Skip to main content

सम्मान पाकर खिले साहित्यकारों के चेहरे, नव सृजन को मिली भावात्मक ऊर्जा


Updated On: Dec, 31 2018


संभागीय साहित्यकार सम्मेलन का समापन


सागर. बुंदेलखंड हिंदी साहित्य, संस्कृति विकास समिति के तत्वावधान में आयोजित 2 दिवसीय संभागीय साहित्यकार सम्मेलन का समापन बड़ा बाजार स्थित बीएस जैन धर्मशाला में किया गया। इस मौके पर अलग-अलग विद्याओं में पारंगत २० लोगों को सम्मान से नवाजा गया। 
कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो. उदय जैन ने की। शुकदेव प्रसाद तिवारी, केके सिलाकारी व केके बख्शी विशिष्ट आतिथ्य थे। संचालन मंच के महामंत्री मणीकांत चौबे ने किया। अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के पूजार्चन उपरांत ऐश्वर्या दुबे ने सरस्वती वंदना की। वरिष्ठ साहित्यकार लक्ष्मीनारायण चौरसिया ने 24 वर्षों की साहित्य यात्रा और इस अवधि नें सम्पन्न हुईं 1248 काव्य गोष्ठियों का विवरण दिया।
इन्हें सम्मानित किया गया- सुधारानी डालचंद जैन सम्मान. डॉ चंचला दवे सागर। कपूर बैसाखिया तहलका सम्मान डॉ. सीताराम श्रीवास्तव भावुक सागर। पं श्रीकृष्ण दत्त द्विवेदी सम्मान आरके तिवारी सागर। पं ज्वालाप्रसाद ज्योतिषी सम्मान. पं ओमप्रकाश तिवारी ओम् कुंडेश्वर टीकमगढ़। पं राधेलाल सिलाकारी सम्मान मानसिंह बघेल पृथ्वीपुर। सेठ भगवानदास दाजी सम्मान. मुरलीधर खरे पलेरा। जगदीश तिवारी बदनाम सम्मान. कुंजीलाल पटेल मनोहर छतरपुर। डॉ. ् पन्नालाल जैन साहित्याचार्य सम्मान. नरेन्द्र कुमार जैन शिक्षार्थी बड़ा मलहरा। वीरांगना सहोद्रा बाई राय सम्मान रामकिशन अहिरवार नीरव बिजावर। ऋषभदेव चौबे सम्मान. सुशील खरे वैभव, बेनीसागर पन्ना। कार्तिकेय गुप्ता युवा स्मृति सम्मान राजेन्द्र शर्मा राही पन्ना। सेठ मोतीलाल जैन दाऊ सम्मान. जगदीश कुमार कुशवाहा पन्ना। पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी सम्मान. डॉ. मनीषा दुबे दमोह। वाहिद सागरी सम्मान शायर ताविश नैय्यर अब्दुल कय्यूम दमोह। ठाकुर भवानीसिंह सम्मान कुंजबिहारी लाल अहिरवाल केबीएल दमोह। 
विशिष्ट सम्मान
साहित्य सृजन और समाज सेवा के लिए-सुनील अवस्थी एडवोकेटए बिजावरएछतरपुर। संवेदना सम्मान मानवीय संवेदना एवं जन सेवा के लिए डॉ. आराधना झा एमएस सागर
विशेष सम्मान
साहित्य सृजन के लिए बिहारी सागर कवि सागर। बहुमुखी प्रतिभा सम्मान स्व. सुमि अनामिका साक्षी। बहुमुखी युवा प्रतिभा सम्मान राजुल बेटी सुमन सागर। इसके अलावा शालेय एवं महाविद्यालयीन बौद्धिक प्रतिभा के प्रतिभागियों को भी इस अवसर पर सम्मानित किया गया साथ ही डॉ. जीआर साक्षी द्वारा संपादित पुस्तक शुद्ध जलाग्रह एवं पं. पीएन भट्ट द्वारा लिखित पंचांग आर्य भट्ट का लोकार्पण भी किया गया।

Comments

Popular posts from this blog

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

मकर संक्रांति मकर संक्रांति  का भारतीय धार्मिक परम्परा में विशेष महत्व है, क्योंकि इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण में आता है। शास्त्रों के अनुसार यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक है और इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान का विशेष महत्व है।  मकर संक्रांति  परंपरागत रूप से 14 जनवरी या 15 जनवरी को मनाई जाती आ रही है।  मकर संक्रांति  में ‘मकर’ शब्द मकर राशि को इंगित करता है जबकि ‘संक्रांति’ का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है।  मकर संक्रांति  के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को संक्रांति कहते हैं। शास्त्रों के नियम के अनुसार रात में संक्रांति होने पर अगले दिन भी संक्रांति मनाई जाती है। मकर संक्रांति  के दिन सूर्य दक्षिणायन से अपनी दिशा बदलकर उत्तरायण हो जाता है अर्थात सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ने लगता है, जिससे दिन की लंबाई बढ़नी और रात की लंबाई छोटी होनी शुरू हो जाती है। भारत में इस दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत मानी जाती है। अत:  मकर संक्रांति  को उत्तरायण के नाम से भी जाना जाता है। तम

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

ग्वालियर - बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता शातिर चोर पकडे 10 लाख का माल बरामद। महाराजपुरा पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा चोरों का ग्रुप महाराजपुरा थाना प्रभारी मिर्ज़ा आसिफ बेग और उनकी टीम के द्वारा कार्यवाही की गई। महराजपुरा टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई।  10 लाख का माल भी बरामद किया गया।  महाराजपुर टीआई मिर्जा बेग ने बताया चोरों से 6 एलसीडी 8 लैपटॉप दो होम थिएटर 6 मोबाइल फोन एक स्कूटी टेबल फैन सिलेंडर बरामद हुआ है उनसे करीब 4 चोरियों का खुलासा हुआ है करीब 10 चोरियां कि गिरोह ने हामी भरी है 

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

कोरोना की स्थिति गंभीर होने पर कई राज्यों में फिर लॉकडाउन की स्थिति, सभी सीमाएं भी की जा रही हैं सील...। भोपाल। मध्यप्रदेश समेत पांच राज्य एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहे हैं। मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ते मामलों के बाद रविवार को पूरे प्रदेश में लॉकडाउन (Complete Lockdown) लगाया जा रहा है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Covid 19) की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्र ने तय किया है कि अब सप्ताह में एक दिन रविवार को पूरा प्रदेश बंद रहेगा। उधर, मध्यप्रदेश के अलावा बिहार, उत्तरप्रदेश में भी लाकडाउन के आदेश जारी कर दिए गए हैं।   मध्यप्रदेश में पिछले तीन दिनों में 11 सौ से अधिक संक्रमित मरीज मिलने और जबकि 409 एक ही दिन में संक्रमित मिलने के बाद यह फैसला लिया जा रहा है इस दौरान प्रदेश की सीमाएं भी सील की जा सकती है। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं ही चलती रहेंगी। गृह विभाग के बाद भोपाल समेत सभी जिलों के कलेक्टर अपने-अपने जिले के लिए एडवायजरी (Advisery'guideline) जारी कर रहे हैं।   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र के मुताबिक इस सप्ताह में एक दिन का लाकडाउन ही