सीधी कलेक्टर अभिषेक सिंह ने ग्रहण किया पदभार, फिर किया ऐसा काम जो बाकी कलेक्टर नहीं करते

सीधी कलेक्टर अभिषेक सिंह ने ग्रहण किया पदभार, फिर किया ऐसा काम जो बाकी कलेक्टर नहीं करते


सीधी। सीधी जिले के नवागत कलेक्टर अभिषेक सिंह ने रविवार की दोपहर कलेक्ट्रट कार्यालय पहुंचकर पदभार ग्रहण कर लिया है। 2009 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी अभिषेक सिंह सीधी जिले से पहले सीईओ भोपाल सहकारी दुग्ध संघ मर्यादित एवं पशुपालन विभाग का अतिरिक्त प्रभार, खंडवा कलेक्टर और उमरिया कलेक्टर भी रह चुके है। तेज तर्राहट स्वभाव के रूप में पहचान बना चुके अभिषेक तुरंत एक्शन लेने में माहिर है। बता दें कि दिलीप कुमार से सीधी कलेक्टर का चार्ज लेते ही वह एक्शन मूड में दिखे। तुरंत जिला पंचायत सीईओ अवि प्रसाद के साथ जिला अस्पताल पहुंच गए। वहां सीधे मरीजों की समस्याओं के संबंध में जानकारी लेते हुए चिकित्सकों को हिदायत दी। क्रमश: वार्ड वार अस्पताल का औचक निरीक्षण किया।

26 कलेक्टर समेत 48 आईएएस हुए इधर से उधर
राज्य की नई सरकार ने 20 दिसंबर गुरुवार की देर रात 26 कलेक्टरों समेत 48 आईएएस को बदलने का आदेश जारी किया। इनमें से 15 कलेक्टरों से जिलों की जिम्मेदारी छीन ली गई, उन्हें मंत्रालय व विभागों में पदस्थ कर दिया गया, जबकि 11 कलेक्टरों को इधर से उधर किया गया। रीवा कलेक्टर प्रीति मैथिल को सागर कलेक्टर बनाया गया है। वहीं सीधी कलेक्टर दिलीप कुमार की जगह अभिषेक सिंह को बनाया है। जबकि सतना कलेक्टर राहुल जैन को उनके पुराने विभाग में भेज दिया है। इस बड़ी प्रशासनिक सर्जरी को नई सरकार में अफसरों की मैदानी जमावट और लोकसभा चुनाव की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है।


Comments

Popular posts from this blog

India-China Face Off: भारत-चीन के बीच हुआ युद्ध, तो जानें किसकी मिसाइल है ज्यादा कारगर?

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त | मकर संक्रांति क्यों मनाई जाती है?

बड़ी ख़बर। महाराजपुरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Lockdown: पूरे राज्य में फिर लॉकडाउन, सील होंगी पूरी सीमाएं

मंत्रिमंडल विस्तार / केंद्रीय नेतृत्व ने रिजेक्ट की शिवराज की लिस्ट; नए चेहरों को मंत्री बनाने के साथ नरोत्तम और तुलसी को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है

रफत वारसी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए

मध्य प्रदेश / भाजपा के 13 वरिष्ठ विधायकों के मंत्री बनने पर असमंजस बरकरार, गोपाल भार्गव बोले- कांग्रेस ने भी यही गलती की थी

शहीद हसमत वारसी जी के सुपुत्र रफत वारसी को मिला प्रदेश में महत्वपूर्ण पद

TATA Consulting Engineers Limited Hiring|BE/B.Tech Civil Engineer

मप्र / 1 जुलाई को भी मंत्रिमंडल विस्तार के आसार नहीं, नए चेहरों में भोपाल से रामेश्वर, विष्णु खत्री, इंदौर से ऊषा, मालिनी और रमेश के नाम चर्चा में

India News