MP की राजनीति में एंट्री ले रही है ओवैसी की AIMIM, ये 25 जिले हैं निशाने पर


AIMIM ने एक सर्वे कराया है.और सर्वे के रिजल्ट के हिसाब से पार्टी इस बार मेयर का चुनाव नहीं लड़ेगी. सिर्फ 10 से 12 पार्षदों को ही चुनाव के मैदान में उतारेगी

MP की राजनीति में एंट्री ले रही है ओवैसी की AIMIM, ये 25 जिले हैं निशाने पर
AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव, होने से पहले ही दिलचस्प बन गए हैं. नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस, बीजेपी को टक्कर देने के लिए हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन यानि AIMIM एंट्री कर रही है. लेकिन पार्टी का प्रदेश में निकाय चुनाव में एंट्री का तरीका बिल्कुल अलग होने वाला है. दरअसल AIMIM ने एक सर्वे कराया है. और सर्वे के रिजल्ट के हिसाब से पार्टी इस बार मेयर का चुनाव नहीं लड़ेगी. सिर्फ 10 से 12 पार्षदों को ही चुनाव के मैदान में उतारेगी.

प्रदेश मे होने वाले निकाय चुनाव कई मायनों में खास है. इस चुनाव में बड़े सियासी दलों की साख तो दांव पर है ही ,साथ ही अब AIMIM भी एमपी में एंट्री मार रही है. पार्टी ने प्रदेश में एंट्री से पहले इंदौर के साथ राज्य के कई शहरो में सर्वे कराया है. इस सर्वे का एक राउंड पूरा हो चुका है. और सर्वे के रिजल्ट के हिसाब से ही अब AIMIM ने अपनी आगे की रणनीति तैयार की है

इंदौर में शुरू हुआ औवेसी चेरिटेबल क्लीनिक

AIMIM का फोकस क्लीयर है वो इंदौर में इस बार 10 से 12 मुस्लिम बाहुल्य वार्डों पर अपने कैंडिडेट उतारेंगे. चूंकि पार्टी प्रदेश में नई है तो लोगों तक पहुंचना एक बड़ा टास्क है. ऐसे में पार्टी ने यहां औवेसी चेरिटेबल क्लीनिक शुरू कर दिया है. जिसमें केवल 10 रुपये में इलाज किया जा रहा है. ये क्लीनिक दिल्ली के मोहल्ला और मध्यप्रदेश के संजीवनी क्लीनिक की तर्ज पर ही काम कर रहा है.

मध्य प्रदेश में 25 ज़िलों में चुनाव लड़ेगी पार्टी

AIMIM केवल इंदौर में ही चुनाव नहीं लड़ रही बल्कि इंदौर के साथ वो प्रदेश के 25 जिलों से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है. पार्टी ने नगरीय निकाय इलेक्शन का प्रभार हैदराबाद नगर निगम के पार्षद सैयद मिनहाजुद्दीन को सौंपा है. वे बीते दिनों इंदौर का दौरा कर चुके हैं. उन्हीं की देखरेख में ही सर्वे हुआ है. इतना ही नहीं चुनाव में प्रचार के लिए खुद असदुद्दीन ओवैसी शहर आएंगे.

AIMIM ने इंदौर में खजराना,चंदन नगर,आजाद नगर,ग्रीन पार्क,बंबई बाजार जैसे मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में पार्षद पद के उम्मीदवार खड़े करने का निर्णय ले लिया है. लेकिन कई दूसरे शहरों में मेयर और नगर पालिका अध्यक्षों को भी मैदान में उतारने की तैयारी है.

इस पहले AIMIM को महाराष्‍ट्र और बिहार विधानसभा चुनाव में अच्छा रिस्पांस मिला है. जिसके बाद ओवैसी देश में मुसलमानों का बड़ा चेहरा बनने की तैयारी में हैं. वो पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के साथ ही मध्‍यप्रदेश की सियासत में भी स्थानीय चुनाव के रास्ते एंट्री कर रहे हैं.

Comments

Popular posts from this blog

कोरोना का खौफ : भारत की सबसे बड़ी देहमंडी में पसरा सन्नाटा

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

Janta Curfew के बीच कोरोना के डर से युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- सभी अपना टेस्ट कर लेना