द ग्रेट एमपी पॉलिटिकल ड्रामा / सियासत में चील, सांप, घोड़े की भी एंट्री, दिनभर बवाल; सिंधिया के बयान- ‘टाइगर अभी जिंदा है’ के बाद मचा घमासान


  • सिंधिया के ‘टाइगर अभी जिंदा है’ वाले बयान से भड़की कांग्रेस ने उन पर जमकर निशाना साधा
  • पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- न मैं टाइगर हूं, न पेपर टाइगर। जनता बताएगी कि असली टाइगर कौन है


भोपाल. प्रदेश में शुक्रवार को बयानों से सियासत गरमा गई। सिंधिया के ‘टाइगर अभी जिंदा है’ वाले बयान से भड़की कांग्रेस ने उन पर जमकर निशाना साधा। सियासी ड्रामे में चील, घोड़े, सांप भी घुस आए। यहां तक कि ‘टाइगर अभी तुम बच्चे हो’ भी कह दिया गया। भाजपा के जवाब भी आक्रामक आए।

मंत्रिमंडल विस्तार के समय राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा दिए गए बयान- ‘टाइगर अभी जिंदा है’ पर शुक्रवार को प्रदेश में सियासत गरमाई रही। कांग्रेस नेताओं ने इस पर जमकर निशाना साधा। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- न मैं टाइगर हूं, न पेपर टाइगर। जनता बताएगी कि असली टाइगर कौन है। दिग्विजय सिंह बोले- एक जंगल में दो ही टाइगर रह सकते हैं। भाजपा को तय करना है कि वह प्रदेश में किसे रखती है। इधर, भाजपा की वर्चुअल रैली में सिंधिया ने किसी का नाम लिए बगैर कहा कि ये दोनों (नाथ व दिग्विजय) चील हैं, जो मुझे नोचना चाहते थे। विवाद में पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा भी कूदे। उन्होंने सोशल मीडिया पर इंदिरा गांधी की एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें वे टाइगर को खिलाती नजर आ रही हैं। शिवराज ने कहा- कोरोना से बड़ी समस्या कमलनाथ हैं। हम इनसे भी लड़ेंगे।

मैं पेपर टाइगर नहीं, जनता बताएगी कौन क्या है

लोग कहते हैं मैं टाइगर हूं। न तो मै टाइगर हूं, ना पेपर टाइगर हूं। यह जनता तय करेगी, कौन क्या है। टाइगर के साथ कई घोड़े भी होते हैं। एक शादी का घोड़ा होता है जो सजकर शादी में नाचने जाता है। ऐसे ही कई तरह के टाइगर भी होते हैं। -कमलनाथ

पहले ये सत्ता को नोचते थे, अब मुझ पर नजर गढ़ाए हैं

जब तक सत्ता थी, तब तक वे सत्ता को नोचने में लगे थे। मैं सही बात कहता हूं इसलिए अब मुझ पर चील की तरह नजर रखे हुए हैं। उन्हें मुझे चील की तरह नोचने में आनंद आता है, तो अच्छा है। -ज्योतिरादित्य सिंधिया

अब तो शेरों को मैं सिर्फ कैमरे में ही उतारता हूं

मैं और माधवराव सिंधिया शेर का शिकार करते थे। वाइल्ड लाइफ एक्ट के बाद मैं शेरों को कैमरे में उतारता हूं। शिवराज व सिंधिया पहले एक-दूसरे के बारे में क्या कहते थे, सभी ने सुना है। एक जंगल में दो शेर नहीं रह सकते। -दिग्विजय सिंह

भाजपा जिंदा टाइगरों की पार्टी, पीएम एलएसी पर हैं

आप बिल्कुल सही कह रहे हैं...भाजपा जिंदा टाइगरों की पार्टी है...देखा ही होगा- कैसे पाकिस्तान को सबक सिखाया। आज भी हमारे पीएम नरेंद्र मोदी भारत-चीन एलएएसी पर जवानों के बीच खड़े हैं। -नरोत्तम मिश्रा

  • कमलनाथ सरकार में वन मंत्री रहे उमंग सिंघार ने सिंधिया पर हमला बोला। उन्होंने सिंधिया का एक वीडियो रीट्वीट करते हुए लिखा कि अगर वे (सिंधिया) टाइगर थे, तो अब तक आस्तीन में क्यों थे। 
  • पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा- टाइगर (सिंधिया) अभी तुम बच्चे हो। कांग्रेस का इतिहास रहा है टाइगर से खेलने का। वर्मा ने दो फोटो भी पोस्ट की हैं, पहली में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी टाइगर के गले पर हाथ फेर रही हैं

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता