पेट के लिए रामबाण हैं ये छोटे-छोटे बीज और इसके छिलके, जानिए इसके और फायदे



ईसबगोल के बारीक दानों और इसकी भूसी को आयुर्वेद में पेट की तमाम समस्याओं के लिए रामबाण औषधि माना गया है. यहां जानिए इसके अन्य फायदे और लेने का तरीका

पेट के लिए रामबाण हैं ये छोटे-छोटे बीज और इसके छिलके, जानिए इसके और फायदे
पेट के लिए रामबाण हैं ये छोटे-छोटे बीज और इसके छिलके, जानिए इसके और फायदे

आपने घर में कई बड़े बुजुर्गों को ईसबगोल के बारीक दाने और इसकी भूसी का प्रयोग करते हुए देखा होगा. ईसबगोल को आयुर्वेद में पेट की तमाम समस्याओं के लिए रामबाण औषधि माना गया है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि ईसबगोल होता क्या है और इसके और क्या फायदे हैं ? आइए आपको बताते हैं.

दरअसल ईसबगोल प्लांटागो ओवाटा नामक पौधे का बीज होता है. ये पौधा देखने में गेहूं के पौधों जैसा होता है. इसमें छोटी-छोटी पत्तियां और फूल भी लगे होते हैं. इस पौधे पर उगे बीज सफेद रंग के पदार्थ से ढके रहते हैं. इस सफेद पदार्थ को ही ईसबगोल की भूसी कहा जाता है. ईसबगोल के दानों और भूसी में ढेरों औषधीय गुण पाए जाते हैं. लेकिन ज्यादातर लोग तमाम समस्याओं में इसकी भूसी का इस्तेमाल करते हैं.

फाइबर युक्त होती है भूसी

ईसबगोल की भूसी में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है. ये पाचन संबन्धी समस्याओं में बहुत हद तक कारगर है. ईसबगोल की भूसी का सेवन करने से गैस, एसिडिटी, पेचिस, कब्ज, दस्त आदि की समस्या में काफी आराम मिलता है. ईसबगोल की भूसी का सेवन किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं.

डायबिटीज में मददगार

ईसबगोल की भूसी डायबिटीज के रोगियों के लिए भी काफी लाभकारी है.कई शोध में ये साबित हो चुका है कि डायबिटीज के मरीजों के लिए फाइबर रिच डाइट काफी फायदेमंद है. इससे इंसुलिन और ब्लड शुगर लेवल कम होता है, जिसकी वजह से डायबिटीज नियंत्रित रहती है.

वजन कम करने में मददगार

आजकल वजन बढ़ना भी एक बड़ी समस्या है, इसकी वजह से तमाम परेशानियां लोगों को घेर लेती हैं. ऐसे में ईसबगोल आपका वजन कम करने में मददगार साबित हो सकता है. इसे खाने के बाद पेट काफी देर तक भरा रहता है, जिसकी वजह से आप बेवजह कुछ खाने से बच जाते हैं.

पाइल्स की समस्या में लाभकारी

लंबे समय तक कब्ज की परेशानी रहने से कई बार वो पाइल्स का रूप ले लेती है. इसमें गुदा के आस पास की नसें सूज जाती हैं, जिसकी वजह से काफी परेशानी होती है. ईसबगोल का सेवन कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक है, इस वजह से पाइल्स में भी काफी आराम होता है.

बीपी और हार्ट डिजीज

बीपी की समस्या और हार्ट डिजीज से जूझ रहे लोगों के लिए भी ईसबगोल और इसकी भूसी को फायदेमंद माना जाता है. ईसबगोल की भूसी फाइबर युक्त होने के साथ ये कोलेस्ट्रॉल फ्री होती है. इसके अलावा ह्रदय की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में भी मददगार होती है.

ऐसे करें सेवन

एक से डेढ़ चम्मच ईसबगोल की भूसी को आप एक गिलास पानी में पांच मिनट के लिए छोड़ दें. थोड़ी देर में चिकना जेल जैसा तैयार हो जाएगा. अब इस जेल को पी लें. ऐसा रोजाना सोने से पहले करें. इसके अलावा आप भूसी को छाछ या दही में डालकर भी ले सकते हैं. पेट साफ नहीं होता तो आप एक एक चम्मच त्रिफला पाउडर और दो चम्मच भूसी को गर्म पानी में डालकर लें. इसे रात के डिनर के बाद लें.

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता