पाकिस्तान: इमरान खान ने दी भारत को चेतावनी, हमला हुआ तो मुंहतोड़ जवाब देंगे


CopyPatrika

पीएम इमरान खान ने रक्षा प्रमुखों के साथ मीटिंग की


इमरान खान का दावा, भारत के हमले को विफल करने में सक्षम है पाकिस्तान


सीमा पर हथियारों का जमावड़ा कर रहा है पाक


लाहौर। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने भारत को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर भारत ने फिर से हमला किया तो पकिस्तान मुंहतोड़ जवाब देगा। सैन्य प्रमुखों के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा पर चर्चा करते हुए इमरान खान ने यह बात कही। इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान भविष्य में किसी भी भारतीय आक्रामकता का बराबर जबाव देगा।

इमरान खान ने दी भारत को चेतावनी

इमरान खान ने कल देश के शीर्ष सैन्य नेतृत्व से बात की। राष्ट्रीय सुरक्षा की स्थिति पर चर्चा करने के लिए बुधवार को पाकिस्तान के तीनों सशस्त्र बलों के प्रमुख पीएम हाउस में बुलाए गए थे। बैठक में स्टाफ कमेटी (CJCSC) के अध्यक्ष जनरल जुबैर महमूद हयात जुबैर, सेना प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा, नौसेना प्रमुख एडमिरल ज़फ़र महमूद अब्बासी और वायु सेना प्रमुख मुजाहिद अनवर खान ने भाग लिया। सैन्य नेतृत्व ने पीएम इमरान को आश्वासन दिया कि सशस्त्र बल किसी भी अटैक को विफल करने में पूरी तरह से सक्षम हैं।

फिर से गीदड़ भभकी

पुलवामा हमले के बाद भारतीय रुख से घबराए पाकिस्तान इन दिनों अपनी सुरक्षा को लेकर सतर्क है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने बुधवार की मीटिंग के बाद कहा कि देश आत्मरक्षा के अपने अधिकार का उपयोग करेगा। उन्होंने भारत को धमकाते हुए कहा कि अगर भविष्य में फिर भारत ने एयर स्ट्राइक जैसी कार्रवाई की तो उसके परिणाम बेहद बुरा होगा। जानकारों का मानना है कि असल में भारत को ऐसी धमकी देकर पाकिस्तान अपने डर को छुपा रहा है। पिछले दोनों भारत ने जैसी आक्रामक नीति अपनाई है, उससे पाकिस्तान घबरा गया है।

हिंदुओं को होली की बधाई देकर फंसे इमरान

पाकिस्तान के पीएम इमरान एक नई मुश्किल में फंसते हुए नजर आ रहे हैं। होली के मौके पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हिंदुओं को मुबारकबाद दी। आपको बता दें कि आज होली का पर्व दुनिया भर में हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। पीएम इमरान के बधाई संदेश के बाद सोशल मीडिया पर तरह तरह के रिएक्शन आए। लोगों ने उनके इस बधाई संदेश की आलोचना करते हुए कहा कि केवल हिंदुओं के लिए ऐसे संदेश देने का क्या मतलब है, जबकि कोई त्यौहार किसी जाति या समुदाय का नहीं होता। त्योहारों का उद्देश्य लोगों को जोड़ना होता है, न कि उन्हें धार्मिक आधार पर बांटना।

Comments

Popular posts from this blog

कोरोना का खौफ : भारत की सबसे बड़ी देहमंडी में पसरा सन्नाटा

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

Janta Curfew के बीच कोरोना के डर से युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- सभी अपना टेस्ट कर लेना