आपके स्मार्टफोन की ओटीजी से आप भी उठा सकते हैं ये सारे फायदे


अब ओटीजी अडैप्टर का इस्तेमाल करके यूएसबी फ्लैश ड्राइव, पोर्टेबल हार्ड ड्राइव या माइक्रोएसडी कार्ड को स्मार्टफोन से कनेक्ट कर सकते हैं।


अब लगभग हर एंड्रॉइड फोन में यूएसबी ऑन-द-गो (ओटीजी) फीचर आने लगा है। इस फीचर का सही इस्तेमाल किया जाए तो आप स्मार्टफोन से कई काम आसानी से पूरे कर सकते हैं। जानते हैं इस फीचर की उपयोगिता के बारे में-

डाटा शेयरिंग बनाएं आसान
शेयरइट और जेंडर जैसे एप्स ने स्मार्ट डिवाइस के बीच कंटेंट को वायरलेस ट्रांसफर करना आसान बनाया है। लेकिन यदि आप बड़ी मात्रा में डाटा को कॉपी करना चाहते हैं तो आप क्या करेंगे? अब ओटीजी अडैप्टर का इस्तेमाल करके यूएसबी (USB) फ्लैश ड्राइव, पोर्टेबल हार्ड ड्राइव या माइक्रोएसडी कार्ड को स्मार्टफोन से कनेक्ट कर सकते हैं।


मिनी डेस्कटॉप बनाएं
यूएसबी ओटीजी अडैप्टर से नेविगेशन और इनपुट के लिए स्मार्टफोन से वायर्ड कीबोर्ड या माउस कनेक्ट कर सकते हैं। एंड्रॉइड अपने आप कनेक्टेड कीबोर्ड डिटेक्ट कर लेता है और थर्ड-पार्टी ड्राइवर इंस्टॉल करने की जरूरत भी नहीं होती। सिर्फ कनेक्ट करें और सीधे किसी भी एप में टाइपिंग करें।

बिना कम्प्यूटर प्रिंट करें
आप फोन में स्टोर किसी चीज का प्रिंट लेने के लिए ओटीजी काम में ले सकते हैं। प्रिंटर के साथ आने वाली यूएसबी केबल से स्मार्टफोन और यूएसबी ओटीजी अडैप्टर को कनेक्ट करें। ऑप्शन मेन्यू से प्रिंट कमांड सलेक्ट करते हैं तो ज्यादातर नए प्रिंटर्स अपने आप फोन में दिखाई देने लगते हैं।

डीएसएलआर पर कंट्रोल पाएं
अब डीएसएलआर में रिमोल कंट्रोल और वायरलेस ट्रांसफर के लिए वाई-फाई जुड़ गया है। यूएसबी ओटीजी अडैप्टर और डाटा ट्रांसफर केबल से कैमरा को स्मार्टफोन से कनेक्ट करें। प्ले स्टोर से डीएसएलआर कंट्रोल एप इंस्टॉल करें। यह निकॉन या कैनन डीएसएलआर शटर को कंट्रोल करने की इजाजत देता है।

गेम्स को बेहतर बनाएं
टचस्क्रीन से गेम्स खेलना हर किसी के बस की बात नहीं है। खासतौर पर थर्ड-पार्टी एक्शन या रेसिंग गेम्स में ऐसा होता है। ओटीजी से वायर्ड गेम कंट्रोलर को स्मार्टफोन से कनेक्ट कर सकते हैं और गेमिंग का मजा ले सकते हैं। जो गेम्स सपोर्ट करते हैं, उनमें कंट्रोलर के वन-टाइम कॉन्फिगर की जरूरत पड़ती है।

रियल थर्मल इमेजिंग
थर्मल इमेजिंग कैमरों के निर्माता एफएलआईआर ने एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स के लिए यूएसबी ओटीजी एफएलआईआर कैमरा बनाया है। इस 29 ग्राम की एक्सेसरी को ऑन करने के बाद एफएलआईआर एप को डाउनलोड करें और कॉन्टैक्टलेस थर्मल कैमरा मिल जाएगा। इसमें खुद की बैटरी होती है। इसलिए यह कनेक्टेड डिवाइस से पावर कन्ज्यूम नहीं करता है। बिल्ट इन एफएलआईआर कैमरा वाले स्मार्टफोन (कैट एस 60) की तरह यह एमएसएक्स टेक्नोलॉजी काम में लेता है। आप डिटेल्स के साथ टेंपरेचर भी देख सकते हैं।

तेज इंटरनेट चाहिए
डेस्कटॉप पर कनेक्टिविटी के लिए मुख्य रूप से ईथरनेट काम में लिया जाता है। यदि वाई-फाई उपलब्ध नहीं है या तेज स्पीड की जरूरत है तो आप अपने स्मार्टफोन पर भी इसे इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए दो चीज चाहिए- एक यूएसबी ओटीजी अडैप्टर और एक यूएसबी टू ईथरनेट अडैप्टर। दोनों अडैप्टर को एक साथ कनेक्ट करें और ईथरनेट केबल प्लग-इन करें। सुनिश्चित करें कि वाई-फाई और 3जी/4जी डाटा स्विच ऑफ रहें ताकि फोन वायर्ड कनेक्शन पर स्विच कर सके।

बैटरी कैपिसिटी बढ़ाएं
बाजार में कई ऐसे एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स आ रहे हैं, जिनमें 5000 एमएएच बैटरीज होती हैं। ये रिवर्स चार्जिंग को भी सपोर्ट करती हैं। इसके लिए आपको अपने मोबाइल फोन मॉडल को चेक करना होगा। इस तरह के स्मार्टफोन्स पर आप दूसरे स्मार्टफोन को ओटीजी की मदद से चार्जिंग केबल से कनेक्ट कर सकते हैं। इस तरह आप पहले स्मार्टफोन को पोर्टेबल पावर बैंक की तरह काम में ले सकते हैं। अगर आपके फिटनेस बैंड की पावर खत्म हो गई है तो आप इसी तरह से चार्ज कर सकते हैं। यह तरीका काफी उपयोगी है।

क्या आपका फोन ओटीजी सपोर्ट करता है?
फोन में ओटीजी सपोर्ट को चेक करने के कई तरीके हैं। कंपनियां इस बात को अपनी वेबसाइट पर मेंशन करती हैं, वहीं कुछ मोबाइल फोन की सेटिंग्स में ओटीजी को इनेबल-डिसेबल करने का विकल्प रखती हैं। एक साधारण तरीका है कि आप यूएसबी ओटीजी चेकर या यूएसबी ओटीजी टेस्टर जैसे फ्री एप्स की मदद लें। आप चाहें तो पैसेफिक डवलपर्स का सीपीयू-एक्स भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह विस्तृत एंड्रॉइड डिवाइस इन्फॉर्मेशन दर्शाता है।

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News