विज्ञान भवन में सरकार और किसानों के बीच बैठक शुरू, अभी तक नहीं मिले नरमी के संकेत

  • सरकार किसानों के सामने नया प्रस्ताव रख सकती है।
  • कृषि कानूनों के वापसी से कम पर किसान समझौता करने को तैयार नहीं।

नई दिल्ली। दिल्ली बॉर्डर पर 44 दिनों से कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन जारी है। केंद्र सरकार और किसान संघों के नेताओं के बीच आठवें दौर की बातचीत शुरू हो चुकी है। दोनों पक्षों से समाधान निकलने की उम्मीद जताई गई है। लेकिन इस बात की संभावनाएं कम हैं। ऐसा इसलिए कि किसान नेता मुख्य मांगों से जरा सा भी पीछे हटने के लिए तैयार नहीं है। ऐसे में अगर किसान संघों के नेता केंद्र के प्रस्ताव पर खारिज करते हैं तो आठवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा ही रहेगा।


कृषि मंत्री ने अमित शाह से मुलाकात की

हालांकि, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बैठक शुरू होने से पहले इस मुद्दे पर गृह मंत्री अमित शाह से मिले हैं। दोनों के बीच इस मुद्दे पर बातचीत भी हुई है। वहीं केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने भी समस्या का समाधान निकलने की उम्मीद जताई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कानूनों में संशोधन के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि केंद्र किसानों के सामने आज कुछ प्रस्ताव रख सकती है। अगर किसानों ने इस पर सकारात्मक रुख का परिचय दिया तो समाधान निकलेगा। केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा है कि केंद्र सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी।

Comments

Popular posts from this blog

कोरोना का खौफ : भारत की सबसे बड़ी देहमंडी में पसरा सन्नाटा

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

Janta Curfew के बीच कोरोना के डर से युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- सभी अपना टेस्ट कर लेना