-->
भारत-सऊदी अरब पहली बार करेंगे संयुक्त युद्धाभ्यास, पाकिस्तान में मची खलबली

भारत-सऊदी अरब पहली बार करेंगे संयुक्त युद्धाभ्यास, पाकिस्तान में मची खलबली

HIGHLIGHTS

  • India And Saudi Arabia Joint Military Exercise: भारत और सऊदी अरब पहली बार द्विपक्षीय सैन्य युद्धाभ्यास करने वाले हैं। यह पहला अवसर है जब दोनों देशों की सेना युद्धाभ्यास करेंगी।

रियाद। आतंकवाद के मामले में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेनकाब हो चुके पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका लगा है। पाकिस्तान को यह झटका सऊदी अरब और भारत से लगा है। दरअसल, भारत और सऊदी अरब पहली बार द्विपक्षीय सैन्य युद्धाभ्यास करने वाले हैं। यह पहला अवसर है जब दोनों देशों की सेना युद्धाभ्यास करेंगी। अब से पहले सऊदी अरब अपनी सेना को युद्ध की बारीकियों को सिखाने के लिए पाकिस्तान और अमरीका पर निर्भर था।

रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार, पीएम मोदी की वदेश नीति और अभी हाल ही में भारतीय सेना के प्रमुख जनरल एमएम नरवणे की रियाद यात्रा के बाद सऊदी अरब ने यह बड़ा फैसला लिया है।

WION की रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों देशों की सेना के बीच यह युद्धाभ्यास सऊदी अरब में होगा। इसके लिए भारतीय सेना का एक दल कुछ महीने में सऊदी अरब के दौरे पर जा सकता है। माना जा रहा है कि इस युद्धाभ्यास के बाद सऊदी की सेना और ताकतवर होगी और खाड़ी देशों में रणनीतिक रूप से काफी बड़ा बदलाव भी होगा।

पाकिस्तान में मची है खलबली

आपको बता दें कि सऊदी अरब और भारत की सेना के बीच होने वाले युद्धाभ्यास से पाकिस्तान को एक बड़ा झटका लगा है। चूंकि अब से पहले पाकिस्तान अपनी सेना की सहायता का लालच देकर सऊदी अरब से काफी धन लेता रहा है, लेकिन अब ऐसा संभव नहीं हो सकेगा।

इसके अलावा, पिछले साल कश्मीर मामले पर प्रिंस सलमान की आलोचना करने के कारण पाकिस्तान और सऊदी अरब के संबंध खराब हैं। दोनों देशों के रिश्तों में काफी तल्खी आ चुकी है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सऊदी को मनाने रियाद पहुंचे पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को प्रिंस सलमान से मिलने नहीं दिया गया था और खाली हाथ वापस लौटना पड़ा था।

बता दें पाकिस्तान की सेना अब से पहले सऊदी की सेना को ट्रेनिंग देती आ रही है और हथियार मुहैया कराता था। इसके अलावा सऊदी अरब मक्का और मदीना की सुरक्षा के लिए पाकिस्तानी सेना की मदद लेती रही है। लेकिन भारत के साथ बढ़ते सैन्य संबंधों के बाद से पाकिस्तान को झटका लग सकता है।

अदन की खाड़ी में भी पाकिस्तान को लग सकता है झटका

बता दें कि अदन की खाड़ी में भारत को घेरने के लिए चीन के साथ मिलकर पाकिस्तान लगातार कोशिश कर रहा है। चूंकि अदन की खाड़ी के रास्ते दुनिया के आधे से अधिक देशों को तेल और गैस सप्लाई होता है। इसके अलावा एशिया से अमरीका जाने वाले व्यापारिक जहाज अदन की खाड़ी से होकर स्वेज नहर के रास्ते अटलांटिक महासागर में जाते हैं। लिहाजा, अब यदि भारत सऊदी के साथ मिलकर इस क्षेत्र में अपनी स्थिति और भी अधिक मजबूत करता है तो पाकिस्तान के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है।

आपको बता दें कि पिछले साल दिसंबर में भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और सऊदी अरब के ऐतिहासिक दौरे पर पहुंचे थे। यह भारत के किसी भी सेना प्रमुख का सऊदी अरब और यूएई का पहला दौरा था। इस दौरान दोनों देशों के साथ कई महत्वपूर्ण समझौते हुए थे।

0 Response to "भारत-सऊदी अरब पहली बार करेंगे संयुक्त युद्धाभ्यास, पाकिस्तान में मची खलबली"

Post a Comment

JOIN WHATSAPP GROUP

JOIN WHATSAPP GROUP
THE VOICE OF MP WHATSAPP GROUP

Slider Post