Skip to main content

मप्र: अनलॉक-2 का नौवां दिन / सीएम शिवराज ने कहा- प्रदेश में कम्युनिटी स्प्रेड जैसे हालात नहीं, देश में अपना प्रदेश संक्रमण में 16वें नंबर पर आया; 305 नए मामले मिले


  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में  कोरोना की स्थिति की समीक्षा की। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी उपस्थित रहे।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा की। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी उपस्थित रहे।

  • गुरुवार को 305 नए केस सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 16341 पर पहुंची, एक्टिव मरीज 3475 हुए
  • प्रदेश में 7 और लोगों ने अपनी जान गंवाई, आंकड़ा बढ़कर 629 हुआ, कंटेनमेंट एरिया 1 हजार 313 हुए, 10 हजार सैंपल लिए गए

भोपाल. मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों की संख्या के बीच 305 नए मामले सामने आए, जिसके चलते एक्टिव मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। राज्य स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा आज रात यहां जारी बुलेटिन के अनुसार पिछले चौबीस घंटों के दौरान प्रदेश भर में 305 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 16341 तक पहुंच गई। एक्टिव मरीजों के मुकाबले गुरुवार इसकी संख्या बढ़कर 3475 तक पहुंच गई। इस बीच 245 मरीज स्वस्थ भी हुए हैं, जिसके बाद इस बीमारी से अब तक 12232 मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं।

मध्यप्रदेश में पिछले एक सप्ताह में प्रदेश के विशेषकर सीमावर्ती जिलों से कोरोना के ज्यादा मामले आने से प्रदेश की कोरोना ग्रोथ रेट बढ़ गई है। पहले संक्रमण बढ़ने की दर जहां 1.72% थी, वह अब 2.01% हो गई है। मुख्यमंत्री शिवराज ने समीक्षा बैठक में कहा कि पॉजिटिविटी का प्रतिशत 1.26% जो स्पष्ट रूप से बताता है कि प्रदेश में कम्युनिटी स्प्रेड जैसी कोई स्थिति नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के 17 ऐसे राज्य जहां कोरोना संक्रमण अपेक्षाकृत अधिक है, इनमें एक्टिव प्रकरणों की संख्या में मध्य प्रदेश अब 16वें स्थान पर आ गया है, 17वें स्थान पर केरल है।

भोपाल जिला प्रशासन, राष्ट्रीय सेवा योजना और यूनिसेफ की साझा पहल पर जागरुकता अभियान शुरू किया गया। इसमें कलाकार यमराज और चित्रगुप्त के भेष में हैं।

गुरुवार को इन जिलों में इतने केस मिले

इसी बीच इंदौर में 45, भोपाल में 53, ग्वालियर में 58, जबलपुर में 22, उज्जैन में 1, मुरैना में 8, नीमच में 7, सागर में 7, बुरहानपुर में 4, खंडवा में 4, खरगोन में 3, भिंड में 3, देवास में 2, रतलाम में 4, मंदसौर में 14, राजगढ़ में 6, शिवपुरी में 5, टीकमगढ़ में 17, श्योपुर में 3, बैतूल में 4, शाजापुर में 8, विदिशा में 5, छिंदवाड़ा में 1, रीवा में 2, छतरपुर में 1, हरदा में 2, दमोह में 1 नए मरीज मिलें हैं।

इसी प्रकार सतना में 2, बालाघाट में 4, होशंगाबाद में 1, सीहोर में 2, झाबुआ में 1, सीधी में 1, आगरमालवा में 2, सिवनी में 1 और अलीराजपुर में एक मामला सामने आया है। इसके अलावा प्रदेश भर में पांच नई मौत दर्ज की गयी, जिसमें इंदौर में 3, भोपाल में 1 और अलीराजपुर में 1 मरीज की मौत हो जाने के बाद इस बीमारी से अब तक 634 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories