क्या आप अपनी बेटी को बॉयफ्रेंड बनाने की इज़ाज़त देंगी ?

Copy By Quota Text

सिर्फ़ मैं ही नहीं मेरे पूरे परिवार ने अपने युवावस्था में कदम रखते हुए बच्चों से कह रखा है कि उन्हें अपने जीवनसाथी का चयन ख़ुद करना है। इस वजह से वे बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड बनाने के लिए, उन्हें परिवार वालों से मिलवाने के लिए स्वतंत्र हैं।

हम यह मानते हैं कि जिसके लिए जितना रोका जाता है उसके लिए इच्छा उतनी अधिक तीव्र होती है।

मैंने अपनी बेटी से कहा है कि जब भी कोई युवक उसे थोड़ा भी अच्छा लगता है वह हमें बताए ताकि रिश्ता के आगे बढ़ने से पहले बेटी को सही या ग़लत बता सकें।

जैसे जैसे बेटी की बॉयफ्रेंड से नजदीकियां बढ़ेगी हम भी दिल से उसके करीब आएंगे। वह कहां किसके साथ है यह हमें मोबाइल के कारण पता होगा।

हमारी बेटी ऐसी है जो अपने माता पिता का भरोसा नहीं तोड़ेगी। हम उसके सभी दोस्तों को अच्छी तरह जानते हैं। वह कोई ऐसा कुछ नहीं करेगी जिससे हमें शर्मिंदा होना पड़े। क्योंकि समाज में उसकी इज़्ज़त हमसे ज्यादा है। हम उसके माता पिता होने पर गर्व का अनुभव करते हैं।

हमने अपनी बेटी से कहा है कि जब वह जिससे चाहे अपनी पसंद के युवक यानी बॉयफ्रेंड से माता पिता की सहमती से विवाह करने के लिए स्वतंत्र है। सिर्फ़ एक बात का ध्यान रखे कि विवाह जीवनभर का पवित्र बन्धन है।

Comments

Popular posts from this blog

कोरोना का खौफ : भारत की सबसे बड़ी देहमंडी में पसरा सन्नाटा

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

Janta Curfew के बीच कोरोना के डर से युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- सभी अपना टेस्ट कर लेना