-->
MP Honey Trap Case: बड़े और नामी लोगों के नाम सामने आने के बाद हड़कंप, पढ़ें- कैसे पीड़िता को किया गया मजबूर

MP Honey Trap Case: बड़े और नामी लोगों के नाम सामने आने के बाद हड़कंप, पढ़ें- कैसे पीड़िता को किया गया मजबूर


पीड़िता के वकील के मुताबिक अभिषेक ठाकुर नाम का एक शख्स उसे साल 2019 में बहलाकर आरती दयात नाम की एक हनीट्रैप की आरोपी (Honey Trap Accused Arti Dayal) के पास लेकर गया था


MP Honey Trap Case: बड़े और नामी लोगों के नाम सामने आने के बाद हड़कंप, पढ़ें- कैसे पीड़िता को किया गया मजबूर
मध्यप्रदेश के फेमस हनीट्रैप और ह्युमन ट्रैफिकिंग मामले में नामी और बड़े लोगों के नाम सामने आने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है.

मध्यप्रदेश के फेमस हनीट्रैप (Madhya Pradesh Honey Trap) और ह्युमन ट्रैफिकिंग मामले में नामी और बड़े लोगों के नाम सामने आने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है. एक पीड़िता ने कई बड़े और नामी लोगों के नामों का खुलासा (Big Name Coming Out) करते हुए उन पर यौन शोषण का आारोप लगाया है. खबर के मुताबिक इस मामले में मीडिया से जुड़े कुछ लोगों के नाम भी शामिल है.

पीड़िता के वकील यावर खान (Victim’s Lawyer) के मुताबिक लड़की ने बयान दिया है कि अभिषेक ठाकुर नाम का एक शख्स उसे साल 2019 में बहलाकर आरती दयात नाम की एक हनीट्रैप की आरोपी (Honey Trap Accused Arti Dayal) के पास लेकर गया था. वहां उन्होंने लड़की के कुछ अश्लील फोटोग्राफ ले लिए जिसके बाद उसे ब्लैकमेल करके गलत काम के लिए मजबूर किया गया.

गरीबों की मदद के बहाने लड़की को फंसाया

पीड़िता के वकील के मुताबिक एनजीओ में काम करने की बात कहकर आरती दयाल, श्वेता विजयन और स्वप्निल जैन ने पीड़ित लड़की को अपने जाल में फंसाया. गरीबों की मदद की बात कहकर उन्होंने पहले तो पीड़िता को भोपाल बुलवाया और फिर उसे कई नामी लोगों के पास पहुंचा दिया. पीड़ित लड़की को आरती दयाल अपने भाई की शादी में भी लेकर पहुंची थी, जिसके बाद उसे मनोज द्विवेदी नाम के शख्स के पास पहुंचाया गया. उसने पीड़िता का यौन शोषण किया.

कई रसूखदरों के नाम के खुलासे से हड़कंप

गांव जाने के बाद भी आरोपियों ने पीड़िता का पीछा नहीं छोड़ा. उसे फिर से भोपाल बुलाया गया. पंचवटी में राजेश गुप्ता नाम के शख्स ने लड़की का यौन शोषण किया. मनीष अग्रवाल और अरुण निगम नाम के दो रसूखदारों पर भी पीड़िता के यौन शोषण का आरोप है. अरुण निगम तत्कालीन खनिज मंत्री प्रदीप जयसवाल के पास काम कर रहा था हरीश खरे नाम का शख्स खाद्य आपूर्ति मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के पास स्पेशल असिस्टेंट के तौर पर काम कर रहा था. दोनों का नाम हनीट्रैप मामले में आने के बाद उन्हें पद से हटा दिया गया.

0 Response to "MP Honey Trap Case: बड़े और नामी लोगों के नाम सामने आने के बाद हड़कंप, पढ़ें- कैसे पीड़िता को किया गया मजबूर"

Post a Comment

JOIN WHATSAPP GROUP

JOIN WHATSAPP GROUP
THE VOICE OF MP WHATSAPP GROUP

JOB ALERTS

JOB ALERTS
JOIN TELEGRAM GROUP

Slider Post

AMAZON OFFERS