इंदौर:युवती कह रही थी- पत्नी को तलाक देकर मुझसे शादी करो, हिंदूवादी नेता ने ढाबे पर मिलने बुलाया, एक लाख की सुपारी देकर मैजिक से कुचलवाया था, 9 महीने बाद दो गिरफ्तार

 

आरोपी संजय के खिलाफ हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट और डकैती की योजना के 3 मामले दर्ज।
  • उज्जैन पुलिस ने इंदौर क्राइम ब्रांच को हत्या के दोनों आरोपियों के इंदौर में रहकर फरारी काटने की सूचना दी थी
  • आरोपी युवती की हत्या करने इंदौर से मैजिक और बाइक लेकर गए थे, आरोपियों पर कई आपराधिक रिकार्ड दर्ज
  • 15 नवंबर 2019 को उज्जैन के चिंतामन राेड स्थित एक ढाबे के पास मैजिक चालक ने युवती को कुचल दिया था

प्लानिंग के तहत उज्जैन के हिंदूवादी नेता और ढाबा संचालक से एक लाख की सुपारी लेकर ढाबे में मिलने बुलाकर युवती की एक्सीडेंट के जरिए हत्या करने वाले दो आरोपियों को क्राइम ब्रांच इंदौर ने 9 महीने बाद गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों पर उज्जैन के महाकाल थाने में युवकी की मैजिक से कुचलकर हत्या का केस दर्ज है। वारदात के बाद से दोनों इंदौर में रहकर फरारी काट रहे थे। उज्जैन पुलिस ने इन पर 5-5 हजार का इनाम भी घोषित कर रखा था। आरोपियों को आगे की पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच ने उज्जैन पुलिस को सौंप दिया है। हिंदूवादी नेता पर दुष्कर्म पीड़ित युवती पत्नी को तलाश देकर उससे शादी करने के लिए दबाव बना रही थी।

पंकज पर हत्या, मारपीट, आबकारी अधिनियम, आर्म्स एक्ट सहित 8 से ज्यादा केस दर्ज।
पंकज पर हत्या, मारपीट, आबकारी अधिनियम, आर्म्स एक्ट सहित 8 से ज्यादा केस दर्ज।

क्राइम ब्रांच इंदौर को सूचना मिली थी कि उज्जैन महाकाल थाने के एक युवती की हत्या के आरोप में फरार चल रहे कुछ आरोपी इंदौर के रहने वाले हैं। ये लॉकडाउन के कारण इंदौर में फरारी काट रहे हैं। इन पर एसपी उज्जैन द्वारा 5-5 हजार का इनाम भी घोषित है। इस पर क्राइ ब्रांच की टीम ने मुखबिर के जरिए मिली सूचना के बाद गांधीनगर क्षेत्र में दबिश दी। यहां से पकंज उर्फ पवन उर्फ भोला शर्मा पिता रामचन्द्र शर्मा निवासी न्यू कॉलोनी गांधीनगर और संजय उर्फ संजू बंगर पिता राम रतन धुर्वे निवासी पंचायत क्षेत्र गांधीनगर को घेराबंदी कर धरदबोचा।

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उन्हें उज्जैन के रहने वाले सुखविंदर सरदार ने एक महिला को एक्सीडेंट से मारने के लिए 1 लाख में सुपारी दी थी, जिसको मारने के लिए आरोपी साथियों के साथ मैजिक और बाइक से उज्जैन गए थे। यहां युवती को सुखविंदर ने मिलने के लिए ढाबे पर बुलाया। युवती को आता देख प्लानिंग के तहत मैजिक वाहन ने उसे टक्कर मार दी। हादसे में युवती की मौत हो गई थी। आरोपी संजय बाइक लेकर इसलिए गया था कि यदि मैजिक वाहन का कोई पीछा करे तो वह अपने साथी पकंज को बाइक पर बिठाकर कच्चे रास्तों से भाग सके। वारदात के बाद से फरार दोनों आरोपियों को पकड़कर पुलिस ने महाकाल थाने के सुपुर्द कर दिया है।

दोनों आदतन अपराधी

आरोपी पंकज ने बताया कि वह पहले खुद की गाड़ी चला रहा था, लेकिन बैंक द्वारा गाड़ी सीज करने पर वह मजदूरी कर रहा था। आरोपी के खिलाफ डकैती की योजना, हत्या, गंभीर मारपीट, आबकारी अधिनियम, आर्म्स एक्ट सहित 8 से ज्यादा केस दर्ज हैं। आरोपी संजय के खिलाफ भी हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट और डकैती की योजना के 3 मामले दर्ज हैं।

चालक वाहिद और खनूजा को पुलिस ने शंका के आधार पर गिरफ्तार कर लिया था।
चालक वाहिद और खनूजा को पुलिस ने शंका के आधार पर गिरफ्तार कर लिया था।

यह है हत्याकांड की पूरी कहानी

15 नवंबर 2019 को भागीरथपुरा निवासी युवती की चिंतामन बायपास पर मैजिक से टक्कर होने से मौत हो गई थी। युवती की हत्या उसके साथ दुष्कर्म के आरोप में फंसे हिंदूवादी नेता और ढाबा संचालक सुखविंदर सिंह खनूजा ने इंदौर की महिला की मदद से एक लाख रुपए की सुपारी देकर करवाई थी। युवती दुष्कर्म के केस में बरी होने के बाद से लगातार उस पर पत्नी को तलाक देकर शादी के लिए दबाव बना रही थी। इसलिए वारदात के 20 दिन पहले ढाबे पर शराब पीने आने वाले इंदौरी बदमाशों को 20 हजार रुपए एडवांस दिए थे।

साजिश के 15 नवंबर को खनूजा ने युवती को बात करने ढाबे पर आने का कहा। प्लानिंग के तहत ढाबे से 100 मीटर की दूसरी पर वाहिद, भोला और समीर मैजिक लेकर खड़े थे। कुछ ही दूरी पर संजय और उमा रैकी के लिए बाइक से खड़े थे। जैसे ही युवती ऑटो से उतरी, उमा के इशारा करते ही वाहिद ने मैजिक दौड़ा दी। मैजिक चालक युवती को कुचलते हुए निकल गया। दिखावे के लिए खनूजा युवती को अस्पताल लेकर पहुंचा। टक्कर के बाद फुटेज में मैजिक इंदौर की दिखी तो पुलिस ने शंका के आधार पर मामले की जांच शुरू की और पूरा खुलासा हो गया। इसके बाद पुलिस ने चालक वाहिद और खनूजा को तत्काल गिरफ्तार कर लिया था। बाकी के आरोपी फरार हो गए थे।

दो दिन बाद 80 हजार रुपए लेने उमा उज्जैन पहुंची थी

हत्या के बाद आरोपी बाणगंगा रोड पर एक ढाबे में रुके और पार्टी की थी। दो दिन बाद खनूजा से बचे हुए 80 हजार रुपए लेने उसके ढाबे पर उज्जैन पहुंची और कहा कि टेंशन मत लेना। कुछ दिन बाद मामले को हादसा समझकर सब भूल जाएंगे।

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News