-->
अब मेजर ध्यानचंद के नाम से खेल रत्न, कौन था पहला विजेता, कितनी है इनामी राशि? जानें इसके बारे में सब कुछ

अब मेजर ध्यानचंद के नाम से खेल रत्न, कौन था पहला विजेता, कितनी है इनामी राशि? जानें इसके बारे में सब कुछ


General Knowledge: हर साल खेल के क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी को इस सम्मान से नवाजा जाता है. पहले यह पुरस्कार पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर था

अब मेजर ध्यानचंद के नाम से खेल रत्न, कौन था पहला विजेता, कितनी है इनामी राशि? जानें इसके बारे में सब कुछ
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खेल रत्न का नाम मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखने की घोषणा की.

Major Dhyan Chand Khel Ratna Award: खेलों की दुनिया में देश का सर्वोच्च सम्मान खेल रत्न अब पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम से नहीं जाना जाएगा. उनकी जगह अब हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के नाम पर यह पुरस्कार होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को इस संबंध में घोषणा की. पीएम मोदी का कहना है कि बहुत से लोगों की रिकवेस्ट मिलने के बाद यह फैसला लिया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बारे में घोषणा करते हुए कहा, ‘खेल रत्न को अब मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार कहा जाएगा.’ देशभर में इस फैसले का स्वागत किया गया है. लेकिन क्या आपको पता है कि देश में खेल रत्न पुरस्कार की शुरुआत कब हुई थी? खेल रत्न पाने वाले पहले खिलाड़ी कौन थे? आइए हम आपको इस बारे में सब कुछ बताते हैं.

इस साल हुई शुरुआत

खेल रत्न पुरस्कार की शुरुआत साल 1991-92 में हुई. भारत में खेल के क्षेत्र में यह सर्वोच्च नागरिक सम्मान है. इस पुरस्कार को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार का नाम दिया गया. तब से हर साल खेल के क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी को इस सम्मान से नवाजा जाता है. खेल मंत्रालय द्वारा नामित 12 सदस्यीय समिति विभिन्न खेल संघों से मिले नामांकनों की समीक्षा कर विजेता का फैसला लेती है.

ये थे पहले विजेता

शतरंज के खेल में अंतरराष्ट्रीय मंच पर देश का नाम रोशन करने वाले विश्वनाथन आनंद पहले ऐसे खिलाड़ी थी, जिन्हें इस पुरस्कार से नवाजा गया. 1991-92 में प्रदर्शन के आधार पर उन्हें खेल रत्न पुरस्कार दिया गया. साल 2001 में निशानेबाज अभिनव बिंद्रा इस पुरस्कार को पाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी थे. उन्हें महज 18 साल की उम्र में यह पुरस्कार मिला. साल 2008 में यह पुरस्कार किसी भी खिलाड़ी को नहीं दिया गया था.

जब एक से ज्यादा बने विजेता

आमतौर पर यह पुरस्कार किसी एक ही खिलाड़ी को ही दिया जाता है. मगर ऐसे भी कई मौके रहे, जब एक से ज्यादा खिलाड़ियों को इसके लिए चुना गया. 1993-94, 2002, 2009, 2012, 2016, 2017, 2018, 2019 और 2020 में एक से ज्यादा खिलाड़ियों को खेल रत्न पुरस्कार दिया गया. 2020 में पांच खिलाड़ियों (रोहित शर्मा, मरियप्पन थंगावेलु, मणिका बत्रा, विनेश फोगाट और रानी रामपाल) को खेल रत्न दिया गया.

कौन थे पहले क्रिकेटर

खेल रत्न पाने वाले पहले क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर थे. 1997-98 में शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया गया. इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा को यह पुरस्कार मिल चुका है.

क्या मिलता है इनाम

खेल रत्न पुरस्कार विजेता को सरकार की ओर से पदक, प्रशस्ति पत्र और 25 लाख रुपये की राशि इनाम के तौर पर मिलती है. अब तक कुल 45 खिलाड़ियों को इस पुरस्कार से नवाजा जा चुका है

0 Response to "अब मेजर ध्यानचंद के नाम से खेल रत्न, कौन था पहला विजेता, कितनी है इनामी राशि? जानें इसके बारे में सब कुछ"

Post a Comment

JOIN WHATSAPP GROUP

JOIN WHATSAPP GROUP
THE VOICE OF MP WHATSAPP GROUP

JOB ALERTS

JOB ALERTS
JOIN TELEGRAM GROUP

Slider Post