-->
हार्ट अटैक ज्यादातर बाथरूम में नहाते वक्त ही क्यों आता है? आप भी कभी ना करें ये गलती

हार्ट अटैक ज्यादातर बाथरूम में नहाते वक्त ही क्यों आता है? आप भी कभी ना करें ये गलती


अक्सर सुनने में आता है कि बाथरुम में किसी को हार्ट अटैक आ गया. लेकिन, कभी आपने सोचा है कि बाथरुम में ऐसा क्या होता है कि लोगों को बाथरूम में नहाते वक्त हार्ट अटैक आता है

हार्ट अटैक ज्यादातर बाथरूम में नहाते वक्त ही क्यों आता है? आप भी कभी ना करें ये गलती
बाथरुम में हार्टअटैक आने के कई कारण होते हैं और जिन लोगों को पहले से हार्ट संबंधी बीमारियां होती हैं, उन्हें इसका खतरा ज्यादा होता है.

अब लोगों में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ता जा रहा है. एक दम से होने वाली इस परेशानी में कई लोगों की जान तक चली जाती है. आपने भी कई ऐसे लोगों के बारे में सुना होगा, जिनकी हार्ट अटैक की वजह से जान चली गई. कई बार लोग बच भी जाते हैं, लेकिन आपने गौर किया होगा कि अक्सर लोगों को हार्ट अटैक बाथरूम में ही आता है. बहुत से केस ऐसे हैं, जिनमें हार्ट अटैक बाथरूम में ही होता है.

लेकिन, कभी आपने सोचा है कि आखिर ऐसा क्यों होता है और बाथरूम में हार्ट अटैक होने का खतरा ज्यादा क्यों होता है. हमने इस बारे में हार्ट स्पेशलिस्ट डॉक्टर्स से बात की, जिन्होंने बताया कि यह किस वजह से होता है. ऐसे में आपको भी बाथरूम में कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे आपको कोई दिक्कत ना हो…

क्या सही में ऐसा होता है?

अक्सर माना जाता है कि बाथरूम में हार्ट अटैक का खतरा होता है और यह बात कई रिसर्च में भी सामने आई है. अमेरिका की नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसीन के नेशनल सेंटर फॉर बॉयोटेक्नोलॉजी इंफोर्मेशन (NCBI) की रिपोर्ट में भी कहा गया है कि 11 फीसदी से ज्यादा हार्ट अटैक के केस बाथरूम में होते हैं. इसके अलावा कई रिपोर्ट्स में कहा गया है कि बाथरूम में हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है.

ऐसे क्यों होता है?

इस बारे में मैक्स हॉस्पिटल के सीनियर डायरेक्टर और हार्ट रोग स्पेशलिस्ट डॉक्टर मनोज कुमार का कहना है कि बाथरुम में हार्ट अटैक आने के कई कारण होते हैं और जिन लोगों को पहले से हार्ट संबंधी बीमारियां होती हैं, उन्हें इसका खतरा ज्यादा होता है. डॉक्टर मनोज कुमार ने टीवी9 को बताया, ‘जब लोगों कब्ज की शिकायत रहती है और पेट साफ करने के लिए ज्यादा स्ट्रेन करते हैं तो इससे उनके हार्ट पर जोर पड़ता है. इस वक्त हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा रहता है. ऐसे में हम हार्ट पैशेंट्स को सलाह देते हैं कि वो ज्यादा दम ना लगाएं और कब्ज आदि की समस्या है तो दवाइयां लें.’

इसके अलावा डॉक्टर मनोज कुमार ने बताया, ‘नहाते समय भी हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है. जब आप अपनी बॉडी के हिसाब से पानी का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो इसका खतरा बढ़ जाता है. जैसे ठंडे मौसम में ज्यादा ठंडे पानी से दिक्कत हो सकती है. इसके अलावा जब नहाते समय ज्यादा तेज चलाते हैं तो भी हार्ट अटैक पर स्ट्रेस बढ़ जाता है.’ ऐसे में कोशिश करनी चाहिए कि तापमान के हिसाब से पानी का इस्तेमाल करना चाहिए और आराम से नहाना चाहिए. जिन लोगों को पहले से हार्ट में दिक्कत है तो उन्हें इसका ज्यादा ध्यान रखना चाहिए.

0 Response to "हार्ट अटैक ज्यादातर बाथरूम में नहाते वक्त ही क्यों आता है? आप भी कभी ना करें ये गलती"

Post a Comment


INSTALL OUR ANDROID APP

JOIN WHATSAPP GROUP

JOIN WHATSAPP GROUP
THE VOICE OF MP WHATSAPP GROUP

JOB ALERTS

JOB ALERTS
JOIN TELEGRAM GROUP

Slider Post