Skip to main content

22 July Ka Itihas (22 July की ऐतिहासिक घटनाये)


1916 – सैन फ्रांसिस्को में, एक परेड के दौरान मार्केट स्ट्रीट पर एक बम विस्फोट हुआ जिसमे दस की मौत और 40 घायल हो गए थे.
1918 – भारत के पहले पायलट इंद्रलाल राय लंदन के आसपास जर्मनी के विमानों के साथ संघर्ष में मारे गए थे.
1942 – युद्ध की मांगों के कारण संयुक्त राज्य सरकार अनिवार्य नागरिक गैसोलीन राशनिंग शुरू हुई थी.
1943 – द्वितीय विश्व युद्ध: सहयोगी सेनाएं सिसिली के सहयोगी आक्रमण के दौरान पालेर्मो पर कब्जा किया था.
1943 – द्वितीय विश्व युद्ध: एक्सिस व्यवसाय बलों ने एथेंस में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन को रोक दिया जिसमे 22 की हत्या हुई थी.
1944 – पोलैंड में कम्युनिस्ट शासन की अवधि शुरू करने से राष्ट्रीय स्वतंत्रता की पोलिश समिति ने अपना घोषणापत्र प्रकाशित किया था.
1947 – पिंगली वेंकैय्या द्वारा निर्मित भारत के राष्ट्रीय ध्वज को उसके वर्तमान स्वरूप में भारत की संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था.
1963 – सरवाक के क्राउन कॉलोनी ने आत्म-शासन प्राप्त किया था.
1977 – चीनी नेता डेंग ज़ियाओपिंग को सत्ता में निकाल दिया गया था.
1981 – भारत के पहले भूस्थिर उपग्रह एप्पल ने कार्य करना प्रारंभ किया था.
1983 – पोलैंड में मार्शल लॉ को आधिकारिक तौर पर रद्द कर दिया गया था.
1990 – एक अमेरिकी सड़क रेसिंग साइकिल चालक ग्रेग लीमोन्ड ने दौड़ के बहुमत के बाद अपना तीसरा टूर डी फ्रांस जीता यह लेमोन्ड की दूसरी लगातार टूर डी फ्रांस में जीत थी.
1992 – मेडेलिन के पास, कोलंबियाई दवा के मालिक पाब्लो एस्कोबार संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रत्यर्पण से डरते हुए अपनी लक्जरी जेल से बच निकले थे.
1997 – दूसरा ब्लू वाटर ब्रिज पोर्ट हूरॉन, मिशिगन और सरना, ओन्टारियो के बीच खुला था.
2011 – विवेकानंद इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मायकोलॉजी के फफूंदी अनुसंधान दल ने 100-115 डिग्री सेल्सियस तापमान सह सकने वाले तापरोधी फफूंदी के बीजाणुओं की खोज की थी.
2013 – डिंगक्सी, चीन में भूकंप की एक श्रृंखला में कम से कम 89 लोग मारे गए और 500 से अधिक अन्य घायल हो गए थे.

22 July Famous People Birth (22 July को जन्मे प्रसिद्द व्यक्ति)

1894 – पहली लोकसभा के सदस्य सरदार तेजा सिंह अकरपुरी का जन्म हुआ था.
1898 – प्रसिद्ध शास्त्रीय संगीत गायक विनायकराव पटवर्धन का जन्म हुआ था.
1923 – प्रसिद्ध पार्श्व गायक मुकेश का जन्म हुआ था.
1965 – ‘रेमन मैगसेसे पुरस्कार’ से सम्मानित प्रसिद्ध भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता संदीप पांडेय का जन्म हुआ था.
1970 – महाराष्ट्र के 18वें मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस का जन्म हुआ था.

Famous Persons Death on 22 July (22 July को हुए प्रसिद्द व्यक्तियों के निधन)

1933 – भारतीय स्वाधीनता संग्राम के प्रमुख नायकों में से एक यतीन्द्र मोहन सेन गुप्त का निधन हुआ था.
1968 – भारत की प्रसिद्ध महिला चिकित्सक, सामाजिक कार्यकर्ता और पद्म भूषण प्राप्तकर्ता मुत्तू लक्ष्मी रेड्डी (Muttu Lakshmi Reddy) का निधन हुआ था.

Important Festival and Days on 22 July (22 July को हुए महत्त्वपूर्ण उत्सव और दिवस)

राष्ट्रीय झण्डा अंगीकरण दिवस (भारत)

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories