Skip to main content

ये है नए जमाने का नया बिजनेस आइडिया! DIY के इस कोर्स के बाद आप भी कर सकते हैं शानदार कमाई


इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री बढ़ने के साथ ही अब इनके मैकेनिक की मांग भी बढ़ रही है. यहां तक कि कई बड़ी कंपनियों को भी इलेक्ट्रिक कारों के मैकेनिक नहीं मिल रहे हैं तो अगर आपका इलेक्ट्रिक कारों में इंट्रेस्ट है तो इसमें करियर बना सकते हैं

ये है नए जमाने का नया बिजनेस आइडिया! DIY के इस कोर्स के बाद आप भी कर सकते हैं शानदार कमाई
DIYguru ने इसके लिए एक ऑनलाइन कोर्स शुरू किया है.

ये तो आप जानते हैं कि पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए अब सरकार से लेकर जनता तक हर कोई इलेक्ट्रिक कारों की ओर बढ़ रहा है. अब इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री में इजाफा हो रहा है और राज्य सरकारों के साथ ही केंद्र सरकार ज्यादा से ज्यादा इलेक्ट्रिक कार बेचने पर जोर दे रही है. दिल्ली सरकार ने तो अब पूरी तरह से इलेक्ट्रिक कारों का इस्तेमाल करने का लक्ष्य रखा है. ऐसे में आप भी इलेक्ट्रिक कारों की मदद से अच्छा पैसा कमा सकते हैं. आप भी सोच रहे होंगे कि आखिर इलेक्ट्रिक कारों से किस तरह बिजनेस किया जा सकता है…

दरअसल, इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री बढ़ने के साथ ही अब इनके मैकेनिक की मांग भी बढ़ रही है. यहां तक कि कई बड़ी कंपनियों को भी इलेक्ट्रिक कारों के मैकेनिक नहीं मिल रहे हैं तो अगर आपका इलेक्ट्रिक कारों में इंट्रेस्ट है तो आप इसके मैकेनिक बनकर, इसकी वर्कशॉप खोलकर या फिर इससे जुड़े पार्ट्स से जुड़ा बिजनेस करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं. अभी इलेक्ट्रिक मैकेनिक की आवश्यकता है और वो बाजार में नहीं मिल रहे हैं. ऐसे में आप इसका फायदा उठा सकते हैं

वहीं, एक स्टार्टअप DIYguru ने इसके लिए एक ऑनलाइन कोर्स शुरू किया है. इससे आप घर बैठे ऑनलाइन माध्यम से यह कोर्स कर सकते हैं, जिससे आप इलेक्ट्रिक गाड़ियों से जुड़ी तकनीकी जानकारी ले सकते हैं और भविष्य के लिए अपने लिए अच्छी इनकम का सोर्स तैयार कर सकते हैं. इस कोर्स में आपको वर्कशॉप भी करवाई जाएगी और प्रेक्टिकल नॉलेज भी दी जाएगी, जो आपकी इलेक्ट्रिक गाड़ियों की समझ बढ़ाने में मदद करेगा. ऐसे में जानते हैं कि यह कोर्स क्या है और इससे आपको क्या फायदा मिलने वाला है और डीआईवाई किस तरह से लोगों की मदद कर रहा है.

क्या है DIYguru?

DIYguru एक Ed-Tech कंपनी है, जो इलेक्ट्रिक मोबिलिटी वर्कफोर्स को स्किल्स देती है. यह ऑनलाइन प्लेटफॉर्म होने बाद भी लोगों को इलेक्ट्रिक गाड़ियों के लिए ट्रेनिंग दी जा रही है. कंपनी की शुरुआत साल 2017 में हुई थी. कंपनी की वेबसाइट पर कोर्स के लिए 56 हजार से ज्यादा लोग रजिस्टर कर चुके हैं. इतना ही नहीं, DIY के कोर्स का फायदा Bosch, Hyundai, Maruti जैसी कंपनियां भी ले रही हैं और अपने वर्कर्स को भी इस कोर्स के जरिए ट्रेनिंग दिलवा रही है. DIYguru को भारत सरकार की ओर से भी डिजिटल इंडिया फाउंडेशन अवॉर्ड दिया गया था.

Diy

इस कंपनी की शुरुआत अविनाश सिंह, जसकरन मनोचा और आकाश जैन ने की और अब कंपनी हजारों लोगों को ट्रेनिंग दे चुकी है. इसके बाद से लोगों ने अपनी वर्कशॉप खोल ली है या कई बड़ी कंपनियों में बढ़ रही डिमांड में अच्छी नौकरी हासिल कर ली है.

इस कोर्स में क्या है खास?

DIY Guru के कोर्स Automotive Skills Development Council (ASDC) और All India Council for Technical Education (AICTE) की ओर से प्रमाणित है. ये कोर्स काफी कम कीमत के हैं, जिसे एक सामान्य वर्ग का व्यक्ति भी खरीद सकता है और इलेक्ट्रिक कारों से जुड़ी जानकारी जुटा कर अच्छे पैसा कमा सकते हैं. ये कोर्स खास तकनीक के हिसाब से डिजाइन किए गए हैं, जिसमें लाइव क्लास की तरह हर एक गाड़ी के पार्ट की विस्तृत जानकारी ले सकते हैं.

कंपनी के फाउंडर अविनाश सिंह ने टीवी9 को बताया, ‘ये कोर्स खास तरीके से डिजाइन किए गए हैं और इनकी फीस भी कम रखी गई है, जिससे हर वर्ग का व्यक्ति इसे खरीद सके. इस कोर्स के साथ ही स्टूडेंट्स को प्रेक्टिकल नॉलेज के लिए वर्कशॉप भी दी जाती है, जिससे हर कोई इलेक्ट्रिक कारों के बारे में समझ सकता है. कोर्स के मोड्यूल में लाइव इंट्रेक्टिंग क्लास दी जा रही है, जिससे भारत में अभी कहीं भी पढ़ाई नहीं करवाई जा रही है.’

अविनाश ने बताया, ‘कई ऑटोमोबाइल कंपनी अब लोगों की डिमांड कर रही है और हमारे यहां से ट्रेनिंग किए हुए लोगों को वहां आसानी से नौकरी मिल रही है. खास बात ये है कि ये कोर्स तीन स्तर पर डिजाइन किया गया है, जिसमें पहला स्तर आईटीआई या 10वीं पास किए हुए लोगों के लिए है, जो आसानी से इलेक्ट्रिक कार के बारे में समझ सकते हैं. इसके अलावा दूसरे लेवल पर हम बीटेक किए हुए लोगों को ट्रेनिंग देते हैं, जबकि प्रोफेशनल स्तर के लिए अलग कोर्स है, जिसमें गाड़ी की काफी बारीकियों को समझाया जा सकता है.’

वहीं, कंपनी के को-फाउंडर जसकरण ने बताया, ‘अब इस कोर्स से सिर्फ भारत के ही नहीं बल्कि पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल जैसे देश के लोग भी इससे सीख रहे हैं. खास बात ये है कि हमने किसी भी विदेशी कंपनी को इसमें शामिल नहीं किया है और हम भारत के लोगों को रोजगार के सक्षम बनाने का काम कर रहे हैं. यहां तक कि कंपनी ने कई शहरों में जाकर वर्कशॉप दी है, जिसमें कई कॉलेज भी शामिल हैं. कंपनी ने आईआईटी से लेकर कई निजी कॉलेजों में भी इलेक्ट्रिक व्हीकल को लेकर ट्रेनिंग दी है. इस कोर्स में पढ़ाई के साथ लाइव टेस्ट भी लिया जाता है, जिससे हर स्टूडेंट को सबकुछ समझ आ जाए.

आपको कैसे हो सकता है फायदा?

दरअसल, अगर आप अभी इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल के बारे में जानकारी हासिल कर लेते हैं तो आपको आने वाले वक्त में काफी फायदा होने वाला है. इस कोर्स को करने के बाद आप कोई भी बड़ी कंपनी में जॉब हासिल कर सकते हैं या फिर खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं. क्योंकि आने वाले वक्त में इलेक्ट्रिक कार का बाजार बढ़ने वाला है और ये बाजार आपके लिए अच्छी कमाई का साधन बन सकता है

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

ग्वालियर - बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता शातिर चोर पकडे 10 लाख का माल बरामद। महाराजपुरा पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा चोरों का ग्रुप महाराजपुरा थाना प्रभारी मिर्ज़ा आसिफ बेग और उनकी टीम के द्वारा कार्यवाही की गई। महराजपुरा टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई।  10 लाख का माल भी बरामद किया गया।  महाराजपुर टीआई मिर्जा बेग ने बताया चोरों से 6 एलसीडी 8 लैपटॉप दो होम थिएटर 6 मोबाइल फोन एक स्कूटी टेबल फैन सिलेंडर बरामद हुआ है उनसे करीब 4 चोरियों का खुलासा हुआ है करीब 10 चोरियां कि गिरोह ने हामी भरी है 

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

कोरोना की स्थिति गंभीर होने पर कई राज्यों में फिर लॉकडाउन की स्थिति, सभी सीमाएं भी की जा रही हैं सील...। भोपाल। मध्यप्रदेश समेत पांच राज्य एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहे हैं। मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ते मामलों के बाद रविवार को पूरे प्रदेश में लॉकडाउन (Complete Lockdown) लगाया जा रहा है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Covid 19) की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्र ने तय किया है कि अब सप्ताह में एक दिन रविवार को पूरा प्रदेश बंद रहेगा। उधर, मध्यप्रदेश के अलावा बिहार, उत्तरप्रदेश में भी लाकडाउन के आदेश जारी कर दिए गए हैं।   मध्यप्रदेश में पिछले तीन दिनों में 11 सौ से अधिक संक्रमित मरीज मिलने और जबकि 409 एक ही दिन में संक्रमित मिलने के बाद यह फैसला लिया जा रहा है इस दौरान प्रदेश की सीमाएं भी सील की जा सकती है। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं ही चलती रहेंगी। गृह विभाग के बाद भोपाल समेत सभी जिलों के कलेक्टर अपने-अपने जिले के लिए एडवायजरी (Advisery'guideline) जारी कर रहे हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र के मुताबिक इस सप्ताह में एक दिन का लाकडाउन ही