-->
कानपुर शूटआउट / उप्र शूटआउट का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, महाकाल मंदिर में पहुंचकर चिल्लाने लगा मैं विकास दुबे

कानपुर शूटआउट / उप्र शूटआउट का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, महाकाल मंदिर में पहुंचकर चिल्लाने लगा मैं विकास दुबे

 

  • बताया जा रहा है कि महाकाल मंदिर में विकास खुद ही चीखने लगा कि वह विकास दुबे है, इसके बाद पुलिस ने उसे पकड़ा।बताया जा रहा है कि महाकाल मंदिर में विकास खुद ही चीखने लगा कि वह विकास दुबे है, इसके बाद पुलिस ने उसे पकड़ा।

  • 2 जुलाई को विकास की गैंग ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी, जिसके बाद से वह फरार चल रहा था

उज्जैन. चौबेपुर के बिकरू में हुए शूटआउट के मुख्य आरोपी विकास दुबे काे महाकाल मंदिर से पुलिस द्वारा गिरफ्त किए जाने की सूचना है। गुरुवार सुबह महाकाल मंदिर की सुरक्षा कंपनी ने संदिग्ध जानकर उसे पकड़ा और महाकाल थाना पुलिस को सूचना दी। हालांकि यह भी बताया जा रहा है कि विकास महाकाल मंदिर परिसर में पहुंचा और चिल्लाने लगा कि मैं विकाश दुबे हूं, जिसके बाद सुरक्षाकर्मियांे ने उसे पकड़ लिया। हालांकि पुलिस ने विकास दुबे काे गिरफ्तार करने की अभी पुष्टि नहीं की है।

इसके पहले गुरुवार को ही विकास का एक और करीबी प्रभात मिश्रा मारा गया है। प्रभात को पुलिस ने बुधवार को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया था। यूपी पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ले जा रही थी। रास्ते में प्रभात ने भागने की कोशिश की, उसने पुलिस की पिस्टल छीनकर फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में प्रभात मारा गया। दूसरी ओर विकास गैंग के ही बऊआ दुबे उर्फ प्रवीण को पुलिस ने इटावा में मार गिराया। दोनों बदमाश 2 जुलाई को बिकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या में शामिल थे

बऊआ के 3 साथी फरार, 1 पिस्टल और 1 बंदूक बरामद
इटावा के एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि गुरुवार सुबह बकेवर इलाके के महेवा कस्बे के पास बऊआ और उसके 3 साथियों ने एक स्विफ्ट डिजायर गाड़ी (डीएल-1 जेडए-3602) को लूटा था। चेकिंग के दौरान सिविल लाइन इलाके की कचौरा घाट रोड पर पुलिस ने बदमाशों को घेर लिया, लेकिन उन्होंने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई में 50 हजार रुपए का इनामी बदमाश बऊआ मारा गया। उसके साथी भाग गए। मौके से 1 पिस्टल, 1 दुनाली बंदूक और कारतूस मिले हैं।

7 दिन में विकास दुबे गैंग के 5 बदमाशों का एनकाउंटर
पुलिस ने बुधवार को ही विकास के करीबी अमर दुबे का भी एनकाउंटर कर दिया था। अमर हमीरपुर में छिपा था। अब तक विकास गैंग के 5 लोग एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं। विकास की तलाश में यूपी के अलावा दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान पुलिस अलर्ट है। विकास मंगलवार को फरीदाबाद के एक होटल में देखा गया था, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही फरार हो गया।

चौबेपुर थाने के एसओ और दरोगा गिरफ्तार
जिस थाने में बिकरू गांव आता है, उस चौबेपुर थाने के एसओ विनय तिवारी और दरोगा केके शर्मा को भी बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया। कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि तिवारी और शर्मा 2 जुलाई को बिकरु गांव में मौजूद थे, लेकिन, शूटआउट शुरू होते ही भाग गए थे। एसएसपी दिनेश प्रभु ने बताया कि विनय तिवारी और केके शर्मा ने विकास दुबे को जानकारी दी थी कि पुलिस की रेड पड़ने वाली है।

कानपुर शूटआउट केस में अब तक क्या हुआ?

  • 2 जुलाई: विकास दुबे को गिरफ्तार करने 3 थानों की पुलिस ने बिकरू गांव में दबिश दी, विकास की गैंग ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी।
  • 3 जुलाई: पुलिस ने सुबह 7 बजे विकास के मामा प्रेमप्रकाश पांडे और सहयोगी अतुल दुबे का एनकाउंटर कर दिया। 20-22 नामजद समेत 60 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।
  • 5 जुलाई: पुलिस ने विकास के नौकर और खास सहयोगी दयाशंकर उर्फ कल्लू अग्निहोत्री को घेर लिया। पुलिस की गोली लगने से दयाशंकर जख्मी हो गया। उसने खुलासा किया कि विकास ने पहले से प्लानिंग कर पुलिसकर्मियों पर हमला किया था।
  • 6 जुलाई: पुलिस ने अमर की मां क्षमा दुबे और दयाशंकर की पत्नी रेखा समेत 3 को गिरफ्तार किया। शूटआउट की घटना के वक्त पुलिस ने बदमाशों से बचने के लिए क्षमा दुबे का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन क्षमा ने मदद करने की बजाय बदमाशों को पुलिस की लोकेशन बता दी। रेखा भी बदमाशों की मदद कर रही थी।
  • 8 जुलाई: एसटीएफ ने विकास के करीबी अमर दुबे को मार गिराया। प्रभात मिश्रा समेत 10 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया।
  • 9 जुलाई: प्रभात मिश्रा और बऊआ दुबे एनकाउंटर में मारे गए।

0 Response to "कानपुर शूटआउट / उप्र शूटआउट का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, महाकाल मंदिर में पहुंचकर चिल्लाने लगा मैं विकास दुबे"

Post a Comment

JOIN WHATSAPP GROUP

JOIN WHATSAPP GROUP
THE VOICE OF MP WHATSAPP GROUP

JOB ALERTS

JOB ALERTS
JOIN TELEGRAM GROUP

Slider Post