Skip to main content

जायफल के फायदे, उपयोग और नुकसान- Nutmeg In Hindi


जायफल के फायदे, उपयोग और नुकसान – Nutmeg In Hindi: जायफल (Jaiphal) का इस्तेमाल बहुत सारे रोगो के उपचारो में पर किया जाता है। जायफल भारत सही दुनिया भर में अपने स्वाद के लिए मशहूर हैं और सभी इस्तेमाल किया जाने बाले मसालों में से यह काफी लोकप्रिय मसाला है। इसे मसाले के रूप में ज्यादा इस्तेमाल क्या जाता है इसका तेल भी बहुत से रोगो के इलाज में क्या जाता हैं खासकर छोटे बच्चो के मालिस में जायफल के तेल का उपयोग काफी मात्रा में किया जाता है।


जायफल के फायदे– Nutmeg In Hindi

जायफल के पेड़ से दो तरह के मसाले मिलते हैं एक जायफल और दूसरा जावित्री। मिरिस्टिका के बीज को जायफल कहा जाता है। आयुर्वेद में जायफल के फायदे (jaiphal benefits) के बारे में बहुत सारि बाते बताई गयी हैं। जायफल में कई तरह के पोषक तत्वों पाया जाता है और इसमें एंटीइन्फ्लेमेटरी, एंटीमाइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट जैसे प्रभाव भी पाए जाते हैं तो आज हम आपको जायफल के हैरान कर देने वाले कुछ फायदे बताएँगे जो सायद आप नहीं जानते होंगे।

जायफल के उपाय

आयुर्वेद के अनुसार, जायफल का इस्तेमाल शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। जबान हो या बूढ़े कोई भी बय्क्ति जायफल का इस्तेमाल कर बहुत सारि बीमारियों से दूर रह सकता हैं। इसके अलावा बच्चों के लिए भी जायफल के अनेक फायदे (jaiphal benefits for baby) बताए गए हैं। तो आइये बिस्तर से जानते हैं की जायफल के उपाय और जायफल का उपयोग किया किया हैं।

जायफल के फायदे – Benefits of Nutmeg in Hindi

1. अनिद्रा की समस्या में जायफल के लाभ

अनिद्रा जैसी समस्या से आपको निजात दिलाने में जायफल आपका मदद कर सकता है। इससे जुड़े एक रीसर्च में यह पाया गया हैं कि दो हफ्तों तक जायफल चूर्ण का इस्तेमाल करनेसे अनिंद्रा जैसी समस्या दूर हो जाती हैं।

2. गठिया के लिए जायफल खाने के फायदे

गठिया की समस्या में जोड़ों में दर्द के साथ ही सूजन की समस्या हो सकती है। इस समस्या से छुटकारा पाने में जायफल का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद हो सकता है। जायफल का उपयोग मांसपेशि और गठिया की समस्या दूर करने में मदत कर सकता है। जायफल में एनाल्जेसिक और एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण होता हैं जो गठिया के दौरान होने वाले दर्द और सूजन को कम कर रोगी को राहत पूछता हैं।

3. मधुमेह में जायफल के गुण

मधुमेह यानि के डायबेटीस के लिए भी जायफल का उपयोग किया जा सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक जायफल के अर्क में एंटीडायबिटिक गुण काफी मात्रा में पाए जाते हैं। यह तत्व खून में मौजूद ग्लूकोज के लेवल को बढ़ने से रोकने में मदद कर सकते हैं। इसलिए, यह कहना गलत नहीं होगा की मधुमेह की समस्या को कम करनेमे जायफल का उपयोग फायदेमंद हो सकता है।

4. दांतों के लिए जायफल खाने के फायदे

जायफल का इस्तेमाल दांतों और स्वस्थ मसूड़े के लिए भी किया जा सकता है। जायफल में अर्क में मौजूद मैकलिग्नन (macelignan) नामक तत्व पाया जाता हैं यह तत्व दांतों को टूटने से बचाता हैं, इस आधार पर कहा जा सकता है कि दांत और मसूड़े के स्वास्थ्य बरकरार रखने के लिए जायफल का इस्तेमाल फायदेमंद हो सकता है।

5. रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए जायफल के फायदे

हर इंसान का रोग-प्रतिरोधक क्षमता का सही होना बहुत जरूरी है। अगर किसी ब्यक्ति का रोग प्रतिशोधक क्षमता बहुत कम हैं तो वो व्यक्ति जल्द बीमार पड़ सकता है। ऐसे में जायफल का सेवन इम्यून सिस्टम को मजबूत करनेमे फायदेमंद हो सकता है।

जायफल का उपयोग – How to Use Nutmeg in Hindi

  • गठिया याह जोड़ों में दर्द या सूजन में जायफल का तेल लगाया जा सकता है
  • जायफल को खाने में मसाले के तौर पर उपयोग किया जाता हैं।
  • मुंह की दुर्गंध की परेशानी है, तो जायफल का उपयोग किया जा सकता है इसके लिए डॉक्टरी परामर्श पर जायफल का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • मुंहासों की समस्या है तो जायफल चूर्ण और शहद को मिलाकर पेस्ट बना कर रख लें और इसे चेहरे पर लगाएं। फिर कुछ देर बाद में साफ पानी से धो लें इससे मुहासे की समस्या दूर हो जाएगी।
जायफल के पौष्टिक तत्वप्रति 100 ग्राम
फैट        36.31 gm.
फाइबर20.8 gm.
कैल्शियम184 mlg.
आयरन3.04 mlg.
मैग्नीशियम183 mlg.
विटामिन-सी3 mlg.
जिंक2.15 mlg.
मैंगनीज2.9 mlg.
विटामिन-बी6 0.16 mlg.
कैलोरी525 kcal
पोटेशियम350 mlg.
सोडियम16 mlg.
कॉपर1.027 mlg.
प्रोटीन5.84 gm.
सेलेनियम1.6 mcgm.
शुगर2.99 gm.
फोलेट76 mcgm.
कोलीन8.8 mlg.
कार्बोहाइड्रेट49.29 gm.
फास्फोरस213 mgm.
बीटा कैरोटीन28 mcgm.
राइबोफ्लेविन0.057 mgm.
नियासिन1.299 mgm.
विटामिन-ए5 mcgm.
पानी6.23 gm.

जायफल के नुकसान – Side Effects of Nutmeg in Hindi

  • जायफल के जितने फायदे हैं उतना ही इसका नुकसान भी हैं , जिनकी जानकारी हम नीचे दे रहे हैं
  • जायफल की तासीर गर्म होती है, इसलिए गर्मियों के मौसम में इसका ज्यादा इस्तेमाल शरीर को नुकसान पौछा सकता हैं।
  • जायफल का सेवन जरूरत से ज्यादा करने से दिल की धड़कनें सामान्य से तेज होना, घबराहट, उल्टी जैसी परेशानियां हो सकती हैं।
  • कई बार जायफल का अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने से ठीक वैसा ही असर हो सकता है, जैसा किसी नशीले चीजों का इस्तेमाल करनेसे होता हैं

Comments

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. Nutmegs have several medicinal properties and health benefits. Thank you for sharing how to use nutmeg. It's very nice of you to share your knowledge through posts. Glad to come across this article. Great blog. Buy Nutmeg Online

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

ग्वालियर - बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता शातिर चोर पकडे 10 लाख का माल बरामद। महाराजपुरा पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा चोरों का ग्रुप महाराजपुरा थाना प्रभारी मिर्ज़ा आसिफ बेग और उनकी टीम के द्वारा कार्यवाही की गई। महराजपुरा टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई।  10 लाख का माल भी बरामद किया गया।  महाराजपुर टीआई मिर्जा बेग ने बताया चोरों से 6 एलसीडी 8 लैपटॉप दो होम थिएटर 6 मोबाइल फोन एक स्कूटी टेबल फैन सिलेंडर बरामद हुआ है उनसे करीब 4 चोरियों का खुलासा हुआ है करीब 10 चोरियां कि गिरोह ने हामी भरी है 

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

कोरोना की स्थिति गंभीर होने पर कई राज्यों में फिर लॉकडाउन की स्थिति, सभी सीमाएं भी की जा रही हैं सील...। भोपाल। मध्यप्रदेश समेत पांच राज्य एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहे हैं। मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ते मामलों के बाद रविवार को पूरे प्रदेश में लॉकडाउन (Complete Lockdown) लगाया जा रहा है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Covid 19) की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्र ने तय किया है कि अब सप्ताह में एक दिन रविवार को पूरा प्रदेश बंद रहेगा। उधर, मध्यप्रदेश के अलावा बिहार, उत्तरप्रदेश में भी लाकडाउन के आदेश जारी कर दिए गए हैं।   मध्यप्रदेश में पिछले तीन दिनों में 11 सौ से अधिक संक्रमित मरीज मिलने और जबकि 409 एक ही दिन में संक्रमित मिलने के बाद यह फैसला लिया जा रहा है इस दौरान प्रदेश की सीमाएं भी सील की जा सकती है। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं ही चलती रहेंगी। गृह विभाग के बाद भोपाल समेत सभी जिलों के कलेक्टर अपने-अपने जिले के लिए एडवायजरी (Advisery'guideline) जारी कर रहे हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र के मुताबिक इस सप्ताह में एक दिन का लाकडाउन ही