बदायूं गैंगरेपः मुख्य आरोपी ने किए चौंकाने वाले खुलासे, कहा- मृतका से थे संबंध, यूं हुई मौत


- मुख्य आरोपी पुजारी का हत्या और गैंगरेप से इनकार

पत्रिकाcopy

बदायूं. बदायूं में शर्मसार कर देने वाली गैंगरेप (Budaun Gangrape) व हत्या की वारदात ने प्रदेश सहित पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। इस बीच पुलिस ने मुख्य आरोपी मंदिर के पुजारी सत्यनारायण दास को गिरफ्तार कर लिया है, हालांकि आरोपी ने खुद पर लगे सभी आरोपों से इंकार करते हुए कहा है कि न ही उसने महिला का रेप किया व न ही उसकी हत्या। चौंकाने वाले खुलासे में उसने यह भी बयान दिया कि मृतका से उसके संबंध थे। महिला की कुंए में गिरकर मौत हुई थी, न की उसे फेंका गया था। पुलिस उससे कई अन्य बिंदुओं पर सवाल कर रही है। इससे पहले मुख्य आरोपी की जिस तरह से गिरफ्तारी हुई, वह पुलिस की मुस्तैदी पर सवाल उठा रही है। पुजारी को वारदात की जगह के पास से ही ग्रामीणों ने पकड़ा व पुलिस के हवाले कर दिया था। मामले के अन्य दो आरोपियों- वेदराम और जसपाल- पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजें जा चुके हैं। बदायूं में हुए इस जघन्य अपराध को लेकर डीप्टी सीएम से लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच कर आरोपियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।


मृतका झगड़ने लगी व कुएं में जाकर कूद गई- आरोपी

तीन जनवरी की रात उघैती इलाके के एक धर्मस्थल में सामूहिक दुष्कर्म के बाद महिला की हत्या कर दी गई थी। दो आरोपियों के साथ मुख्य आरोपी मंदिर का पुजारी किसी तरह से पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। लेकिन जो खुलासे उसने किए वह इस वारदात को नया मोड़ दे रहे हैं। आरोपी महंत ने पुलिस को बताया कि मृतक आंगनबाड़ी महिला के अतिरिक्त एक अन्य महिला से संबंध थे। जिसका पता लगने पर वह उससे झगड़ने लगी व सूखे कुएं में जाकर कूद गई, जिससे उसकी मौत हो गई। मुख्य आरोपी पुजारी ने पुलिस को दूसरी महिला के संदर्भ में भी जानकारी दी व उनका नाम-पता भी बताया। पुलिस दूसरी महिला से भी इस मामले में पूछताछ करेगी। पुजारी ने मृतका के गैंगरेप व हत्या के आरोपों से इंकार किया है। पुलिस की जांच में यह भी पाया गया है कि मंदिर में कई महिलाएं आती थीं, जिनमें से पुजारी के दो महिलाओं से संबंध थे।


ऐसे हुआ गिरफ्तार-
वारदात के बाद से मुख्य आरोपी मंदिर का पुजारी फरार चल रहा था। गांव, शहर व प्रदेश भर में उसकी तलाश जारी थी। गुरुवार को यूपी सरकार ने आईजी रेंज राजेश पांडेय को बदायूं में कैंप लगार आरोपी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। निर्देश मिलते ही आईजी ने शाम को ही बदायूं का रुख किया, जहां उन्होंने एसपी संकल्प शर्मा, एडिशनल एसपी और सीओ संग बैठक की। आरोपी को पकड़ने के संबंध में गांव के प्रधान व अन्य संभ्रांत लोगों से भी बातचीत की गई। धर्म स्थल के आसपास से जुड़े प्रभावशाली लोगों से भी वार्ता हुई और देर रात कांबिंग शुरू हुई। आरोपी की तलाश में पुलिस दूसरे जिलों और प्रदेशों में दबिशें देती रही, लेकिन वह उघैती थाना क्षेत्र के ही गांव में छिपा मिला। गांववालों ने उसे खेत से पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

आरोपी भेजा गया जेल-

पुलिस का कहना है कि गांव वालों के सहयोग से आरोपी महंत सत्यनारायण को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस हिरासत में उससे पूछताछ की जा रही है। आरोपी घटना के बाद से आसपास के खेतों में छुपा रहा। उसके अनुयाई उसे खाने पीने की चीजे खेत में ही पहुंचा रहे थे। राजेश पांडेय, आईजी रेंज ने बताया कि आरोपी महंत को उघैती में धर्म स्थल के पास से ही गिरफ्तार किया गया है। शुक्रवार को आरोपी को जेल भेजा गया।

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News