Skip to main content

SBI में खुलवाएं ये खास खाता! पैसा लगाने पर एक हफ्ते में हो सकता है डबल, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें


हर किसी चाह जल्दी से जल्दी पैसा कमाने की होती है. लेकिन सवाल यहीं उठता है ये कैसे संभव है. एक्सपर्टस बताते हैं कि ऐसा शेयर बाजार में हो सकता है. आइए जानें कैसे?

SBI में खुलवाएं ये खास खाता! पैसा लगाने पर एक हफ्ते में हो सकता है डबल, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें

आईपीओ में निवेश कर फटाफट अच्छे रिटर्न पाए जा सकते हैं. आईपीओ के जरिए कंपनियां समय-समय पर फंड जुटाती हैं. आने वाले दिनों में LIC समेत कई कंपनियां आईपीआई ला रही है. ऐसे में आप SBI में डीमैट अकाउंट खोल सकते है.आईपीओ का मतलब इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग होता है. इसके लिए कंपनियां बाकायदा शेयर बाजार में खुद को लिस्ट कराकर अपने शेयर इन्‍वेस्‍टर्स को बेचती हैं. शेयर बाजार में लिस्टेड होने के लिए कंपनी को अपने बारे में तमाम जानकारियां सार्वजनिक करनी होती है. यदि हम इसे आसान शब्‍दों में कहें तो कंपनी आईपीओ के माध्यम से अपने शेयर जारी करती है. आईपीओ के जरिए कंपनियों के प्रमोटर पूंजी जुटाने के लिए अपनी कंपनी की कुछ हिस्‍सेदारी को बेचते हैं.

जल्दी मिलता है पैसा कमाने का मौका

सीनियर एनालिस्ट अरुण केजरीवाल ने शेयर बाजार में निवेश का एक ऑप्शन आईपीओ होता है. हालांकि, शेयर बाजार का नाम आते ही लोग घबरा जाते हैं. लेकिन, आईपीओ में निवेश एक सुरक्षित और बेहतर ऑप्शन है.

आईपीओ में निवेश का फायदा यह है कि लिस्टिंग के 3-4 दिन में ही आईपीओ की कीमत दोगुनी हो सकती है. उदाहरण के तौर पर, अगर आपने आईपीओ में 100 रुपए के भाव पर 100 शेयर लिए हैं.

बीएसई और एनएसई पर लिस्टिंग के बाद शेयर का भाव महज तीन दिन में 200 रुपए हो जाता है. ऐसे में आपकी रकम एक हफ्ते से पहले ही डबल हो जाएगी. हालांकि, इसमें आप एक निश्चित सीमा तक ही निवेश कर सकते हैं.

क्या ऐसा पहले कभी हुआ है

ऐसा कई बार हुआ है. साल 2017 में सालासर टेक्नो इंजीनियरिंग इश्यू प्राइस के मुकाबले 140 फीसदी पर लिस्ट हुआ. इस लिहाज से जिन्होंने स्टॉक में 1 लाख रुपए लगाए होंगे, उन्हें उसी दिन 1.40 लाख रुपए का मुनाफा हो गया.

वहीं, मार्च के महीने में डी-मार्ट 101 फीसदी प्रीमियम के साथ लिस्ट हुआ था. यानी जिन्होंने स्टॉक में 1 लाख रुपए लगाए होंगे, उन्हें उसी दिन 1 लाख रुपए का मुनाफा हो गया होगा.

जुलाई के महीने में सीडीएसएल 68 फीसदी की बढ़त के साथ लिस्ट हुआ है. इसके अलावा एयू स्मॉल फाइनेंस 50 फीसदी से ज्यादा की बढ़त के साथ लिस्ट हुआ है.

आईपीओ में पैसा कैसे लगाएं

इसके लिए आपको डीमैट अकाउंट खुलवाना होगा. वो आप अपने बैंक या फिर किसी ब्रोकर्स के पास खुलवा सकते है. आईपीआई खुलने के बाद उसमें अप्लाई किया जाता है. इसके बाद शेयर अलॉट होते है. ऐसा जरूरी नहीं कि आपको शेयर मिल ही जाएं. क्योंकि ज्यादा लोंगे के अप्लाई करने पर इसे लॉटरी बेसिस पर तय किया जाता है.

इसके बाद आईपीओ की लिस्टिंग की तारीख आती है और लिस्टिंग वाले दिन अगर शेयर अपने इश्यू प्राइस यानी जिस दाम पर आपको शेयर मिले है. उससे ऊपर लिस्ट होता है तो आपको मुनाफा होता है. अगर इश्यू प्राइस से दाम नीचे चला जाता है तो आपको शेयर बेचने पर नुकसान होता है.

कैसे तय करें की आईपीओ में पैसा लगाएं कि नहीं?

आईपीओ में निवेश करने से पहले कंपनी और सेक्टर के पिछले कुछ सालों के प्रदर्शन की जांच-परख करना जरूरी है. कंपनी द्वारा जारी किए आंकड़ों से ही फैसला न लें. देखें कि दूसरी कंपनियों के मुकाबले कंपनी का प्रदर्शन कैसा रहा है.

SBI की ओर से जारी जरूरी नियम

एएसबीए के जरिए भी पैसा लगाया जाता है. एसबीआई की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, जब कोई आईपीओ में पैसा लगाता है. तो वो रकम बैंक के इसी खाते में जमा रहती है. अगर आईपीओ के शेयर मिल जाते हैं तो वो रकम काट ली जाती है.

एएसबीए के माध्यम से आवेदन करने के लिए एसबीआई में डीमैट अकाउंट का होना जरूरी नहीं है. अन्य संस्थाओं के साथ डीमैट खाता रखने वाले ग्राहक एसबीआई- एएसबीए सुविधा के माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं. एएसबीए के माध्यम से आवेदन करने के लिए एसबीआई में डीमैट अकाउंट का होना जरूरी नहीं है.

घर बैठे लगाएं पैसा

एएसबीए सुविधा के तहत “Onlinesbi” पर बोली लगा सकते हैं. ऐसे निवेशकों के लिए, यहां किसी भी शाखा में जाकर आवेदन पत्र जमा करने की आवश्यकता नहीं है.

इंटरनेट बैंकिंग उपयोगकर्ताओं को www.onlinesbi.com पर लॉग इन करना चाहिए और e-services >> Demat & ASBA services>> IPO (Equity) ASBA or IPO (Debt) ASBA option पर जाना होगा.

एसबीआई का कोई भी ग्राहक, जिसके पास बचत या चालू खाता है, इंटरनेट बैंकिंग सुविधा के लिए पंजीकरण कर सकता है. एसबीआई के सभी ग्राहक, चाहे उनका खाता किसी भी शाखा में क्यों न हो, इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से एएसबीए के लिए आवेदन कर सकते हैं.

आवेदक द्वारा उच्चतम मूल्य बोली की कुल राशि पर होल्ड लगाया जाएगा. आवंटन के आधार पर आवेदन राशि अंतिम रूप देने तक अवरुद्ध रहेगी.

शेयर आवंटन के बाद खाता डेबिट किया जाएगा. यदि आवेदक द्वारा दी गई कोई भी जानकारी गलत है, तो बोली अस्वीकार की जा सकती है और बैंक किसी नुकसान के लिए उत्तरदायी नहीं होगा.

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories