ये महंगे होटल नहीं, रेलवे स्टेशन पर बने लाउंज हैं! जहां है कैप्सूल लिफ्ट, लिफ्ट जैसी कई सुविधाएं


लग्जरी और प्रीमियम लॉन्ज पश्चिम बंगाल में भी बनाए गए हैं. भारतीय रेलवे के अनुसार, सियालदह स्टेशन पर एग्जिक्यूटिव लाउंज और कोलकाता स्टेशन पर भी प्रीमियम लाउंज बनाए गए हैं

ये महंगे होटल नहीं, रेलवे स्टेशन पर बने लाउंज हैं! जहां है कैप्सूल लिफ्ट, लिफ्ट जैसी कई सुविधाएं
लग्जरी और प्रीमियम लॉन्ज पश्चिम बंगाल में भी बनाए गए हैं.

इंडियन रेलवे सुगम और सस्ती यात्रा देने के साथ ही यात्रियों को लग्जरी अनुभव देने के लिए अग्रसर है. भारतीय रेलवे ने अपनी वर्कशॉप में कई तरफ के आलीशान कोच डिजाइन किए हैं, जो यात्रियों की यात्रा को सुगम बनाने के लिए भी काम कर रहा है. ये ट्रेनें यात्रियों को काफी लग्जरी अनुभव दे रही हैं, जिससे आप आरामदायक यात्रा कर सकते हैं. साथ ही रेलवे ने हाल ही में कई स्टेशनों पर लग्जरी और प्रीमियम लॉन्ज भी बनाए हैं, जो एक महंगे होटल जैसी फिलिंग देते हैं.

ऐसे ही लग्जरी और प्रीमियम लॉन्ज पश्चिम बंगाल में भ बनाए गए हैं. भारतीय रेलवे के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से शेयर की गई जानकारी के अनुसार, सियालदह स्टेशन पर एग्जिक्यूटिव लाउंज और कोलकाता स्टेशन पर भी प्रीमियम लाउंज बनाए गए हैं. इन लॉन्ज को देखकर ही आप समझ जाएंगे कि ये कितने खास होंगे और यात्रियों को इसमें यात्रा करने पर कितना आनंद मिलेगा. आइए जानते हैं इन लाउंज में क्या खास है…

यह लाउंज दिखने में काफी शानदार होने के साथ काफी लग्जरी भी हैं. यहां का इंटीरियर ही लोगों को प्रभावित कर रहा है. इसके साथ ही सियालदह स्टेशन पर बने एग्जीक्यूटिव लाउंज, जिसमें आरामदायक सीटें, कैप्सूल लिफ्ट हैं. इसके साथ ही कोलकाता स्टेशन पर भी प्रीमियम लाउंज बना है, जो भी सभी सुविधाओं से युक्त है. तस्वीरों से आप इन लॉन्ज का ज्यादा अंदाजा लगा सकते हैं कि आखिर ये किस तरह से लग्जरी अनुभव देने वाले लाउंज है…

इसी तरह है रिटायरिंग रूम्स

इसी तरह देश के कई रेलवे स्टेशन पर रेलवे के रिटायरिंग रूम बनाए गए हैं, जहां कुछ घंटों से लेकर एक-दो दिन तक रुका जा सकता है. यह सिंगल, डबल ऑक्यूपेंसी के आधार पर मिलते हैं और इसमें एसी-नॉन एसी की कैटेगरी भी है. आप अपनी सुविधा के हिसाब से इनका फायदा ले सकते हैं. इन रिटायरिंग रुम्स को कम से कम 3 घंटे तक के लिए बुक कर सकते हैं और ज्यादा से ज्यादा 48 घंटों के लिए बुक किया जा सकते हैं. इसमें कुछ नियम स्टेशन के आधार पर चेंज भी किए जा सकते हैं.

इसमें आप एसी डिलक्स, एसी और सामान्य रूम बुक कर सकते हैं. इसमें यात्रियों की संख्या के आधार पर नियम बनाए गए हैं. अगर आप एक यात्री हैं तो आप सिंगल बेडरूम ले सकते हैं. दो यात्रियों के लिए एक डबल बेड रूम ले सकते हैं. वहीं तीन यात्रियों के लिए एक डबल रूम और सिंगल बेड रूम लेना होगा. यह किराया घंटों के हिसाब से तय किया जाता है. अगर आप सिर्फ 3 घंटे के लिए बुक कर रहे हैं तो आपका किराया कम होगा. साथ ही किराया डिलक्स रूम, एसी रुम या सामान्य रूम लेने पर भी निर्भर करता है.

एयरपोर्ट जैसे बन रहे रेलवे स्टेशन

वहीं, सरकार ने कई रेलवे स्टेशन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाने की पहल की है. इस पहल के जरिए रेलवे स्टेशन को फुली एसी का बनाया जा रहा है और फूड कोर्ट जैसी कई सुविधाएं दी जा रही हैं. ऐसे में लोगों के ट्रेन, लाउंज के साथ रेलवे स्टेशन का भी अनुभव भी खास होने वाला है.

Comments

Popular posts from this blog

कोरोना का खौफ : भारत की सबसे बड़ी देहमंडी में पसरा सन्नाटा

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

Janta Curfew के बीच कोरोना के डर से युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- सभी अपना टेस्ट कर लेना