Jio ने 41 करोड़ यूजर्स को किया अलर्ट! मुफ्त के नाम पर भूलकर भी न करें ये काम… वरना खाली हो जाएगा खाता


Jio Alert: जियो ने अपने ग्राहकों से कहा है कि किसी भी अज्ञात या संदिग्ध नंबरों से कॉल करने वाले को अपनी व्यक्तिगत जानकारी कभी भी न दें. सुरक्षित रहें

Jio ने 41 करोड़ यूजर्स को किया अलर्ट! मुफ्त के नाम पर भूलकर भी न करें ये काम... वरना खाली हो जाएगा खाता
सांकेतिक तस्‍वीर

जमाना तो डिजिटल का हो चला है. पहले ये शहरों तक सीमित था, लेकिन अब गांवों में भी डिजिटल लेनदेन हो रहे हैं. चाय-पान-नाश्‍ता करने से लेकर शॉपिंग करने और कार खरीदने तक… पेमेंट करने के लिए हम डिजिटल तरीका अपनाते हैं. यूपीआई, डेबिट या क्रेडिट कार्ड, ऑनलाइन बैंकिंग या फिर मोबाइल ​बैंकिंग ऐप… कैश लेनदेन से ज्यादा पेमेंट के ये तरीके ही आजकल चलन में हैं. लेकिन आपको उतना ही अधिक सावधान रहने की जरूरत है. 41 करोड़ से ज्यादा यूजर्स वाली देशी की अग्रणी टेलीकॉम कंपनी जियो (Jio) ने ऐसी ही सलाह दी है.

दरअसल डिजिटल लेनदेन के इस युग में लोगों के साइबर फ्रॉड का शिकार होने की खबरें अक्सर आती रहती हैं. साइबर अपराधी कई तरह से लोगों को चूना लगाते हैं. फ्रॉड का एक तरीका यह भी है कि साइबर अपराधी मुफ्त मोबाइल डाटा ऑफर (Free Mobile Data Offer) करते हुए आपको मैसेज करते हैं या कॉल करते हैं और फिर शातिराना अंदाज में आपकी निजी जानकारी हासिल कर आपको चूना लगा देते हैं. ऐसी आशंका को देखते हुए जियो ने अपने करोड़ों ग्राहकों को टेक्स्ट मैसेज डालकर अलर्ट किया है.

​जियो की ओर से भेजे गए मैसेज में क्या है?

Jio ने मोबाइल यूजर्स को अलर्ट मैसेज भेजा है. इसमें कहा है, “धोखाधड़ी के इरादे से भेजे गए ऐसे किसी भी संदेश से सावधान रहें, जिसमें आपसे आपकी व्यक्तिगत जानकारी/ केवाईसी (KYC) डिटेल्स को अपडेट करने को कहा जाए. ऐसे मैसेज से भी सावधान रहें, जिनमें मुफ्त मोबाइल डेटा देने का वादा किया गया हो. जियो ने अपने ग्राहकों से कहा है कि किसी भी अज्ञात या संदिग्ध नंबरों से कॉल करने वाले को अपनी व्यक्तिगत जानकारी कभी भी न दें. सुरक्षित रहें.”

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि अगर आपने निजी जानकारी दी तो जालसाज आपके खाते से आपकी मेहनत की कमाई चुरा सकते हैं. जियो ने स्पष्ट तौर पर अपने ग्राहकों से अपनी पर्सनल डिटेल्स के बारे में गोपनीयता रखने को कहा है. कई बार हमें अज्ञात नंबरों से कॉल आते हैं और कहा जाता है कि हम आपके बैंक की ओर से बोल रहे हैं. कभी वे कहेंगे कि एटीएम वैलिडिटी खत्म हो गई तो कभी कहेंगे कि केवाईसी डिटेल्स कंफर्म करा दें. कई बार तो लोन ऑफर्स के नाम पर भी साइबर अपराधी धोखा करते हैं. केवाईसी संबंधित डिटेल्स हासिल कर वे बैंक खाते से सारे पैसे गायब कर देते हैं. इस संबंध में एसबीआई समेत कई बैंकों की ओर से ग्राहकों को समय-समय पर अलर्ट किया जाता रहा है.

फ्रॉड से बचने के लिए आप भी इन बातों को ध्यान में रखें.

  • समय-समय पर अपने बैं​क अकाउंट के पासवर्ड बदलते रहें.
  • कभी भी अनजाने व्यक्ति को फोन, ईमेल या एसएमएस के जरिए इंटरनेट बैंकिंग डिटेल्स ने शेयर करें.
  • टेक्‍स्‍ट मैसेज या वॉट्सऐप मैसेज में आए किसी भी संदिग्ध लिंक पर क्लिक न करें.
  • किसी भी दूसरे व्यक्ति को अपन व्यक्तिगत जानकारी नहीं साझा करें. खासतौर से किसी अनजाने व्यक्ति से बिल्कुल ही न शेयर करें.
  • बैंक संबंधी जानकारी जुटाने के लिए हमेशा बैंक के आधिकारिक वेबसाइट के जरिए ही जानकारी जुटाएं.
  • अपने साथ हुई धोखाधड़ी के बारे में जल्द से जल्द नजदीकी एसबीआई ब्रांच और पुलिस अधिकारियों को सूचित करें.

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News