्टोकरेंसी बाजार से जुड़े जानकारों का कहना है कि फिलहाल किप्टोबाजार मार्केट में अच्छी खबरें नहीं आ रही है. लगातार सरकारें इस पर प्रतिबंध लगा रही है. इसीलिए क्रिप्टोकरेंसी में गिरावट का रुख बना हुआ है. हालांकि, अगले कुछ दिनों में हालात बेहतर होने की उम्मीद है.

आपको बता दें कि भारत को दुनिया के सबसे बड़े आईटी हब में से एक माना जाता है. यही कारण है कि यहां ट्रेडर्स के बीच इथेरियम क्रिप्टोकरेंसी काफी पॉपुलर है. भारत में इथेरियम ब्‍लॉकचेन पर काम करने वाले बहुत सारे डेवलपर्स भी इसकी विश्विसनीयता को बढ़ावा दे रहे हैं. क्रिप्‍टोकरेंसी एक्‍सचेंज BuyUcoin ने एक सर्वे रिपोर्ट में भारत में इथेरियम को लेकर कई जानकारी दी है.

पिछले एक साल में इथेरियम का भाव रिकॉर्ड 1,187.3 फीसदी बढ़ गया है. इसके साथ अब इसकी मार्केट वैल्‍यूएशन 313.9 अरब डॉलर पहुंच चुकी है.

भारतीय करेंसी में यह करीब 22.8 लाख करोड़ रुपये है. इथेरियम एक तरह का ब्‍लॉकचेन आधारिक प्‍लेटफॉर्म है जो डिसेन्‍ट्रलाइज्‍ड ऐप्‍स और स्‍मार्ट कॉन्‍ट्रैक्‍ट्स बनाता है. इथेरियम ब्‍लॉकचेन पर ट्रांजैक्‍शन करने के लिए नेटिव करेंसी ईथर है.

इथेरियम को 2015 में वितालिक बुटेरिन ने 2015 में बनाया था. इसे एक तरह के डिजिटल करेंसी के रूप में भी जाना जाता है.

26 मई सुबह 10:25 बजे तक दुनिया की सबसे बड़ी 9 क्रिप्टोकरेंसी के रेट्स (ये आंकड़े coinmarketcap.com से लिए गए है)

Bitcoin: $37625

Ethereum: $2683

Tether: $1

Binance Coin: $349

Cardano: $1.67

Dogecoin: $0.3342

XRP: $0.9594

Polkadot: $22.39

Internet Computer: $133.08

आज इन क्रिप्टोकरेंसी में आई जोरदार तेजी

Chiliz 12 फीसदी बढ़कर 0.2992 डॉलर

Holo 25 फीसदी बढ़कर 0.009905 डॉलर

Enjin Coin 40 फीसदी बढ़कर 1.81 डॉलर

Stacks 15 फीसदी बढ़कर 1.16 डॉलर

Livepeer 16 फीसदी बढ़कर 31.08 डॉलर

क्यों बना हुआ है क्रिप्टोकरेंसी में भारी उतार-चढ़ाव

जिन लोगों के पास एक बड़ी मात्रा में क्रिप्टोक्यूरेंसी होती हैं, उन्हें क्रिप्टोवर्ल्ड में व्हेल के रूप में जाना जाता है. जैसे ही उनके पास बड़ी मात्रा में सिक्के होते हैं, वे क्रिप्टोकरेंसी की वैल्यूएशन को आसानी से मैन्युप्लेट करते है. अक्सर कीमत में उतार-चढ़ाव इसी वजह से आता है.

जो कुछ दिनों पहले क्रिप्टोकुरेंसी बिटकॉइन के साथ हुआ था. Dogecoin ‘व्हेल’ खाते को देखते हुए, उस व्यक्ति के पास लगभग 12 बिलियन डॉलर (करीब 8,752 करोड़ रुपये) की क्रिप्टोकरेंसी है. हाल ही में मूल्य में गिरावट के बावजूद व्हेल के खाते की होल्डिंग बरकरार है.

कैसे चलता है क्रिप्टोकरेंसी का ये पूरा खेल…

व्हेल, आम तौर पर, बड़े पैमाने पर सेल ऑर्डर देते है. ये बिक्री मार्केट प्राइस से कम दाम पर होती है. ऐसे में कीमतों में भारी गिरावट आती है. कीमतों में भारी गिरावट निवेशकों में घबराहट पैदा करती है. इसी वजह से बाजार में अस्थिरता बढ़ाती है.

मार्केट तभी स्थिर होगा जब व्हेल अपने बड़े बिक्री ऑर्डर को बाजार से हटा देंगे. लेकिन ये बड़े निवेशक जिनके व्हेल कहते है वो मार्केट में घबराहट बरकरार रखना चाहते है ताकि उन्हें कम कीमत में और क्रिप्टोकरेंसी खरीदने का मौका मिलता रहें.

इस तरह के मामले पहले शेयर बाजारों में भी आते थे. लेकिन शेयर बाजार के लिए रेग्युलेटर बन गया है. साथ ही, इसके नियम भी कड़े कर दिए गए है. इसीलिए अब इस तरह के मामले नहीं आते है

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

ग्वालियर - बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता शातिर चोर पकडे 10 लाख का माल बरामद। महाराजपुरा पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा चोरों का ग्रुप महाराजपुरा थाना प्रभारी मिर्ज़ा आसिफ बेग और उनकी टीम के द्वारा कार्यवाही की गई। महराजपुरा टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई।  10 लाख का माल भी बरामद किया गया।  महाराजपुर टीआई मिर्जा बेग ने बताया चोरों से 6 एलसीडी 8 लैपटॉप दो होम थिएटर 6 मोबाइल फोन एक स्कूटी टेबल फैन सिलेंडर बरामद हुआ है उनसे करीब 4 चोरियों का खुलासा हुआ है करीब 10 चोरियां कि गिरोह ने हामी भरी है 

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

कोरोना की स्थिति गंभीर होने पर कई राज्यों में फिर लॉकडाउन की स्थिति, सभी सीमाएं भी की जा रही हैं सील...। भोपाल। मध्यप्रदेश समेत पांच राज्य एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहे हैं। मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ते मामलों के बाद रविवार को पूरे प्रदेश में लॉकडाउन (Complete Lockdown) लगाया जा रहा है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Covid 19) की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्र ने तय किया है कि अब सप्ताह में एक दिन रविवार को पूरा प्रदेश बंद रहेगा। उधर, मध्यप्रदेश के अलावा बिहार, उत्तरप्रदेश में भी लाकडाउन के आदेश जारी कर दिए गए हैं।   मध्यप्रदेश में पिछले तीन दिनों में 11 सौ से अधिक संक्रमित मरीज मिलने और जबकि 409 एक ही दिन में संक्रमित मिलने के बाद यह फैसला लिया जा रहा है इस दौरान प्रदेश की सीमाएं भी सील की जा सकती है। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं ही चलती रहेंगी। गृह विभाग के बाद भोपाल समेत सभी जिलों के कलेक्टर अपने-अपने जिले के लिए एडवायजरी (Advisery'guideline) जारी कर रहे हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र के मुताबिक इस सप्ताह में एक दिन का लाकडाउन ही