होली से पहले बैरंग हुए तहसीलदार साहब, रिश्वत लेते लोकायुक्त ने रंगेहाथ पकड़ा


जिस पेंट में रखे थे रिश्वत के नोट उसे भी जब्त कर ली गई लोकायुक्त...दुकान को फिर से संचालित करने के एवज में की थी रिश्वत की डिमांड..

बैतूल. बैतूल जिले के भीमपुर ब्लॉक मुख्यालय पर शनिवार के दिन लोकायुक्त की टीम ने होली रंग के त्यौहार के पहले तहसीलदार भगवानदास तंखानिया को बैरंग कर दिया। भीमपुर तहसीलदार भगवानदास तंखानिया को लोकायुक्त की टीम ने दस हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा है। तहसीलदार ने एक दुकानदार से सील दुकान को फिर से खोलने की अनुमति देने के एवज में रिश्वत की मांग की थी।


rishwat.png

परिवार को होमक्वारंटीन कर सील की थी दुकान

आवेदनकर्ता युवराज उर्फ बंटी वाघकर ने बताया कि मेरा परिवार मेरी शादी जो 25 अप्रैल को हैं। उसकी खरीदी करने अमरावती महाराष्ट्र पिछले सप्ताह निजी वाहन से गया था। और मैं घर पर था, बाद में जब परिवार के सदस्य वापस लौटे तो तहसीलदार द्वारा हमें होम क्वारेंटिंन कराया गया तथा मेरी गजानन फल फ्रूट एवं अण्डे की दुकान तहसीलदार सील कर दी । एक सप्ताह बाद जब फरियादी युवराज ने दुकान खोलने की अनुमति मांगी तो उसके एवज में उससे 10 हजार रुपये रिश्वत की मांग की जिसकी शिकायत फरियादी युवराज ने लोकायुक्त भोपाल से की थी।

 

betul.png

तहसीलदार को रिश्वत लेते लोकायुक्त टीम ने पकड़ा

लोकायुक्त ट्रैप अधिकारी वीके सिंह ने बताया कि हमारे कार्यलय में गजानन फ्रूट सप्लायर भीमपुर युवराज वाघकर द्वारा तहसीलदार द्वारा रिश्वत मांगने की साक्ष्य सहित शिकायत शुक्रवार को की गई थी। जिसके चलते हमारी टीम ट्रैप करने के लिए भोपाल से शनिवार सुबह 4 बजे निकली और 10 बजे भीमपुर पहुंची। भीमपुर तहसीलदार ने आवेदनकर्ता को कमरे पर बुलाया था लेकिन वो लेट हो गया तो तहसीलदार तहसील कार्यालय पहुंच गए। जैसे ही तहसीलदार द्वारा तहसील कार्यालय में आवेदनकर्ता से रिश्वत ली गई, आवेदनकर्ता ने हमें संकेत दे दिए। आवेदनकर्ता का इशारा मिलते ही लोकायुक्त टीम ने तहसीलदार की तलाशी ली। जिसमें उनके पास से 100-100 रुपये के 10 हजार रुपये प्राप्त हुए। जो तहसीलदार ने अपनी पेंट की दाहिने जेब में रखे थे। तहसीलदार का हाथ धुलवाया गया जिससे उनके हाथों का रंग गुलाबी हो गया। तथा तहसीलदार की पेंट भी जप्त कर ली गई हैं।

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता