ग्वालियर / पहली बार बैंक में रुपए जमा करने गई थी किशोरी मशीन में नोट रखकर लौटी, युवक लेकर भाग गया


  • मुरार थाना पुलिस ने बताया कि मुरार की रहने वाली 16 वर्षीय खुशबू पुत्री बाबू पाल मंगलवार को पंजाब नेशनल बैंक की मुरार स्थित शाखा में 50 हजार रुपए जमा करने गई थी

ग्वालियर. एक किशोरी पहली बार बैंक में रुपए जमा करने गई थी। उसने बैंक के अंदर लगी मशीन में 50 हजार रुपए डाले। इसके बाद न तो बटन दबाया और न ही कोई दूसरी प्रोसेस की अाैर घर चली गई। जब परिजन ने रसीद मांगी गई तो वह बैंक वापस गई। तब तक एक युवक रुपए लेकर भाग चुका था।

मुरार थाना पुलिस ने बताया कि मुरार की रहने वाली 16 वर्षीय खुशबू पुत्री बाबू पाल मंगलवार को पंजाब नेशनल बैंक की मुरार स्थित शाखा में 50 हजार रुपए जमा करने गई थी। बैंक के अंदर रुपए जमा करने के लिए डिपोजिट मशीन लगी हुई है। इस मशीन में उसने रुपए डाल दिए। लेकिन न तो उसने अकाउंट नंबर डाला और न ही कोई दूसरी प्रोसेस की। रुपए जमा नहीं हुए और रसीद भी नहीं निकली। जानकारी के अभाव में किशोरी बिना रसीद लिए ही अपने घर पहुंच गई। यहां जब उसकी मां ने रसीद मांगी तो किशोरी ने बताया की रसीद निकली ही नहीं। उसके बाद वह अपनी मां के साथ बैंक पहुंची। यहां कैश काउंटर पर अपना अकाउंट दिखवाया। उनके अकाउंट में रुपए जमा नहीं हुए थे। इसके बाद सीसीटीवी कैमरे देखे गए, जिस में युवती के बाद एक युवक मशीन में से रुपए निकालता दिखा।


बैंक में नौकरी लगवाने का झांसा देकर छात्रा से ठगे 2.72 लाख रुपए
ग्वालियर | बैंक में नौकरी लगवाने के नाम पर एक छात्रा से 2.72 लाख रुपए की ठगी हो गई। छात्रा नेहा पुत्री नरेश शर्मा निवासी लक्कड़खाना एक शेयर ब्रोकर के यहां काम करती थी। यहां उसकी मुलाकात शुभम खंडेलवाल से हुई। शुभम उसके ऑफिस में आया था। यहां उसने शेयर ट्रेडिंग की। इसमें उसे काफी मुनाफा हुआ। वह खुद को बैंक मैनेजर बताता था। नेहा से उसकी बात होने लगी। उसने नेहा को बैंक में क्लर्क बनवाने का झांसा दिया। इसके एवज में उससे 2.72 लाख रुपए ले लिए। नियुक्ति पत्र भी दे दिया। जब छात्रा इसे लेकर बैंक पहुंची तो पता लगा कि वह फर्जी था।

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता