ये है बिजनेस करने का शानदार तरीका! 6 लोगों के साथ काम शुरू किया, अब दे रहे हैं लाखों लोगों को रोजगार


Swiggy की शुरुआत साल 2014 में हुई थी. Swiggy की शुरुआत राहुल जैमिनी ने दो दोस्त नंदन रेड्डी और Sriharsha Majety के साथ की थी. इसकी शुरुआत महज 6 डिलिवरी ब्वॉय के साथ की गई थी

ये है बिजनेस करने का शानदार तरीका! 6 लोगों के साथ काम शुरू किया, अब दे रहे हैं लाखों लोगों को रोजगार
Swiggy की शुरुआत साल 2014 में हुई थी.

आजकल बिजनेस को लेकर कहा जाता है कि निवेश से ज्यादा बिजनेस का आइडिया काफी अहम होता है. अगर आपके बिजनेस का आइडिया अच्छा है तो कम पैसे निवेश करके भी काफी पैसे कमा सकते हैं, लेकिन आइडिया हिट नहीं होता तो आपके लाखों रुपये खराब हो सकते हैं. ऐसी है कहानी है आपके घर तक पकवान पहुंचाने वाले डिलिवरी ऐप स्विगी (Swiggy) की. जी हां, आज भले ही लाखों लोगों के हाथ में स्विगी की मोबाइल ऐप हो, लेकिन क्या आप जानते हैं कि Swiggy ने काफी कम निवेश के साथ छोटे स्तर के साथ बिजनेस की शुरुआत की थी.

लेकिन, अब स्विगी लोगों की जरुरत बनता जा रहा है और काफी लोग इस पर निर्भर रहने लग गए हैं. वहीं, अगर बिजनेस की बात करें तो Swiggy का कारोबार अब करोड़ों रुपये में है. ऐसे में जानते हैं कि Swiggy ने किस तरह कारोबार किया और कैसे यह इस मुकाम तक पहुंचा. साथ ही जानते हैं कि आखिर किस तरह से एक छोटे से बिजनेस को देशभर में फैलाया जा सकता है 

Swiggy की शुरुआत साल 2014 में हुई थी. Swiggy की शुरुआत राहुल जैमिनी ने दो दोस्त नंदन रेड्डी और Sriharsha Majety के साथ की थी. इसकी शुरुआत महज 6 डिलिवरी ब्वॉय के साथ की गई थी और उनसे सिर्फ 25 रेस्टोरेंट का खाना ही डिलिवर किया जाता था. हालांकि, 6 लोगों के साथ शुरू हुआ कारोबार इतना फैल गया कि अब SWiggy की वजह से लाखों लोगों को रोजगार मिल रहा है. साथ ही इससे रेस्टोरेंट के ग्राहकों में भी काफी इजाफा हुआ है.

राहुल ने कैसे की शुरुआत?

राहुल जैमिनी ने पहले आईआईटी खड़गपुर से पढ़ाई की थी. राहुल ने Virginia Tech और Philips Research में सबसे पहले इंटर्न का काम भी किया था. इसके बाद वे नेटऐप में गए, जहां उन्होंने 2 साल काम किया. Swiggy जॉइन करने से पहले वे ऑनलाइन शॉपिंग ऐप्लीकेशन मिंत्रा में काम करते थे. यहां काम करने के बाद उन्होंने 2013 में एक डिलिवरी कंपनी की शुरुआत की, लेकिन 2014 में उन्होंने रेस्टोरेंट की तरफ शिफ्ट करने का प्लान बनाया और ये प्लान काफी सक्सेस भी हो गया. हालांकि, चीफ इंजीनियर राहुल ने अब स्विगी से नाता तोड़ लिया है और उन्होंने एक और स्टार्टअप के साथ हाथ मिलाया है. उन्होंने पिछले साल मई में भी स्विगी को अलविदा कहा है.

स्विगी कर रहा है करोड़ों का कारोबार

6 डिलिवरी ब्वॉय के साथ कारोबार शुरू होने के बाद यह धीरे-धीरे कई शहरों में फैल गया और अब कंपनी की वेल्यु 3.6 बिलियन डॉलर बताई जा रही है. इसका मतलब है कि अब कंपनी की वेल्यू करीब 26 हजार करोड़ रुपये है. साथ ही कंपनी में कई कंपनियों ने इन्वेस्ट किया है, जिससे कंपनी कुछ ही सालों में कई रिकॉर्ड तोड़ते हुए आगे बढ़ गई है.

Comments

Post a comment

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News