Skip to main content

लोकसभा चुनाव 2019: राहुल गांधी का पीएम पर हमला, पूछा- पुलवामा के मास्टर माइड को आखिर किसने छोड़ा



दिल्ली में बूथ कार्यकर्ताओं को राहुल गांधी ने किया संबोधित


राहुल गांधी ने फिर दोहराया चौकीदार चोर है का नारा


पुलवामा आतंकी हमले पर पीएम मोदी को घेरा


नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में कांग्रेस के बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर हमला बोला। एक बार फिर उन्होंने पीएम मोदी के लिए चौकीदार चोर है का नारा दोहराया। उन्होंने कहा कि पांच साल पहले एक चौकीदार आया था और यह पार्टी का ही कमाल है कि आज कहीं भी चौकीदार बोले तो दूसरी ओर से आवाज आती है, चौकीदार चोर है।

 

ANI

@ANI

#WATCH Rahul Gandhi in Delhi: You would remember that during their(NDA) last Govt, current National Security Advisor Ajit Doval went to Kandahar to hand over Masood Azhar.

409


पीएम मुझ से आंख नहीं मिला पाएं: राहुल

राहुल ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मैने ने सदन में चार सवाल पूछे थे लेकिन पीएम मोदी अभी तक किसी भी सवाल का जवाब नहीं दे पाए हैं। पीएम ने सदन में डेढ़ घंटे का भाषण दिया, लेकिन वह मुझसे आंख नहीं मिला सके। वहीं, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश विधानसभा में मिली जीत पर बोलते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सभी यह सोच रहे थे कि यहां बीजेपी के पास बहुत पैसा है, यहां तो उनकी ही सरकार दोबारा आएगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ यहां कांग्रेस की सरकार बनी।

पुलवामा को लेकर निशाना

वहीं, पुलवामा आतंकी हमले पर बोलते हुए राहुल ने कहा कि वहां जो हमला हुआ जैश-ए-मोहम्मद ने किया। इसके पीछे मसूद अजहर था। उसे कंधार में किसने छोड़ा, आज जो हमारे सुरक्षा सलाहकार हैं अजीत डोभाल उन्होंने ही मसूद पाकिस्तान को सौंपा था।

नोटबंदी पर फिर से घेरा

कांग्रेस अध्यक्ष ने नोटबंदी पर बोलते हुए कहा कि मोदी जी कहते हैं कि दो करोड़ युवाओं को रोजगार दूंगा, लेकिन उन्होंने रात को 8 बजे नोटबंदी घोषित कर दी। नोटबंदी से नजाने कितने लोग बेराजगार हो गए। कितने लोगों न बैक की लाइन में खड़े-खड़े दम तोड़ दिया। बता दें कि इस सम्मेलन में दिल्ली के करीब 14 हजार ब्लॉक और बूथ स्तरीय कार्यकर्ता शामिल हुए, साथ ही पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेता भी मौजूद थें।

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories