मध्य प्रदेश में दो हादसे / शिवपुरी में दो सगी बहनों और सागर में दो भाईयों समेत 7 बच्चों की डूबने से मौत, गड्ढ़ों में भरे पानी में नहाने गए थे


  • सागर के बीना में गड्ढ़े में नहाने गए तीन बच्चों की डूबने से मौत हो गई। यहां पर बच्चों के मरने की सूचना पर पहुंची मां अपने उन्हें देखकर बिलख पड़ी।सागर के बीना में गड्ढ़े में नहाने गए तीन बच्चों की डूबने से मौत हो गई। यहां पर बच्चों के मरने की सूचना पर पहुंची मां अपने उन्हें देखकर बिलख पड़ी।

  • सागर और शिवपुरी में दो दर्दनाक घटनाएं, शिवपुरी में चार लड़कियां रविवार को शाम जामुन खाने निकली थीं

सागर/शिवपुरी. सागर जिले के बीना थाना क्षेत्र में सोमवार को पानी से भरे गड्ढे में डूबने से तीन बच्चों की मौत हो गई। इनमें दो सगे भाई हैं। वहीं शिवपुरी के सतनबाड़ा थाना क्षेत्र में ग्राम मजरा हरनगर में दो सगी सहित तीन मासूमों की पानी से भरे 20 फीट गहरे गड्ढे में डूबने से मौत हो गई। इधर, छिंदवाड़ा के समीपस्थ काराबोह बांध में दोस्तों के साथ नहाने गया 18 साल के गौरव डाहके गहरे पानी में चले जाने से डूब गया और उसकी मौत हो गई।

सागर के बीना में हुए हादसे के बाद मौके पर पुलिस बल पहुंच गया। 

पुलिस के मुताबिक, शास्त्री वार्ड नई सब्जी मंडी के पीछे एक कॉम्पलेक्स के पास ओवरब्रिज का निर्माण कराया जा रहा है। ब्रिज के निर्माण के लिए पिलर खड़े करने के लिए गड्ढे खोदे गए थे। लॉकडाउन के चलते काम बंद हो गया और बारिश से इन गड्ढों में पानी भर गया। सुबह बच्चे इन गड्ढों में नहाए के लिए गए, जहां डूबने से मुल्लू (16), कान्हा (9) और उमेश (12) की मौत हो गई। इसमें कान्हा और उमेश दोनों सगे भाई है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में ले लिया है। पंचनामा कार्रवाई के बाद तीनों शव पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल ले जाए गए हैं।

दूसरी घटना- शिवपुरी में 2 बहनों समेत तीन बच्चों की डूबने से मौत
शिवपुरी जिले में सतनबाड़ा थाना के तहत ग्राम मजरा हरनगर में दो बहनों सहित तीन मासूमों की पानी से भरे 20 फीट गहरे गड्ढे में डूबने से मौत हो गई। रविवार शाम को घर से चार लड़कियां जामुन खाने की कहकर घर से निकलीं थीं। एक वापस आ गई, तीन रात तक घर नहीं लौटी तो सरपंच परवीन मल्होत्रा ने एसपी राजेश चंदेल को जानकारी दी। रात भर पुलिस और ग्रामीणों ने तलाश किया। सोमवार सुबह तीनों का शव गहरे गड्ढे से बरामद हुए हैं।

पुलिस ने बताया कि मृतक 12 वर्षीय शकीला पुत्री अशोक और 9 वर्षीय ललिता आदिवासी व उसकी 10 वर्षीय बहन नंदनी (10) पुत्री कल्याण आदिवासी हैं। शकीला करीबी रिश्तेदार की बेटी है। जिस गड्ढे में लाश मिली उसे बरसात का पानी साल भर उपयोग करने के लिए ग्रामीणों ने ही खोदा है। ग्रामीणों का कहना है ऐसा लग रहा है कि किसी एक का पैर फिसलने के बाद एक-दूसरे को बचाने के फेर में तीनों की जान चली गई।

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News