Skip to main content

एनकाउंटर के बाद विकास दुबे पर फिल्म / मनोज बाजपेयी निभा सकते हैं गैंगस्टर का किरदार, करीब 15 करोड़ के बजट में फिल्म की तैयारी कर रहे प्रोड्यूसर संदीप कपूर


  • संदीप कपूर और मनोज बाजपेयी। दोनों काफी पुराने दोस्त हैं।संदीप कपूर और मनोज बाजपेयी। दोनों काफी पुराने दोस्त हैं।


मुंबई कानपुर बेस्ड गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार सुबह एसटीएफ के साथ एनकाउंटर में मारा गया। नाटकीय ढंग से हुई दुबे की गिरफ्तारी और फिर एनकाउंटर के बाद बॉलीवुड को फिल्म की नई स्क्रिप्ट मिल गई है। प्रोड्यूसर संदीप कपूर ने तो फिल्म का ऐलान भी कर दिया। उन्होंने टाइटल तो नहीं बताया। लेकिन यह जरूर कहा कि लीड रोल के लिए मनोज बाजपेयी को अप्रोच किया गया है और इस फिल्म का बजट 10-15 करोड़ रुपए तक जाएगा।

'जुगाड़' और 'अनारकली ऑफ आरा' जैसी फिल्में बना चुके संदीप ने दैनिक भास्कर से बातचीत में फिल्म की प्लानिंग के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद फिल्म को लेकर मनोज बाजपेयी से उनकी बात हुई थी। अभी उन्होंने फिल्म साइन नहीं की है, लेकिन बातचीत जारी है।

'डर है कहीं कोई और फिल्म का ऐलान न कर दे'

संदीप के मुताबिक, उन्हें डर है कि कहीं कोई और इस टॉपिक पर फिल्म की घोषणा न कर दे। वे कहते हैं, ‘‘अभी डायरेक्टर ढूंढेंगे। उम्मीद करता हूं कि कोई बड़ा प्रोड्यूसर ऐलान न कर दे। मैं तो छोटा प्रोड्यूसर हूं। मनोज जी भी कह रहे हैं कि प्रायोरिटी पर यह फिल्म करनी चाहिए। अभी स्टोरी पर बैठेंगे। इस बीच किसी बड़े बैनर ने घोषणा कर दी तो फिर सब कुछ ऊपर वाले के हाथ में होगा।’’

टाइटल पर बात करना जल्दबाजी होगा

जब संदीप से पूछा गया कि फिल्म का टाइटल क्या रख रहे हैं तो उन्होंने कहा, ‘‘अभी इस पर बात करना जल्दबाजी होगा। तीन-चार टाइटल दिमाग में हैं, जिन्हें आज या कल में रजिस्टर करा लूंगा।’’

डायरेक्टर पर अभी विचार कर रहे

बकौल संदीप, ‘‘अभी किसी डायरेक्टर को फाइनल नहीं किया है। हम सभी ऑप्शंस पर विचार करेंगे। तीन-चार डायरेक्टर्स को अप्रोच करेंगे।’’ संदीप के मुताबिक, इस लिस्ट में तिग्मांशु धूलिया और शाद अली शामिल हैं। हालांकि, अभी अंतिम सहमति बननी बाकी है।

दो-तीन महीने कहानी पर रिसर्च होगी

संदीप कहते हैं कि पहले तो पूरी कहानी पर दो-तीन महीने की रिसर्च होगी। बतौर प्रोड्यूसर वे जल्द से जल्द काम पर लग जाएंगे। यह कोई वेबसीरीज नहीं होगी। हार्डकोर फिल्म होगी। उनके मुताबिक, मनोज इस रोल के साथ जस्टिस करेंगे। इसकी बड़ी वजह उनका यूपी और बिहार का बैकग्राउंड है।

संदीप की मानें तो मनोज उनके बहुत पुराने दोस्त हैं और वे उन्हें इस फिल्म के लिए जबर्दस्ती भी हां करा सकते हैं। वे कहते हैं, ‘‘मनोज ने ही कहा था कि यह सिनेमैटोग्राफिकली बहुत अच्छा सब्जेक्ट है।’’

मनोज बाजपेयी का ऑडियो व्हाट्सऐप पर सर्कुलेट

इस बीच मनोज ने ट्विटर पर खबर को गलत बताया, जबकि शुक्रवार को दिनभर व्हाट्सऐप पर उनका एक ऑडियो सर्कुलेट होता रहा, जिसमें वे कह रहे हैं, ‘‘अगर किरदार व स्क्रिप्ट ढंग से लिखी जाए तो कोई भी रियल लाइफ कैरेक्टर करने में मजा आता है। जिस शख्स को लेकर बात की जा रही है, उनकी जिंदगी भी बड़ी नाटकीय रही है। इसे पर्दे पर लाना बहुत इंट्रेस्टिंग होगा।

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories