Skip to main content

FASTag को लेकर इस तरह हो रहा है फ्रॉड, NHAI ने भी जारी किया अलर्ट


बाजार में कई फर्जी फास्टैग भी बेचे जा रहे हैं, ऐसे में आपको इनका ध्यान रखना होगा. फर्जी फास्टैग के बढ़ते केस को लेकर NHAI यानी भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने भी अलर्ट जारी किया है

FASTag को लेकर इस तरह हो रहा है फ्रॉड, NHAI ने भी जारी किया अलर्ट
एनएचएआई ने जानकारी दी है कि NHAI या IHMCL के नाम पर फेक फास्टैग बेचे जा रहे हैं.

भारत सरकार की ओर से टोल टैक्स के लिए फास्टैग को अनिवार्य कर दिया गया है. अगर आप नेशनल हाइवे पर यात्रा कर रहे हैं तो आपकी कार पर फास्टैग लगा होना आवश्यक है, नहीं तो आपको टोल देने में मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है. अगर आपकी गाड़ी में भी फास्टैग नहीं है तो आप भी जल्द से जल्द ये लगवा लें. फास्टैग के अनिवार्य होने की वजह से इसकी बिक्री में भी काफी इजाफा हो गया है और इसकी वजह से फ्रॉड भी हो रहे हैं. ऐसे में आपको फास्टैग लेने के साथ ही अलर्ट रहना आवश्यक है.

बताया जा रहा है कि बाजार में कई फर्जी फास्टैग भी बेचे जा रहे हैं, ऐसे में आपको इनका ध्यान रखना होगा. फर्जी फास्टैग के बढ़ते केस को लेकर NHAI यानी भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने भी अलर्ट जारी किया है. एनएचएआई ने फेक फास्टैग को लेकर अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर एक पब्लिक नोटिस शेयर किया है, जिसमें बताया है कि किस तरह से फास्टैग बेचे जा रहे हैं और फास्टैग खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए. ऐसे में जानते हैं कि फास्टैग से किस तरह से फ्रॉड हो रहा है और एनएचएआई ने क्या कहा है…

एनएचएआई ने क्या जानकारी दी है?

एनएचएआई ने जानकारी दी है कि NHAI या IHMCL के नाम पर फेक फास्टैग बेचे जा रहे हैं. नोटिस में लिखा गया है, ‘फ्रॉडस्टर्स NHAI/IHMCLके मिलते जुलते नाम से फास्टैग बेच रहे हैं. वैध ऑनलाइन फास्टैग सिर्फ www.ihmcl.co.in या MyFASTag App की वेबसाइट के जरिए खरीदे जा सकते हैं. इसके अलावा ग्राहक फास्टैग बैंक और आधिकृत पीओएस, बैंक वेबसाइट से खरीद सकते हैं. कई वेबसाइट की जानकारी IHMCL की वेबसाइट पर दी गई है.

क्या है NHAI की सलाह?

NHAI ने अपनी वेबसाइट पर जानकारी दी है कि कोई भी अनजान जगह से ऑनलाइन ऑर्डर ना करें. ऐसी ही कोई भी घटना सामने आने पर NHAI की हेल्पलाइन 1033 पर ऑनलाइन पर संपर्क करें या etc.nodal@ihmcl.com पर मेल करके जानकारी दें.

किन गाड़ियों के लिए आवश्यक है फास्टैग?

सरकार की ओर से अभी फास्टैग को M और N कैटेगरी वाहनों के लिए आवश्यक किया है. जिसमें चार से अधिक पहिए वाले पर्सनल वाहन या सामान ले जाने वाले लोडिंग वाहन शामिल है. बता दें कि यह नई व्यवस्था टू-व्हीलर्स के लिए नहीं है.

अगर किसी के पास फास्टैग नहीं होगा तो क्या होगा?

वैसे तो सरकार लंबे समय से फास्टैग लगवाने पर जोर दे रही है, लेकिन फिर भी अगर कोई फास्टैग नहीं लगवाता है तो उन्हें जुर्माना भी भरना पड़ेगा. अगर आप बिना फास्टैग वाली गाड़ी के साथ टोल पार करने की कोशिश करते हैं तो आपके लिए मुश्किल हो सकती है. ऐसे में आपको जुर्माने के रूप में दोगुना टोल देना होगा.

फास्टैग काम न करे तो क्या करें

टोल से गुजरते ही आपके फास्टैग अकाउंट से पैसा कटता है जिसकी सूचना एसएमएस के जरिये आपके मोबाइल पर मिल जाती है. मैसेज में टोल का नाम, ट्रांजेक्शन की तारीख, ट्रांजेक्शन अमाउंट और फास्टैग के बैलेंस के बारे में जानकारी होती है. ऐसा भी हो सकता है कि टोल प्लाजा पर आपका फास्टैग काम नहीं करे. ऐसी स्थिति में 1033 टोल फ्री नंबर पर फोन कर अपनी शिकायत दर्ज करानी चाहिए. 1033 कॉल सेंटर को एनएचएआई (भारत सरकार) ने हाइवे यूजर्ज के लिए स्थापित किया है.

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories