Skip to main content

राजस्थान के प्रमुख पर्यटन स्थल

राजस्थान के प्रमुख पर्यटन स्थल निम्नलिखित है:

पर्यटन स्थल – स्थान 

  • हवामहल – जयपुर
  • जंतर मंतर – जयपुर
  • गलता जी – जयपुर
  • जसवंत थड़ा – जोधपुर
  • पटवों की हवेली – जैसलमेर
  • सालिम सिंह की हवेली – जैसलमेर
  • रामगढ़ की हवेलियां – जैसलमेर
  • नथमल की हवेली – जैसलमेर
  • चौरासी खंभों की छतरी – बूँदी
  • रानी जी की बावड़ी – बूँदी
  • क्षार बाग की छतरियाँ – बूँदी
  • स्वर्ण या सुनहरी कोठी – टौंक
  • विजय स्तम्भ – चित्तौड़
  • कीर्ति स्तम्भ – चित्तौड़
  • सूर्य मंदिर – झालावाड़
  • ढाई दिन का झोंपड़ा – अजमेर
  • जल महल – जयपुर, डीग व उदयपुर
  • अरथूना के प्राचीन मंदिर – बाँसवाड़ा
  • भांडासर जैन मंदिर – बीकानेर
  • गैप सागर – डूंगरपुर
  • बिड़ला तारामंडल – जयपुर
  • कोलवी की गुफाएँ – झालावाड़
  • उम्मेद भवन – जोधपुर
  • मंडोर – जोधपुर
  • भंड देवरा मंदिर – कोटा
  • सज्जनगढ़ – उदयपुर
  • आहड़ संग्रहालय – उदयपुर
  • हर्ष मंदिर – सीकर
  • द्वारकाधीश मंदिर – कांकरोली राजसमंद
  • आभानेरी मंदिर – दौसा
  • सच्चिया माता मंदिर – ओसियां जोधपुर
  • रानी पद्मनी महल – चित्तौड़गढ़
  • सहेलियों की बाड़ी – उदयपुर
  • कुंभलगढ़ – केलवाड़ा राजसमंद
  • ब्रह्मा मंदिर – पुष्कर
  • देव सोमनाथ मंदिर- डूंगरपुर
  • फखरुद्दीन की दरगाह – गलियाकोट, डूंगरपुर
  • आमेर किला – आमेर, जयपुर
  • रणकपुर जैन मंदिर – सादड़ी, पाली
  • सांवलिया जी मंदिर – मंडफिया, चित्तौड़गढ़
  • सास-बहू के प्राचीन मंदिर ( प्राचीन नागदा राज्य के मंदिर) – कैलाशपुरी, उदयपुर
  • जगत के प्राचीन मंदिर – जगत गाँव उदयपुर
  • श्रीनाथजी मंदिर – नाथद्वारा, राजसमंद
  • मीरा बाई का मंदिर – मेड़तासिटी, नागौर
  • बाबा रामदेव मंदिर – पोकरण के पास रामदेवरा, जैसलमेर
  • नाकोड़ा पार्श्वनाथ मंदिर – बालोत्तरा के पास, जिला बाड़मेर
  • दिलवाड़ा जैन मंदिर – माउंट आबू
  • सालासर बालाजी – सालासर, चुरू
  • खाटू श्यामजी – खाटू गाँव सीकर
  • सोनीजी की नसियाँ – अजमेर

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories