MP में चक्काजाम व प्रदर्शन के बीच उमा भारती बोलीं हो सकता है सत्ता के लिए लंबा इंतजार न करना पड़े...


भोपाल

BHOPAL, BHOPAL, MADHYA PRADESH, INDIA

यूरिया संकट : भाजपा ने प्रदेश सरकार और कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा...


भोपाल। में सत्ता परिवर्तन के साथ ही जहां किसानों के लिए यूरिया संकट को लेकर सरकार परेशान है। वहीं भाजपा की नेता उमा भारती ने सत्ता में जल्द वापसी की बात कहकर कांग्रेस सरकार की धड़कने बढ़ा दीं हैं।

 

यूरिया को लेकर सरकार परेशान!...
दरअसल प्रदेश में यूरिया की रैक आने के साथ ही संकट कम होता नजर आ रहा है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर किसानों को भरोसा दिलाया है कि जल्द ही यूरिया संकट खत्म हो जाएगा और प्रदेश में पर्याप्त आपूर्ति होगी।

संकट हल करने के लिए मैं और मेरी सरकार निरंतर प्रयासरत हैं। केंद्रीय मंत्रियों और जिम्मेदारों से सतत संपर्क कर रहे हैं। किसान भाई परेशान न हों, संकट की हर घड़ी में सरकार आपके साथ है।

कमलनाथ ने कहा कि हम यूरिया संकट पर कोई राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप नहीं करना चाहते, लेकिन यदि भाजपा इसका जिम्मेदार कांग्रेस सरकार को बताएगी, तो हमें इसकी वास्तविकता बतानी होगी।

शिवराज सिंह चौहान कह रहे हैं कि 15 दिसंबर तक 4.64 लाख मीट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति प्रदेश को हो चुकी है और पिछले वर्ष इस अवधि तक 3.81 लाख मीट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति हुई थी।

साफ है कि केंद्र ने ज्यादा यूरिया की आपूर्ति सिर्फ विधानसभा चुनाव को देखते हुए की थी। इधर कुछ जिलों में पर्याप्त आपूर्ति नहीं होने पर किसानों ने चक्काजाम लगा दिया। सागर में यूवक कांग्रेस और भाजयुमो एक दूसरे के सामने आए गए।

वहीं सागर में यूरिया संकट के बीच रविवार को शहर में राजनीति गरमा गई। युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यालय के सामने केंद्र और भाजयुमो ने जिला कांग्रेस कार्यालय के सामने प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन का प्रयास किया।

युवक कांग्रेस के कार्यकर्ता जिला भाजपा कार्यालय के बाहर प्रदर्शन न कर पाएं, इसलिए भाजयुमो के कार्यकर्ता डंडे लेकर कार्यालय के बाहर खड़े हो गए। विवाद होता देख पुलिस प्रशासन ने स्थिति संभाली।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धर्मश्री टिगड्डा के पास ही प्रदर्शन किया। इधर भाजयुमो तीन बत्ती स्थित जिला कांग्रेस कार्यालय के सामने प्रदर्शन के लिए पहुंच गई।

 

जबकि राजगढ़ में यूरिया आने की सूचना मिलने पर किसान वेयर हाउस पहुंच गए। काफी देर इंतजार के बाद भी यूरिया नहीं मिला तो उन्होंने कलेक्ट्रेट और आसपास रखे बैरिकेड हाइवे पर लगाकर जाम लगा दिया। पुलिस ने उन्हें बमुश्किल समझाया।

इधर, सत्ता पर ये क्या बोल गईं उमा भारती

वहीं टीकमगढ़ में केंद्रीय मंत्री उमाभारती ने यहां कहा कि देश को विभाजित करने की साजिश की जा रही है। 1947 की तरह वैचारिक विभाजन के हालात बनाए जा रहे है। वह इसकी कड़ी निंदा करती हैं।

प्रदेश मेंं भाजपा की हार की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक में उमा भारती ने संकेत दिए कि प्रदेश में जल्द ही भाजपा सत्ता में आ सकती है। रविवार को स्थानीय उत्सव भवन में सत्ता से जाने के बाद भाजपा का पहला कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया गया था।

केन्द्रीय मंत्री उमाभारती ने भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की बैठक में कहा कि पूरे उत्साह के साथ विधायक जनता की सेवा करें। हो सकता है कि भाजपा को सत्ता के लिए अधिक इंतजार ही न करना पड़े।

वहीं अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के बयान पर उनका कहना था कि कुछ लोग देश के विभाजन की साजिश कर रहे है। 1947 की तरह वैचारिक विभाजन का माहौल बना रहे है, लेकिन वह चेतावनी देती है कि साजिश सफल नही होने दी जाएगी।

....और क्या कहा 
सत्ता तो हमें मिल गई थी, लेकिन सत्ता का सुख हम भोग नहीं पाए। यदि इस बार कांग्रेस मैदान से बाहर हो जाती, तो 20-25 वर्ष तक कोई नाम लेने वाला नही मिलता। जिले की 5 सीटों में भाजपा को4 मिलीं। पृथ्वीपुर में प्रत्याशी बदलते तो पांचों सीटें हमारे पास होतीं।

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News