आज से बिना Fastag के गाड़ी चलाई तो देना होगा दोगुना Toll Tax, जानें- कैसे खरीदें और रिचार्ज कराएं फास्टैग

FASTag खरीदने के लिए इसकी कीमत दो चीजों पर निर्भर करती है. आपके पास कार, जीप, वैन, बस, ट्रक, कमर्शियल व्हीकल्स आदि में से कौन सा वाहन है... और दूसरा कि आप कहां से फास्टैग खरीद रहे हैं.

आज से बिना Fastag के गाड़ी चलाई तो देना होगा दोगुना Toll Tax, जानें- कैसे खरीदें और रिचार्ज कराएं फास्टैग
फास्टैग

आज से सभी वाहनों में FASTags अनिवार्य हो गया है. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने पहले 1 जनवरी से इसे लागू करने का निर्देश जारी किया था. हालांकि लोगों को राहत देते हुए सरकार ने इस अल्टीमेटम को बढ़ाकर 15 फरवरी कर दिया गया था. अब सभी वाहनों में FASTags अनिवार्य हो गया है.

देश भर में टोल चार्ज चुकाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम FASTag जरूरी होगा. नेशनल हाईवे के किसी भी टोल प्लाजा को क्रॉस करते समय आपको इसकी जरूरत पड़ेगी. कैश ट्रांजैक्शन के मुकाबले फास्टैग से व्हीकल्स के लिए टोल प्लाजा में लगने वाला वेटिंग टाइम घटेगा.

क्या होता है फास्टैग?

फास्टैग (Fastag) एक तरह का स्टीकर होता है जो आपकी गाड़ी के विंडस्क्रीन पर लगता है. स्टीकर को कार की विंडशील्ड के अंदर लगाया जाता है और इसमें बार कोड होता है. डिवाइस रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करता है जो सीधे टोल प्लाजा पर लगे स्कैनर से कनेक्ट होता है. गाड़ी पास करने के दौरान आपके फास्टैग अकाउंट से पैसे कट जाते हैं.

ऐसे में अगर आपकी गाड़ी पर ये फास्टैग लगा हुआ है तो आप आसानी से बिना किसी रुकावट के टोल प्लाजा से निकल सकते हैं. फास्टैग को आप अपने वॉलेट, डेबिट या क्रेडिट कार्ड से जोड़ सकते हैं. ऐसे में जहां जहां टोल लगेगा, वहां आपके अकाउंट से पैसे कटते जाएंगे.

क्या होगा अगर आप बिना टैग के लेन में घुस जाते हैं?

अगर आपकी गाड़ी में फास्टैग नहीं लगा है तो सबसे पहले आपको मार्शल लेन में घुसने नहीं दिया जाएगा. लेकिन अगर आपने फास्टैग वाली लेन में घुसने की गलती की तो उस प्लाजा पर आपकी गाड़ी का जितना टोल होगा उसका डबल आपको चुकाना पड़ेगा.

Fastag

कहां से खरीदें FASTag?

फास्टैग खरीदने के लिए गाड़ी के रजिस्ट्रेशन डॉक्यूमेंट्स के साथ आपकी आईडी की जरूरत पड़ती है. FASTags को देश भर के किसी भी टोल बूथ से खरीदा जा सकता है. इसके अलावा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, HDFC बैंक, Axis बैंक, ICICI बैंक, Kotak बैंक, Paytm पेमेंट्स बैंक और IDFC First बैंक समेत 22 बैंकों से खरीद सकते हैं. वहीं पेटीएम, अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसे ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर भी यह उपलब्ध हैं. कई बैंक अपने मोबाइल ऐप्स से FASTags खरीदने पर डिस्काउंट, एक्सक्लूसिव ऑफर्स और कैशबैक दे रहे हैं.

कितनी पड़ती है कीमत?

FASTag खरीदने के लिए इसकी कीमत दो चीजों पर निर्भर करती है. आपके पास कार, जीप, वैन, बस, ट्रक, लाइट कमर्शियल व्हीकल्स, कंस्ट्रक्शन मशीन आदि में से कौन सा वाहन है… और दूसरा कि आप कहां से फास्टैग खरीद रहे हैं. इश्यू फीस और सिक्योरिटी डिपॉजिट को लेकर अलग-अलग बैंकों में इसकी कीमत अलग हो सकती है.

फास्टैग अब आप पेटीएम से भी घर बैठे मंगा सकते हैं.

उदाहरण के लिए PayTM पर फास्टैग आपको 500 रुपये का पड़ेगा, जिसमें से 250 रुपये रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपॉजिट है. विभिन्न प्लेटफॉर्म्स पर मौजूद ऑफर्स के तहत खरीदने पर आपको कम कीमत पड़ेगी.

कैसे कराएं रिचार्ज?

अगर फास्टैग NHAI प्रीपेड वॉलेट से जुड़ा है, तो इसे रिचार्ज कर सकते हैं. इसे यूपीआई/डेबिट या क्रेडिट कार्ड/NEFT/नेट बैंकिंग आदि के माध्यम से रिचार्ज किया जा सकता है. अगर बैंक खाते को फास्टैग से लिंक करा लिया होता है, तो पैसे सीधे खाते से काट लिए जाते हैं. वहीं, अगर Paytm वॉलेट को फास्टटैग से लिंक कर लेने पर सीधे वॉलेट से रिचार्ज किया जा सकता है.

कितनी मिलती है वैधता?

आपको अपने फास्टैग अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस रखने की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है. आप अपनी जरूरत और सुविधानुसार इसे रिचार्ज करा सकते हैं. फास्टैग की वैधता जारी होने की तिथि से पांच साल है. रिचार्ज कराने पर इसकी वैधता नहीं बढ़ती है.

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News