Skip to main content

घर पर आसानी से तैयार करें नारियल के बिस्किट और ब्रेड के रसगुल्ले, जानिए रेसिपी !


कुकिंग की शौकीन हैं तो यहां जानिए ऐसी रेसिपी के बारे में जो आसान भी है और अलग भी. घर पर इसे बिना किसी झंझट के तैयार किया जा सकता है

घर पर आसानी से तैयार करें नारियल के बिस्किट और ब्रेड के रसगुल्ले, जानिए रेसिपी !
घर पर आसानी से तैयार करें नारियल के बिस्किट और ब्रेड के रसगुल्ले, जानिए रेसिपी

कोरोना काल ने लोगों को बाहर के खानपान की बजाय घर की बनीं चीजों को तरजीह देना सिखाया है. यही वजह है कि लोग घर पर कुकिंग की नई नई चीजों को आजमा रहे हैं. घर की चीजों में ज्यादा मसाला और चिकनाई भी नहीं होती, साथ ही इसे साफ सुथरे तरीके से तैयार किया जाता है. अगर आप भी कुकिंग की शौकीन हैं तो यहां जानिए ऐसी रेसिपी के बारे में जो आसान भी है और अलग भी.

1- नारियल के बिस्किट

सामग्री : एक चौथाई कप नारियल का बारीक चूरा, दो चम्मच चिरौंजी दाना, दो चम्मच बारीक कटे हुए काजू, आधा चम्मच छोटी इलाएची, मिक्सी में ग्राइंड की हुई आधा कप सूजी, आधा कप गेहूं का आटा, आधा कप चीनी, एक चम्मच देसी घी.

ऐसे करें तैयार : सारी सामग्री को एक बड़े बर्तन में डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें. इसके बाद सामग्री को मुट्ठी में बंद करके मोयन चेक करें. अगर सामग्री बिखर रही है तो थोड़ा और घी मिलाएं. जब सामग्री मुट्ठी में बंध जाए तो समझिए कि मोयन ठीक है. अब थोड़ा-थोड़ा पानी मिलाकर सख्त आटा गूंथें. इसकी एक छोटी सी लोई बनाकर गोल करें और दबाकर बिस्किट का आकार दें. इसके ऊपर चाकू से हल्के से चार कट लगा कर डिजाइन जैसा तैयार करें. एक साथ सारे बिस्किट तैयार करने के बाद कढ़ाई में देसी घी या तेल डालकर गर्म करें. अब बिस्किट को सुनहरा होने तक फ्राई करें. इसके बाद एक प्लेट में टिश्यू पेपर बिछाकर बाहर निकालें. ठंडे होने के बाद इन्हें एयर टाइट बॉक्स में रख दें. मेहमानों के आने पर सर्व करें.

ब्रेड के रसगुल्ले

सामग्री : एक पैकेट ब्रेड, 150 ग्राम चीनी, 500 मिली लीटर पानी, एक कटोरी दूध और दो चम्मच पिसी चीनी.

ऐसे करें तैयार : ब्रेड के किनारों को हटाकर बीच वाले हिस्से को अलग करें. इसमें थोड़ा-थोड़ा दूध डालकर मुलायम करें और पिसी हुई चीनी को मिलाकर मुलायम आटे की तरह गूंथ लें और ढककर करीब 20 मिनट के लिए रख दें. इस बीच आप चाशनी तैयार करें. चाशनी के लिए चीनी को पानी में मिलाकर तब तक उबालें, जब चीनी पानी में अच्छे से घुल न जाए. याद रखें चाशनी को पतला ही रहने देना है, ताकि वो रसगुल्लों में अच्छी तरह जा सके. चाशनी तैयार होने के बाद इसमें इलाएची को पीसकर डाल दें. अब आटे की छोटे आकार की एकदम चिकनी गोलियां तैयार करें और कढ़ाई में घी या रिफाइंड को गर्म करने के बाद इन गोलियों को सुनहरा होने तक तलें. इसके बाद इन्हें चाशनी में डाल दें. करीब पांच मिनट बाद सर्व करें.

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories