-->
Delhi Violence: इलाज के लिए दर-दर भटक रहे थे लोग...'आप' के मोहल्ला क्लीनिक पर लटका रहा ताला

Delhi Violence: इलाज के लिए दर-दर भटक रहे थे लोग...'आप' के मोहल्ला क्लीनिक पर लटका रहा ताला




Delhi Violence: इलाज के लिए दर-दर भटक रहे थे लोग...'आप' के मोहल्ला क्लीनिक पर लटका रहा ताला

|
Feb, 29 2020 05:01:43 (IST)
  • Delhi Violence: ग्राउंड जीरो पर पहुंची पत्रिका ( Patrika ) की टीम
  • करावल नगर ( Karawal Nagar) स्थित मोहल्ला क्लीनिक की बड़ी सच्चाई आई सामने
नई दिल्ली। देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ( Delhi ) में भड़की हिंसा ( Violence ) ने सबको झकझोर दिया है। उत्तर-पूर्वी ( North East ) दिल्ली के हिंसा में अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि करीब 200 लोग घायल बताए जा रहे हैं। इस हिंसा के कारण जहां देश की सियासत गरमाई हुई है। वहीं, पत्रिका ( Patrika ) की टीम जब ग्राउंड जीरो पर पहुंची तो कई सच्चाई भी सामने आई। इस कड़ी में पत्रिका के रिपोर्टर अनुराग मिश्रा जब हिंसाग्रस्त इलाके करावल नगर पहुंचे, तो दिल्ली सरकार द्वारा संचालित मोहल्ला क्लीनिक ( Mohalla Clinic ) की बड़ी सच्चाई सामने आई। करावल नगर ( Karawal Nagar ) में हिंसा में घायल हुए लोग जब प्राथमिक इलाज के लिए दर-दर भटक रहे थे, वहीं पास में मौजूद मोहल्ला क्लीनिक पर ताला लटका हुआ था और डॉक्टर फरार थे।
दंगा प्रभावित इलाकों में फिलहाल माहौल शांत है और पत्रिका की टीम ग्राउंड जीरो पर जाकर वहां की वास्तविकता के बारे में जानकारी जुटाने में लगी है। इसी क्रम में हमारे संवाददाता अनुराग मिश्रा करावल नगर पहुंचे। पड़ताल के दौरान जब वह करावल नगर स्थित मोहल्ला क्लीनिक पहुंचे तो वहां ताला लटक रहा था। इतना ही नहीं गेट पर लिखा हुआ है कि 24 फरवरी से यह क्लीनिक बंद है। इस बारे में जब उन्होंने स्थानीय लोगों से बातचीत की तो उनका कहना था कि यह क्लीनिक 24 फरवरी से बंद है। न तो एक बार कोई डॉक्टर आए और न ही कोई कंपाउंडर। लोगों का कहना था कि पास में दंगा भड़का हुआ था और हिंसा में कई लोग घायल हुए थे।
घायल लोग इलाज के लिए इधर-उधर भटक रहे थे। जबकि, पास में मौजूद मोहल्ला क्लीनिक में ताला लगा हुआ था। सबसे हैरानी की बात माहौल शांत होने के बावजूद भी मोहल्ला क्लीनिक बंद है। हालांकि, इलाज के लिए सारा सामान अंदर मौजूद है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या सरकार या प्रशासन के कहने पर यह क्लीनिक बंद है। जबकि, यहां जिस तरह का माहौल था उसमें इलाज के लिए इसका खुला रहना सबसे ज्यादा जरूरी था। या फिर डॉक्टर जानबूझकर इस क्लीनिक को बंद किए हुए हैं। क्योंकि, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने जब मोहल्ला क्लीनिक का आरंभ किया था तो उनका साफ कहना था कि दिल्ली की जनता के सेवा के लिए यह हमेशा तैयार रहेगा। लेकिन, इसकी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है।

0 Response to "Delhi Violence: इलाज के लिए दर-दर भटक रहे थे लोग...'आप' के मोहल्ला क्लीनिक पर लटका रहा ताला"

Post a Comment

Slider Post