राजनाथ सिंह का बड़ा खुलासा- 5 साल में हमने किए तीन एयर स्ट्राइक



Copy PatrikaNews

विपक्ष पूछ रहा बालाकोट एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए


गृहमंत्री राजनाथ सिंह का दावा- 5 साल में 3 बार किया एयर स्ट्राइक


पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था


नई दिल्ली। बालाकोट में भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद मचा घमासन अभी शांत भी नहीं हुआ था कि, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक चौंकाने वाला बयान दे दिया है। राजनाथ सिंह ने दावा किया है कि पांच साल में भारतीय सेना ने सीमा पार कर तीन बार एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया है।

तीन बार सीमा पार किया एयर स्ट्राइक: राजनाथ

कर्नाटक के मंगलौर में एक राजनीतिक रैली को संबोधित करते हुए गृहमंत्री ने कहा,'मैं बताना चाहता हूं कि पिछले पांच साल में तीन बार अपनी सीमा के बाहर जामकर हमने एयर स्ट्राइक में कामयाबी हासिल की है। दो की जानकारी मैं दूंगा लेकिन तीसरे के बारे में नहीं बताऊंगा। एक बार उरी में पाकिस्तानी आतंकियों ने हमारे 17 सोते हुए जवानों की जान ले ली थी, उसके बाद हमारी सेना के जवानों ने फैसला किया...और उसके बाद जो हुआ उसकी जानकारी आपको है। इससे बाद वहां हाहाकर मच गया था। दूसरी एयर स्ट्राइक हमारी ये हुई पुलवामा हमले के बाद हुआ, लेकिन तीसरी की जानकारी नहीं दूंगा।'

ANI

@ANI

#WATCH Union Home Minister Rajnath Singh at a public rally in Mangaluru: Pichle 5 varsho mein, teen baar apni seema ke bahar jaa kar hum logon ne air strike kar kaamyaabi haasil ki hai. Do ki jaankari apko dunga, teesri ki nahi dunga. #Karnataka

851

3:17 अपराह्न - 9 मार्च 2019


'सच्चे योद्धा मारे गए आतंकियों की संख्या नहीं गिनते'

इससे पहले एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकियों की संख्या के बारे में लगातार विपक्षियों की ओर से सवाल उठाने वालों पर भी गृहमंत्री ने निशाना साधा था। शुक्रवार राजस्थान के अजमेर में उन्होंने कहा कि एक सच्चा योद्धा कभी भी हमले में मारे गए आतंकवादियों की संख्या नहीं गिनता। सिंह ने कहा कि यह देखना सामान्य था कि पाकिस्तान इन हवाई हमलों से बौखलाएगा, लेकिन चिंतित करने वाली बात यह थी कि इस हमले से हमारे देश के कुछ लोग निराश हो गए और इसके लिए सबूत की मांग करने लगे। गृहमंत्री ने कहा कि हमारे जवानों का स्वागत करने की जगह, वे सबूत मांग रहे हैं और आतंकवादियों की संख्या के बारे में पूछ रहे हैं। हमारे जवान पाकिस्तान पिकनिक मनाने या फूल बरसाने नहीं गए थे..वे अपने लक्षित मिशन पर थे। इस तथ्य को जानने के बावजूद वे सवाल कर रहे हैं, जो कि आश्चर्यजनक है।

Comments

Popular posts from this blog

कोरोना का खौफ : भारत की सबसे बड़ी देहमंडी में पसरा सन्नाटा

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

Janta Curfew के बीच कोरोना के डर से युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- सभी अपना टेस्ट कर लेना