मारुति- टेक महिंद्रा समेत देश की ये बड़ी कंपनियां दे रही है घर बैठे डबल कमाई का मौका! जानिए सबकुछ


बीते कुछ दिनों में कई आईटी और ऑटो कंपनियों के अपने तिमाही नतीजों का ऐलान किया है. इन कंपनियों ने अच्छे रिजल्ट्स के साथ-साथ डिविडेंड देने की घोषणा भी की है. ऐसे में निवेशकों के पास डबल कमाई का मौका है

मारुति- टेक महिंद्रा समेत देश की ये बड़ी कंपनियां दे रही है घर बैठे डबल कमाई का मौका! जानिए सबकुछ

बीते कुछ दिनों से एक शब्द काफी चर्चा में है. वो डिविडेंड है. अगर इसे आसान भाषा में समझने की कोशिश करें तो कंपनी को मुनाफा होता है. वो उसका कुछ हिस्सा अपने शेयरहोल्डर्स (शेयर खरीदने वालों) के साथ बांटती है. उसे डिविडेंड कहते हैं. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि जो पैसा कंपनी ने आपसे लिया है. उससे वो बिजनेस करती है और मुनाफे में से हिस्सा आपके साथ बांटती है. लेकिन शेयरहोल्डर्स को डिविडेंड देना कंपनी के लिए अनिवार्य नहीं होता है. अगर कोई कंपनी डिविडेंड दे रही है तो गारंटी नहीं है कि आगे भी वो भी देगी. डिविडेंड देना है या नहीं कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स पर निर्भर करता है.

डिविडेंड और डिविडेंड यील्ड क्या है

कंपनी का कुल मुनाफ़े में निवेशकों को दिया गया हिस्सा डिविडेंड कहलाता है.डिविडेंड प्रति शेयर के हिसाब से दिया जाता है. यानी जिस निवेशक के पास जितने अधिक शेयर होंगे उसकी डिविडेंड रकम उतनी ही अधिक होगी
लगातार बेहतर डिविडेंड का रिकॉर्ड रखने वाली कंपनी में निवेश सुरक्षित माना जाता है.

डिविडेंड यील्ड-डिविडेंड यील्ड से शेयर में सुरक्षित रिटर्न का अंदाज़ा मिलता है.यानी डिविडेंड यील्ड जितनी ज़्यादा होगी, निवेश उतना ही सुरक्षित होगा.डिविडेंड यील्ड= प्रति शेयर डिविडेंड X100/ शेयर भाव, 4% से ज़्यादा डिविडेंड यील्ड वाली कंपनियां ही डिविडेंड के आधार पर बेहतर

अब यहां पर ये सवाल उठता है कि डिविडेंड कितना मिलेगा ये कौन तय करता है?

एस्कॉर्ट सिक्योरिटी के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल का कहना है कि  कितना डिविडेंड देना है, ये कंपनी की सालाना मीटिंग में तय होता है.

इसे फाइनल डिविडेंड कहते हैं. अगर कंपनी वित्तीय वर्ष के बीच में ही डिविडेंड दे तो उसे इंटरिम डिविडेंड या अंतरिम लाभांश कहा जाता है. इंटरिम डिविडेंड तब दिया जाता है, जब कंपनी किसी वित्तीय वर्ष की पहली छमाही में प्रॉफिट कमाती है.

अभी कौन-कौन सी कंपनियों ने डिविडेंड देना का ऐलान किया है?

देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी TCS ने 15 रुपये प्रति शेयर के डिविडेंड का ऐलान किया है. वहीं, टेक महिंद्रा ने 30 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड देगी.  विप्रो ने 1 रुपये प्रति शेयर के डिविडेंड की घोषणा की है.

HCL टेक ने दो डिविडेंड देने का फैसला किया है. एक स्पेशल डिविडेंड है. ये 6 रुपये प्रति शेयर का है. वहीं,  10 रुपये प्रति शेयर का अंतरिम डिविडेंड है. ICICI  बैंक ने 2 रुपये प्रति शेयर के डिविडेंड का ऐलान किया है.

मिलता है डबल मुनाफा

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि डिविडेंड के साथ-साथ इन शेयरों में आगे चलकर अच्छे रिटर्न की उम्मीद की जा सकती है. वीएम पोर्टफोलियो के हेड विवेक मित्तल का कहना है कि अच्छे डिविडेंड यील्ड वाले शेयरों में पैसा लगाना फायदेमंद होता है. एक तो ये अच्छा प्रदर्शन करते है दूसरे इसमें डिविडेंड का फायदा मिलता है.

याद रखें ये जरूरी बातें

Record Date- डिविडें की घोषणा के साथ एक रिकॉर्ड डेट का भी ऐलान होता है. यह वो तारीख होती है, जिस दिन कंपनी अपनी रिकॉर्ड बुक्स में ये देखती है, अभी कंपनी के शेयर के किन-किन निवेशकों के पास है. यानी जिन लोगों के पास रिकॉर्ड डेट तक शेयर होता है उसके खाते में डिविडेंड के पैसे ट्रांसफर किए जाते है.

शेयर बाज़ार में कैसे करें निवेश

शेयर बाज़ार में ख़रीद-फरोख्त के लिए डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट होना ज़रूरी है. डीमैट अकाउंट यानी वो खाता जिसमें शेयर डीमैटरियलाइज़ फॉर्म में होते हैं. ट्रेडिंग अकाउंट में आप इंट्राडे में कारोबार कर सकते हैं

डीमैट के लिए ज़रूरी बातें-डीमैट खाता खुलवाने के लिए किसी बैंक में खाता होना ज़रूरी है.बैंक की चेकबुक या ऑनलाइन सुविधा होना भी ज़रूरी है. डीमैट खुलवाने के लिए पैनकार्ड होना ज़रूरी है. आवासीय पते का सबूत होना भी ज़रूरी है. ब्रोकिंग कंपनी अकाउंट खोलने की कुछ फीस वसूलती है. फीस सालाना है या एकमुश्त इसकी जानकारी ले लें

कहां खुलवाएं डीमैट?

अच्छे ट्रैक रिकॉर्ड वाली ब्रोकिंग कंपनी में ही खाता खुलवाएं.कंपनी के ब्रोकिंग चार्जेंज की तुलना दूसरी कंपनियों से ज़रूर कर लें. ब्रोकिंग चार्जेंज दो तरह के होते हैं. इंट्राडे चार्जेज और डिलीवरी चार्जेज. डीमैट किट साइन करने से पहले इसकी मुख्य शर्तों को अच्छी तरह पढ़ लें. शर्तें स्पष्ट नहीं होने पर एजेंट से इसकी पूरी जानकारी ले लें

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News