कमलनाथ ने पेश किया सरकार बनाने का दावा, रज्यपाल ने मुख्यमंत्री नियुक्त कर मंत्रीमंडल गठन के लिए बुलाया



कमलनाथ 17 दिसंबर यानि सोमवार को लाल परेड ग्राउंड में लेंगे शपथ कमलनाथ ने राज्यपाल को कांग्रेस और समर्थक विधायकों की सूची सौंपी|
भोपाल । कांग्रेस विधायक दल के नेता कमलनाथ ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश किया है। उनके साथ प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया, दिग्विजय सिंह, विवेक तन्खा और अरुण यादव भी साथ में रहे। हालांकि ज्योतिरादित्य सिंधिया कमलनाथ के साथ इस मौके पर मौजूद नहीं रहे ।
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कांग्रेस विधायक दल के नेता कमलनाथ को संविधान के अनुच्छेद 164 के अंतर्गत मुख्यमंत्री नियुक्त कर मंत्रिमंडल के गठन के लिए आमंत्रित किया है। इस बीच चुनाव आयोग ने राज्यपाल को 230 नवनिर्वाचित विधायकों की सूची सौंपी। इसके बाद राज्यपाल ने 15वीं विधानसभा के गठन की अधिसूचना जारी कर दी।
शुक्रवार को भारी सुरक्षा बंदोबस्त के बीच कमलनाथ राजभवन पहुंचे। उन्होंने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलकर सरकार बनाने का दावा किया और उन्हें विधायकों की सूची भी सौंपी। कमलनाथ और मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह 17 दिसंबर को लाल परेड ग्राउंड में 1.30 बजे लेंगे।हालांकि अभी ये स्पष्ट नहीं हो पाया कि उनके साथ कितने मंत्री शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह में राहुल गांधी समेत विपक्षी दलों के कई बड़े नेता शामिल होंगे।
राज्यपाल से मिलकर बाहर आए कमलनाथ ने कहा कि मैंने राज्यपाल से मिलकर उन्हें विधायक दल की सूची सौंपी है और शपथ ग्रहण समारोह की सूचना भी उन्हें दे दी गई है। कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता शोभा ओझा ने कहा कि 17 दिसंबर को 1.30 बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा। हमने सबसे पहला न्योता कार्यकर्ताओं को दिया गया है। जिनके संघर्ष से कांग्रेस की सरकार बन रही है। साथ ही हमारे नेता राहुल गांधी भी समारोह में आएंगे।
पांच बार आगे बढ़ानी पड़ी विधायक दल की बैठक
दिल्ली में अनिर्णय की स्थिति के चलते विधायक दल की बैठक का समय पांच बार आगे बढ़ाना पड़ा। इस बीच रात 11 बजे साफ हो गया कि कमलनाथ ही एमपी के नए मुख्यमंत्री होंगे।

Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता