-->
विरोध / कम्प्यूटर बाबा बोले- शिवराज सरकार के आते ही रेत माफिया सक्रिय, अवैध खनन नहीं रुका तो हजारों संत नर्मदा किनारे रोकने पहुंचेंगे

विरोध / कम्प्यूटर बाबा बोले- शिवराज सरकार के आते ही रेत माफिया सक्रिय, अवैध खनन नहीं रुका तो हजारों संत नर्मदा किनारे रोकने पहुंचेंगे


  • बाबा ने शिवराज सरकार पर नर्मदा नदी के किनारे पौधारोपण को लेकर भी निशाना साधा था।बाबा ने शिवराज सरकार पर नर्मदा नदी के किनारे पौधारोपण को लेकर भी निशाना साधा था।

  • देवास में 28 जून को माफियाओं ने पुलिसकर्मियों और एसडीओपी के चालक पर हमला किया था

इंदौर. कम्प्यूटर बाबा एक बार फिर शिवराज सरकार के खिलाफ मुखर हो गए हैं। मंगलवार को उन्होंने सरकार पर निशाना साधा और कहा- शिवराज सरकार के आते ही रेत माफिया सक्रिय हो गए हैं। पिछले दिनों जो खनिज अधिकारियों पर हमला हुआ, उसमें पुलिस जवान घायल हुए, वह बहुत ही निंदनीय है। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अवैध खनन नहीं होना चाहिए, चाहे वो नर्मदा हो या फिर अन्य नदी... ऐसा होने पर संत समाज चुप नहीं बैठेगा। हजारों साधु-संत नर्मदा किनारे आकर अवैध खनन को रोकेगा, चाहे इसके परिणाम जाे भी हों।

यह है मामला
रविवार शाम काे एसडीओपी ब्रजेश सिंह कुशवाह दो पुलिसकर्मियों के साथ कन्नौद से सतवास आ रहे थे, तभी उन्हें रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्राॅली नजर आई। उन्होंने उसे रोकने का प्रयास किया, लेकिन चालक आगे बढ़ गया। तब एसडीओपी की गाड़ी के चालक हिमांशु उतरकर ट्रैक्टर चालक के पास पहुंचे। आरोपी ट्रैक्टर चालक ने सीट के पास रखी लकड़ी और राॅड से हिमांशु पर हमला कर दिया। यह देखकर गाड़ी में बैठे दो पुलिसकर्मी उसे बचाने गए तो ट्रैक्टर चालक ने आवाज लगाकर अपने अन्य साथियों को बुला लिया।

करीब 5 से 6 अज्ञात हमलावरों ने दाेनाें पुलिसकर्मियों और चालक पर हमला कर दिया। इससे एसडीओपी के चालक हिमांशु को सिर में चोट आई और उसे टांके लगाने पड़े। जबकि एक सिपाही संदीप जाट के हाथ पर चोट लगी। एसडीओपी की गाड़ी में तोड़फोड़ और हमले की सूचना के बाद एएसपी ग्रामीण सूर्यकांत शर्मा सतवास पहुंचे। एसडीओपी ब्रजेशसिंह कुशवाह ने बताया कि हमला हाेने पर मैं गाड़ी से उतरा और चिल्लाते हुए बाेला कि मैं एसडीओपी हूं। तुम्हें गाड़ी की नंबर प्लेट नहीं दिख रही है क्या। तब जाकर आराेपी भाग गए। मुझे चोट नहीं आई।

0 Response to "विरोध / कम्प्यूटर बाबा बोले- शिवराज सरकार के आते ही रेत माफिया सक्रिय, अवैध खनन नहीं रुका तो हजारों संत नर्मदा किनारे रोकने पहुंचेंगे"

Post a Comment

Slider Post