Skip to main content

राजनाथ सिंह का बड़ा खुलासा- 5 साल में हमने किए तीन एयर स्ट्राइक



Copy PatrikaNews

विपक्ष पूछ रहा बालाकोट एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए


गृहमंत्री राजनाथ सिंह का दावा- 5 साल में 3 बार किया एयर स्ट्राइक


पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था


नई दिल्ली। बालाकोट में भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद मचा घमासन अभी शांत भी नहीं हुआ था कि, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक चौंकाने वाला बयान दे दिया है। राजनाथ सिंह ने दावा किया है कि पांच साल में भारतीय सेना ने सीमा पार कर तीन बार एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया है।

तीन बार सीमा पार किया एयर स्ट्राइक: राजनाथ

कर्नाटक के मंगलौर में एक राजनीतिक रैली को संबोधित करते हुए गृहमंत्री ने कहा,'मैं बताना चाहता हूं कि पिछले पांच साल में तीन बार अपनी सीमा के बाहर जामकर हमने एयर स्ट्राइक में कामयाबी हासिल की है। दो की जानकारी मैं दूंगा लेकिन तीसरे के बारे में नहीं बताऊंगा। एक बार उरी में पाकिस्तानी आतंकियों ने हमारे 17 सोते हुए जवानों की जान ले ली थी, उसके बाद हमारी सेना के जवानों ने फैसला किया...और उसके बाद जो हुआ उसकी जानकारी आपको है। इससे बाद वहां हाहाकर मच गया था। दूसरी एयर स्ट्राइक हमारी ये हुई पुलवामा हमले के बाद हुआ, लेकिन तीसरी की जानकारी नहीं दूंगा।'

ANI

@ANI

#WATCH Union Home Minister Rajnath Singh at a public rally in Mangaluru: Pichle 5 varsho mein, teen baar apni seema ke bahar jaa kar hum logon ne air strike kar kaamyaabi haasil ki hai. Do ki jaankari apko dunga, teesri ki nahi dunga. #Karnataka

851

3:17 अपराह्न - 9 मार्च 2019


'सच्चे योद्धा मारे गए आतंकियों की संख्या नहीं गिनते'

इससे पहले एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकियों की संख्या के बारे में लगातार विपक्षियों की ओर से सवाल उठाने वालों पर भी गृहमंत्री ने निशाना साधा था। शुक्रवार राजस्थान के अजमेर में उन्होंने कहा कि एक सच्चा योद्धा कभी भी हमले में मारे गए आतंकवादियों की संख्या नहीं गिनता। सिंह ने कहा कि यह देखना सामान्य था कि पाकिस्तान इन हवाई हमलों से बौखलाएगा, लेकिन चिंतित करने वाली बात यह थी कि इस हमले से हमारे देश के कुछ लोग निराश हो गए और इसके लिए सबूत की मांग करने लगे। गृहमंत्री ने कहा कि हमारे जवानों का स्वागत करने की जगह, वे सबूत मांग रहे हैं और आतंकवादियों की संख्या के बारे में पूछ रहे हैं। हमारे जवान पाकिस्तान पिकनिक मनाने या फूल बरसाने नहीं गए थे..वे अपने लक्षित मिशन पर थे। इस तथ्य को जानने के बावजूद वे सवाल कर रहे हैं, जो कि आश्चर्यजनक है।

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे की जवाबदारी प्रदेश के  युवा व वरिष्ठ नेता श्री रफत वारसी के हाथों में  मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णु दत्त शर्मा ने मध्य प्रदेश के भाजपा संगठन का विस्तार किया है जिसमें मोर्चे के नए प्रदेश अध्यक्षों की भी नियुक्ति की गई है जिसमें मध्य प्रदेश के वरिष्ठ व युवा नेता श्री रफत वारसी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की जवाबदारी सौंपी गई है श्री रफत वारसी मध्यप्रदेश में एक उभरते हुए अल्पसंख्यक चेहरे है और भाजपा आलाकमान ने नए चेहरे के रूप में श्री वारसी साहब को यह नई जवाबदारी सौंपी है जिससे मध्य प्रदेश में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा और मजबूत होने की संभावना बढ़ गई है वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा में नई और युवा पीढ़ी के लोग अधिकतर काम कर रहे हैं और वारसी साहब के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से इसमें और अधिक वृद्धि होगी क्योंकि नए प्रदेश अध्यक्ष श्री वारसी साहब मध्यप्रदेश में अल्पसंख्यक समाज में अपनी गहरी पैठ रखते हैं उनके प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा बेहतर

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

    शहीद हसमत वारसी जी  के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण  पद          वी डी शर्मा जी ने गले लगा कर दी बधाई      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से आशीर्वाद लेते हुए       वी डी  शर्मा जी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  ने दिया आशीर्वाद          अपनी माँ परवीन वारसी जी से दुआयें  लेते हुए रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण 17 जनवरी 2021 को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रफत वारसी ने किया पदभार ग्रहण रफत वारसी ने कहा मुस्लिम समाज में कई तरह के भ्रम हैँ जिन्हे दूर करने के लिए एक दल के साथ पुरे प्रदेश का भ्रमण करेंगे ! साथ ही उन्होंने पदभार ग्रहण में आये हुए  सभी  साथियों का तहे दिल से शुक्रिया  अदा किआ 

SHOP WITH US Apparel & Accessories